Home » Market » Stocksबिटकॉइन में निवेशकों को 1 साल में मिला 1500 फीसदी रिटर्न- In Bitcoin Investors 1 lakh rs become 15 lakh in just 1 year

यहां साल भर में 1 लाख बने 15 लाख, अमीरों में मची निवेश करने की होड़

बिटकॉइन में सिर्फ 1 साल में 1 लाख रुपए का निवेश बढ़कर 15 लाख रुपए हो गया है।

1 of

नई दिल्ली। क्या आपने सोचा है कि एक मूवी देखने की बजाए, मूवी टिकट के बराबर वाली कीमत वाले पैसे कहीं निवेश कर दें तो सिर्फ 8 साल में ही करोड़पति बन जाएंगे। ऐसी उम्मीद तो शायद ही आप करेंगे। लेकिन ऐसा हुआ है और लोगों को वाकई में लाखों रिटर्न मिला है। यहां हम एक ऐसे निवेश के बारे में बता रहे हैं, जहां पिछले सिर्फ 1 साल की बात करें तो 1 लाख रुपए का निवेश बढ़कर 15 लाख रुपए हो गया है। वहीं, पिछले 8 साल की बात करें तो सिर्फ 150 रुपए के निवेश की कीमत बढ़कर 90 करोड़ रुपए से ज्यादा हो चुकी है। 

 

 

यहां निवेश करने की होड़ अब दुनियाभर के अरबपतियों में भी मच गई है। सीएनएन मनी की रिपोर्ट के अनुसार अरबपति में भी यहां निवेश करने के मामले बढ़ रहे हैं। कई अन्य रिपोर्ट बताती है कि यह अमीरों की पसंद बनता जा रहा है। भारत में भी यहां हर महीने 250 करोड़ रुपए का कारोबार हो रहा है। आइए जानते हैं इस निवेश के बारे में, जिसमें सिर्फ 1 साल में 1500 फीसदी रिटर्न मिला है। 
 
9.75 लाख हुई कीमत 
हम बात कर रहे हैं बिटक्वॉइन की, जो आजकल खासी चर्चा में है। भारत में भी जिन लोगों ने बिटक्वॉइन में निवेश किया था, उन्हें जमकर मुनाफा हुआ है। सीएनबीसी की रिापोर्ट के मुताबिक बिटक्वॉइन अपने ऑलटाइम हाई 15000 डॉलर पर पहुंच गया है। यानी एक बिटक्वॉइन की कीमत बढ़कर 9.75 लाख रुपए पहुंच गई है। 1 साल पहले इसकी कीमत 65 हजार रुपए थी। यानी सिर्फ 1 साल में इसकी कीमत 15 गुना बढ़ गई। जिन निवेशकों ने यहां 1 साल पहले 1 लाख रुपए निवेया किए होंगे, उनका निवेश बढ़कर 15 लाख रुपए हो गया। 

 

 

आगे पढ़ें, 8 साल में निवेशकों को कितना मिला 

150 रुपए के बने 97 करोड़ 
-8 साल पहले 2009 की बात करें तो एक बिटक्वॉइन की कीमत सिर्फ 15 पैसे थी। यानी तब जिन्होंने सिर्फ 150 रुपए निवेश कर आजतक इंतजार किया होगा, उनका निवेश बढ़कर अब 97 करोड़ रुपए हो गया है। 
-बिटक्वॉइन की मार्केट वैल्यू 230 अरब डॉलर यानी 14.95 लाख करोड़ रुपए पहुंव गई है। यह दुनिया के कई देशों की इकोनॉमी से ज्यादा है। 

 

अमीरों में खरीदने की होड़ 
 

-यह कोई सिक्का नहीं, बल्कि एक कोड या वर्चुअल टोकन है जिसका एक सुरक्षित नेटवर्क के जरिए एक से दूसरे यूजर के बीच ट्रांसफर किया जा सकता है। 
-खास बात है कि दुनिया भर के अमीरों में इसे खरीदने की होड़ रहती है। 
-यह डिजिटल करंसी है जो लोगों को बिना क्रेडिट, क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता या अन्य थर्ड पार्टी के सामान और सेवाओं को खरीदने और मुद्रा का आदान-प्रदान करने की अनुमति देता है। 

 

आगे पढ़ें, बिटक्वॉइन की एक और खासियत 

 

बिटक्वॉइन से जुड़ीं और खास बातें 
 

-यह एक ऐसी करंसी है, जिस पर किसी देश की सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। रुपए या डॉलर की तरह इसकी छपाई नहीं की जाती। इसकी कंप्यूटर के जरिए खोज की जाती है। 
-एक पहेली को ऑनलाइन हल करने से बिटक्वाइन मिलते हैं, साथ ही पैसे देकर भी इसे खरीद जा सकता है। 
-फंड ट्रांसफर, इंटरनेट पर सीधे लेनदेन, सामान खरीदने और गैरकानूनी खरीद-बिक्री में इसका इस्तेमाल होता है।  
-इसको लेकर सवाल भी खड़े होते रहे हैं, जैसे- इसके दाम में अक्सर उतार-चढ़ाव दिखता रहा है।

 

 

आगे पढ़ें, RBI ने किया है आगाह 

 

RBI ने किया है आगाह
 
बिटक्वॉइन और ऐसी दूसरी वर्चुअल करंसी को लेकर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने हाल ही में आगाह किया था। रिजर्व बैंक का कहना था कि इस तरह की करंसी में ट्रेड करने के लिए किसी भी कंपनी को न तो लाइसेंस दिया गया है और न ही अधिकृत किया गया है। इसके पहले भी आरबीआई ने फरवरी 2017 और दिसंबर 2013 में इसे लेकर आगाह किया था। आरबीआई ने कहा है कि वर्चुअल करंसी में ट्रेडिंग को मान्यता नहीं दी गई है। फिर भी यहां इनमें ट्रेडिंग हो रही है, ऐसे में यह रिस्की है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट