Home » Market » StocksIdea cellular fall upto 13% as 100 per cent FDI approval by DoT

आज का खास स्टॉक: FDI लिमिट बढ़ाने की मंजूरी के बाद भी आइडिया में 13% तक गिरावट

मंगलवार के कारोबार में टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेल्युलर में तेज गिरावट रही है।

1 of

नई दिल्ली। मंगलवार के कारोबार में टेलिकॉम कंपनी आइडिया सेल्युलर में तेज गिरावट रही है। डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम ने कंपनी को एफडीआई लिमिट बढ़ाकर 100 फीसदी करने को मंजूरी दे दी है। जिसके बाद शेयर में हलचल बढ़ गई। सुबह के कारोबार में शेयर में तेजी दिखी, लेकिन बाद में शेयर 13 फीसदी से ज्यादा टूटकर 55.40 रुपए के भाव पर आ गया। कारोबार के दौरान शेयर 10 फीसदी से ज्यादा टूटकर 56.20 रुपए के भाव पर है। 

 

 

100% FDI लिमिट को मंजूरी
आइडिया सेल्युलर ने यह जानकारी दी कि कंपनी को डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम की ओर से एफडीआई लिमिट 100 फीसदी करने को मंजूरी मिल गई है। अभी यह लिमिट 67.5 फीसदी है। आइडिया ने इस बारे में डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम से मंजूरी मांगी थी। माना जा रहा है कि एफडीआई अप्रूवल वोडाफोन और आइडिया के मर्जर के लिए बड़ा माइलस्टोन साबित होगा। बता दें कि दोनों कंपनियों का मर्जर प्रॉसेस फाइनल स्टेज में है। यह साल 2018 के पहले छमाही में ही पूरा हो सकता है। इस बारे में डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम से फाइनल अप्रूवल मिलना है। 

 

ऐसी रही शेयर की चाल
आइडिया का शेयर सोमवार को 62.75 रुपए के भाव पर बंद हुआ था। मंगलवार के कारोबार में यह सुबह 64 रुपए के भाव पर खुला। कारोबार के दौरान शेयर ने 64.10 का हाई टच किया। वहीं, बाद में यह 13.5 फीसदी गिरकर 55.40 रुपए के भाव पर आ गया। कारोबार के दौरान यह 10 फीसदी टूटकर 56.20 रुपए के भाव पर है। पिछले 6 महीने में कंपनी का शेयर 33 फीसदी टूट चुका है। शेयर 93.40 रुपए के भाव से सोमवार को 62.75 रुपए के भाव पर आ गया। 

 

Q4 में घाटा 3 गुना बढ़ा 
आइडिया का घाटा चौथी तिमाही में लगभग तीन गुना बढ़कर 930.6  करोड़ रुपए हो गया है । इसी अवधि में एक साल पहले कंपनी का घाटा  327.70 करोड़ रुपए रहा था। वहीं आइडिया के Q4 में साल दर साल आधार पर कुल इनकम भी 24 फीसदी कम हुई है। चौथे क्‍वार्टर में कंपनी की कुल इनकम  6,137.3 करोड़ रुपए है। जबकि बीते साल इसी अवधि में कंपनी की कुल इनकम 8,194.50 करोड़ रुपए रहा थी। फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में आइडिया को 4,139.90 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। जबकि फाइनेंशियल ईयर 2016-17 में कंपनी का नुकसान 404 करोड़ रुपए रहा था। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss