Home » Market » Stocksstock market: Better small caps may give better return in long term

1 माह में 54% तक सस्ते हुए स्मालकैप, लंबी अवधि के लिए बनाएं स्ट्रैटेजी

15 जनवरी 2018 को अपने रिकॉर्ड हाई से स्मालकैप इंडेक्स 16 फीसदी करेक्ट हो चुका है।

1 of

नई दिल्ली। 15 जनवरी 2018 को अपने रिकॉर्ड हाई से स्मालकैप इंडेक्स 16 फीसदी करेक्ट हो चुका है। पिछले एक महीने की बात करें तो ऊंचे स्तरों पर बिकवाली के चलते शेयरों में 52 फीसदी तक गिरावट आ चुकी है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि   स्मालकैप में ऊंचे वैल्युएशन की चिंता कुछ कम हुई है। हालांकि अभी कुछ शेयर महंगे हैं, लेकिन कई क्वालिटी शेयर 20 से 40 फीसदी तक सस्ते हो चुके हैं। एक्सपर्ट्स का कहना है कि निवेशकों को  उन कंपनियों लंबी अवधि के लिए निवेश की सलाह है, जिनका बिजनेस बेहतर है।

 

1 महीने में 52% तक शेयरों में गिरावट
पिछले एक महीने से बीएसई स्मालकैप इंडेक्स में दबाव दिख रहा है। इस दौरान शेयरों में 52 फीसदी तक गिरावट आई है। रेन इंडस्ट्रीज, ग्रेनुएल्स इंडिया, डेल्टा कॉर्प, के फिन होम्स, इंडो काउंट, मार्कसन्स फार्मा, चेन्नई पेट्रोलियम, वेल्सपन कॉर्प, एलटी फूड्स, देना बैंक, इंजीनियर्स इंडिया जैसी कंपनियों के शेयरों में 18 फीसदी से 27 फीसदी तक गिरावट रही है। 15 जनवरी से अब तक बीएसई स्मालकैप इंडेक्स 20183 के स्तर से कमजोर होकर 17425 के स्तर पर आ गया है। 

 

क्या करें निवेशक 
एक्सपर्ट्स का कहना है कि स्मालकैप में अच्छा कारोबार कर रही कंपनियों के शेयरों में लंबी अवधि में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन का कहना है कि घरेलू निवेशकों का फोकस स्मालकैप और मिडकैप पर ज्यादा रहता है। स्मालकैप सेग्मेंट में अभी भी वैल्युएशन ऊंचा है, लेकिन कुछ अच्छे शेयर पिछले कुछ महीनों में सस्ते वैल्युएशन पर आ गए हैं। निवेशक कंपनी के प्रदर्शन के आधार पर उनमें से अच्छे शेयर चुन सकते हैं। यह ध्‍यान रखने की बात है कि उस कंपनी में अर्निंग आ रही हो, उनका कारोबार बेहतर हो। खासतौर से कंजम्पशन, एग्री या रूरल सेक्टर से जुड़े शेयर आगे बेहतर कर सकते हैं। 

 

मार्केट एक्सपर्ट सचिन सर्वदे का कहना है कि पिछले साल स्मालकैप शेयरों में अच्छी तेजी रही। इसके पीछे घरेलू स्तर पर बेहतर मैक्रो-इकोनॉमिक माहौल रहा है। पिछले साल पॉलिटिकल स्टेबिलिटी को लेकर अच्छा संदेश गया, सरकार के रिफॉर्म को लेकर मार्केट में भरोसा बना रहा। मानसून भी बेहतर रहा, जिससे घरेलू लिक्विडिटी की कमी नहीं हुई। आगे फिर सरकार 2019 के चुनावों के पहले रिफॉर्म की गति तेज कर सकती है। रूरल सेक्टर पर सरकार का फोकस है। मानसून बेहतर रहने की उम्मीद के साथ कंजम्पशन स्टोरी अच्छी है। ये सभी सेंटीमेंट स्मालकैप में फिर तेजी ला सकते हैं। 

 

किन शेयरों में करें निवेश

 

कैन फिन होम्स
कैन फिन होम्स हाउसिंग फाइनेंस कंपनी हैं। सरकार के अफोर्डेबल हाउसिंग प्रोजेक्ट के साथ रियल एस्टेट सेक्टर में ग्रोथ से हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों का बिजनेस बढ़ेगा। फाइेंशियल ईयर 2018 के चौथी तिमाही में कंपनी के नतीजे अच्छे रहे हैं। कंपनी का नेट प्रॉफिट 6 फीसदी बढ़कर 75 करोड़ रुपए रहा। सैमको सिक्युरिटीज के रिसर्च हेड उमेश मेहता का कहना है कि बाजार में गिरावट के बीच स्टॉक में अच्छा करेक्शन हो चुका है। ऐसे में हाउसिंग सेक्टर में ग्रोथ को देखते हुए कैन फिन होम्स में 501 रुपए के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है। अगले एक साल में करंट प्राइस से शेयर में 25 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है।

आगे पढ़ें और किन शेयरों में निवेश का मौका.....

 


 

किरी इंडस्ट्रीज
किरी इंडस्ट्रीज स्पेशिएलिटी केमिकल्स मैन्युफैक्चर करती है। कंपनी डाई, डाई इंटरमीडिएट्स और बेसिक केमिकल्स भी बनाती है। मार्केट एक्सपर्ट सचिन सर्वदे का कहना है कि स्टॉक्स में अच्छा खास करेक्शन हो चुका है। स्पेशिएलिटी केमिकल्स की डिमांड बढ़ी है जिसका फायदा कंपनी को मिलने की उम्मीद है। चौथे क्वार्टर के नतीजे के लिए 29 मई को कंपनी के बोर्ड की बैठक होगी। सचिन ने स्टॉक में 735 रुपए के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है। करंट प्राइस से स्टॉक में 35 फीसदी का रिटर्न मिल सकता है।

 

जुबिलेंट लाइफ साइंस लिमिटेड 
जुबिलेंट लाइफ साइंस लिमिटेड इंटीग्रेटेड फॉर्मास्युटिकल एंड लाइफ साइंस कंपनी है जो एपीआई, सॉलिड डोजेज फॉर्म्युलेशन, रेडियोफॉर्मास्युटिकल्स, एलर्जी थेरेपी प्रोडक्ट्स, एडवासं इंटरमीडिएट, फाइन इन्ग्रेडिएंट, न्यूट्रिसिनल प्रोडक्ट बनाती और सप्लाई करती है। ब्रोकरेज हाउस एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने शेयर के लिए 1060 रुपए का लक्ष्‍य दिया हे। शेयर का करंट प्राइस 805 रुपए के लिहाज से शेयर में 32 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

 

डेल्टा कॉर्प
डेल्टा कॉर्प लिमिटेड देश की एक मात्र लिस्टेड कंपनी है जो कैसिनो गेमिंग इंडस्ट्री में बिजनेस करती है। कंपनी का फोकस सस्टेनेबल और प्रॉफिटेबल ग्रोथ पर है। फाइनेंशियल ईयर 2018 की चोथी तिमाही में कंपनी के नतीजे बेहतर रहे हैं। कंपनी का मुनाफा सालाना बेसिस पर 4 गुना तक बढ़ा है। वहीं, 1 साल में कंपनी का मुनाफा करीब 155 करोड़ रुपए रहा है। फॉर्मर कैसिनो पॉलिसी बनती है तो कंपनी को और फायदा होगा। एक्सपर्ट्स का मानना है कि ऑनलाइन गेमिंग की डिमांड बढ़ रही है, जिसका फायदा कंपनी को होगा। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर के लिए 327 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। करंट प्राइस 247 रुपए है। इस लिहाज से शेयर में 32 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

रेन इंडस्ट्रीज
रेन इंडस्ट्रीज लिमिटेड कैल्सिनाइड पेट्रोलिसम कोक, कोल टार और स्पेशिएलिटी केमिकल बनाने वाली दुनिया की लीडिंग कंपनी है। कंपनी लगाता कैपेसिटी एक्सपेंशन मोड में है। कार्बन, केमिकल और सीमेंट बिजनेस पर कंपनी का फोकस है। कंपनी का पेट कोक बिजनेस स्ट्रॉन्ग है, वहीं केमिकल बिजनेस में टर्नअराउंड की स्थिति बन रही है। उम्मीद है कि आने वाले दिनों में सीमेंट की डिमांड मजबूत होगी। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर में 480 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। करंट प्राइस 237 रुपए के लिहाज से 102 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट