बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksICICI बैंक का मुनाफा 32% घटकर 1650 करोड़ रहा, बैड लोन में आई कमी

ICICI बैंक का मुनाफा 32% घटकर 1650 करोड़ रहा, बैड लोन में आई कमी

आईसीआईसीआई बैंक को तीसरी तिमाही में 1650 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है।

1 of

नई दिल्ली। फाइनेंशियल ईयर 2018 की तीसरी तिमाही में देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक आईसीआईसीआई बैंक का मुनाफा 32 फीसदी घट गया है। इस दौरान बैंक को 1650 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। जबकि पिछले फाइनेंशियल की तीसरी तिमाही में बैंक को 2441 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। वहीं, पिछली तिमाही में बैंक का मुनाफा 2058 करोड़ रुपए रहा था। तीसरी तिमाही के दौरान बैंक का ग्रॉस एनपीए भी कम हुआ है। 

 

एसेट क्वालिटी में हुआ

सुधार तिमाही के दौरान बैंक की एसेट क्वालिटी में सुधार हुआ है। इस दौरान पिछली तिमाही की तुलना में ग्रॉस एनपीए और नेट एनपीए में कमी आई है। तीसरी तिमाही में ग्रॉस एनपीए 7.82 फीसदी रहा है जो दूसरी तिमाही में 7.87 फीसदी था। वहीं, नेट एनपीए दूसरी तिमाही की 4.43 फीसदी की तुलना में घटकर 4.20 फीसदी रह गया है। रुपए में आईसीआईसीआई बैंक के एनपीए पर नजर डालें तो तिमाही आधार पर ग्रॉस एनपीए 44488.5 करोड़ रुपए से बढ़कर 46039 करोड़ रुपए रहा है। वहीं, तीसरी तिमाही में नेट एनपीए 24,129.8 करोड़ रुपए से घटकर 23,810 करोड़ रुपए रहा है।

 

NII 6 फीसदी बढ़ा 
तीसरी तिमाही में बैंक का नेट इंटरेस्ट इनकम सालाना आधार पर 6 फीसदी बढ़ गया है। इस दौरान नेट इंटरेस्ट इनकम 5705 करोड़ रुपए रहा है। जबकि पिछले फाइनेंशियल की तीसरी तिमाही में बैंक का नेट इंटरेस्ट इनकम 5363 करोड़ रुपए था। 

 

बैंक की प्रोविजनिंग 3570 करोड़ रु 

तिमाही आधार पर आईसीआईसीआई बैंक की प्रोविजनिंग 3569.6 करोड़ रुपए रही है। जबकि फाइनेंशियल ईयर 2017 की तीसरी तिमाही में आईसीआईसीआई बैंक की प्रोविजनिंग 2712.7 करोड़ रुपए रही थी। प्रोविजन कवरेज रेश्यो  59.3 फीसदी से बढ़कर 60.9 फीसदी रहा है। 

 

लोन ग्रोथ 4.7 फीसदी 
तिमाही आधार पर आईसीआईसीआई बैंक की लोन ग्रोथ 4.7 फीसदी रही है। जबकि, सालाना आधार पर लोन ग्रोथ 10.5 फीसदी रही। तिमाही आधार पर आईसीआईसीआई बैंक का तीसरी तिमाही में डोमेस्टिक नेट इंटरेस्ट मार्जिन 3.5 फीसदी रहा है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट