Home » Market » Stocksये हैं साल 2017 के टॉप 5 लूजर स्टॉक्स, निवेशकों के डूबे 44 हजार करोड़ से ज्यादा,investors lost over Rs 44000 crore

ये हैं साल 2017 के टॉप 5 लूजर स्टॉक्स, निवेशकों के डूबे 44 हजार करोड़ से ज्यादा

इन शेयरों में निवेशकों के 44 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा डूब गए।

1 of

नई दिल्ली. 2009 के बाद साल 2017 इंडियन मार्केट के लिए बेहतर रहा है। 2009 में सेंसेक्स ने 76.35 फीसदी रिटर्न दिया था। वहीं इस साल सेंसेक्स में 28 फीसदी का रिटर्न मिला है। इमर्जिंग मार्केट में इंडियन मार्केट ने आउटपरफॉर्म किया है। बाजार में तेजी से बीएसई का मार्केट कैप 150 लाख करोड़ रुपए के पार हुआ। लेकिन इस दौरान कुछ वजहों से कुछ कंपनियों के स्टॉक्स ने निवेशकों को निराश किया और इन शेयरों में निवेशकों के 44 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा डूब गए। 


निवेशकों के डूबे 44 हजार करोड़

इस साल स्टॉक मार्केट की रैली के बीच कुछ स्टॉक्स ने निगेटिव रिटर्न दिए हैं। निगेटिव रिटर्न देने वाले टॉप 5 कंपनियों में वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज, रेलिगेयर एंटरप्राइजेज, लूपिन, ग्लेमार्क फार्मा और एडवांस्ड एंजाइम टेक्नोलॉजीज शामिल हैं। इन कंपनियों के स्टॉक 80 फीसदी से ज्यादा टूटे हैं। इन कंपनियों के स्टॉक्स में गिरावट से निवेशकों को 44,259 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।

 

ये भी पढ़ें- ये हैं साल 2017 के टॉप 5 परफॉर्मिंग स्‍टॉक्‍स, एक साल में दिए 3300% तक रिटर्न

 

 

ये हैं टॉप 5 लूजर स्टॉक्स

 

वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज

रिटर्न: (-82.70%)

 

- साल 2017 में वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज के स्टॉक्स ने निवेशकों को सबसे ज्यादा निराश किया है। इस साल स्टॉक्स ने -82.70 फीसदी रिटर्न दिया है। दरअसल, देना बैंक और सेंट्रल बैंक ने कंपनी के लोन को एनपीए (नॉन परफार्मिंग एसेट्स) में तब्दील कर दिया था। इस खबर से स्टॉक्स में भारी गिरावट आई। 
- कंपनी ने अपने लोन की समस्या के लिए टेलिकॉम कारोबार को जिम्मेदार ठहराया है। टेलिकॉम सेक्टर में कंपनी ने लोन के जरिए निवेश किया था। साल 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने वीडियोकॉन का टेलिकॉम लाइसेंस रद्द कर दिया था जिससे यह एनपीए बन गया।
- 2 जनवरी 2017 को स्टॉक 104.10 रुपए के भाव पर था, जो 82.70 फीसदी गिरकर 27 दिसंबर को 18 रुपए के भाव पर पहुंच गया। स्टॉक में गिरावट से कंपनी का मार्केट कैप 2838.11 करोड़ रुपए घटकर 593.33 करोड़ रुपए हो गया। 2 जनवरी को कंपनी का मार्केट कैप 3431.44 करोड़ रुपए था।

 

 

रेलिगेयर एंटरप्राइजेज

रिटर्न: (-72.50%)

 

- साल 2017 के टॉप लूजर स्टॉक्स में दूसरे नंबर पर रेलिगेयर एंटरप्राइजेज है। फाइनेंशियल सर्विसेज फर्म रेलिगेयर एंटरप्राइजेज ने जुलाई महीने में इंस्टीट्यूशनल इक्विटी ऑपरेशंस बंद करने की घोषणा की थी। इस खबर के बाद से इसके स्टॉक में लगातार गिरावट देखने को मिली।
- साल 2017 के दूसरे क्वार्टर में कंपनी का स्टैंडअलोन नेट लॉस 30.50 करोड़ रुपए रहा। वहीं 2017-18 के पहले क्वार्टर में कंपनी को 39.54 करोड़ रुपए का नेट लॉस हुआ था।
- 2 जनवरी को स्टॉक का भाव 252.25 रुपए था। वहीं 27 दिसंबर 2017 को स्टॉक 69.35 रुपए पर बंद हुआ। इस तरह इस साल में स्टॉक में 72.50 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।
- स्टॉक्स में गिरावट से रेलिगेयर एंटरप्राइजेज में निवेशकों के 3271.52 करोड़ रुपए डूब गए। एक जनवरी के स्टॉक प्राइस पर कंपनी का मार्केट कैप 4512 करोड़ करोड़ रुपए था। वहीं 27 दिसंबर को मार्केट कैप घटकर 1240.48 करोड़ रुपए हो गया। 6 जनवरी 2017 स्टॉक ने 262.90 रुपए का हाई बनाया था।

 

 

आगे पढ़ें- ये स्टॉक्स 50 फीसदी तक टूटे

 

ये भी पढ़ें- 2018 में इन शेयरों में होगी इनकम, मिल सकता है 50% तक रिटर्न

 

ग्लेनमार्क फार्मा

रिटर्न: (-51.40%) 

 

- प्राइसिंग प्रेशर जारी रहने की वजह से ग्लेनमार्क फार्मा कंपनी के लिए यूएस बिजनेस अच्छा नहीं रहा।
- वहीं प्लांट को लेकर यूएस एफडीए कंसर्न, जेनेरिक ड्रग्स को लेकर बढ़ते कॉम्पिटीशन से कीमतें कम होने, नई लॉन्चिंग के पाइपलाइन में फंसे रहने और घरेलू स्तर पर जीएसटी की वजह यूएस मार्केट से कंपनी की सेल्स में गिरावट आई। जिसका असर स्टॉक पर हुआ।
- 2 जनवरी को स्टॉक का भाव 884 रुपए था, जो 51.40 फीसदी गिरकर 27 दिसंबर को 583.85 रुपए पर पहुंच गया।
- स्टॉक्स में गिरावट से कंपनी का मार्केट 8422.88 करोड़ रुपए घटकर 16384.13 करोड़ रुपए पर पहुंच गया। 2 जनवरी को कंपनी का मार्केट कैप 24807.01 करोड़ रुपए था।

 

 

ल्यूपिन लिमिटेड

रिटर्न: (-41.88%)

 

- ल्यूपिन के स्टॉक ने इस साल 41.88 फीसदी का निगेटिव रिटर्न दिया है। अमेरिका में कीमतें घटने, जीएसटी के पहले डी-स्टॉकिंग और रुपए में मजबूती से कंपनी का बिजनेस प्रभावित हुआ है।
- इससे कंपनी का पहले क्वार्टर में नेट प्रॉफिट 59.4 फीसदी गिरकर 358.06 करोड़ रुपए रहा। वहीं दूसरे क्वार्टर में भी कंपनी के नेट प्रॉफिट में 31 फीसदी की गिरावट हुई और नेट प्रॉफिट 455 करोड़ रुपए रहा।
- USFDA द्वारा कंपनी की जांच से स्टॉक्स में गिरावट आई। स्टॉक्स में 41.88 फीसदी गिरावट से निवेशकों को 28572.63 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ।
- 2 जनवरी को स्टॉक 1505.75 रुपए था, जो 41.88 फीसदी गिरकर 27 दिसंबर को 875.10 रुपए पर बंद हुआ। कंपनी का मार्केट कैप 68220.49 करोड़ रुपए से घटकर 39647.85 करोड़ रुपए हो गया। 


 

एडवांस्ड एंजाइम टेक्नोलॉजिज

रिटर्न: (-36.65%) 

  

- एंजाइम बनाने, बेचने वाली कंपनी एडवांस्ड एंजाइम्स टेक्नोलॉजिज के स्टॉक में निवेशकों को 1153.79 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।
- कंपनी को अपनी आमदनी का ज्यादातर हिस्सा अमेरिकी से मिलता है। अमेरिकी बिजनेस में कमजोरी से कंपनी के प्रॉफिट में गिरावट देखने को मिली है। पहले क्वार्टर में कंपनी का प्रॉफिट 41.5 फीसदी गिरकर 16.2 फीसदी रहा।
- 2 जनवरी से स्टॉक का भाव 385.28 रुपए था। वहीं 27 दिसंबर को स्टॉक 282 रुपए पर पहुंच गया। 
- कंपनी का मार्केट कैप 1153.79 करोड़ रुपए घटकर 3147.32 करोड़ रुपए हो गया। साल की शुरुआत में कंपनी का मार्केट 4301.11 करोड़ रुपए था।

 

(नोट: यहां सिर्फ स्टॉक का परफॉर्मेंस दिया गया है। ये निवेश की सलाह नहीं है। निवेश के किसी भी फैसले से पहले रजिस्टर्ड एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें।)

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट