बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksएक ही निवेश पर 2 तरह से मिलेगा मुनाफा, रेग्युलर इनकम का ये है तरीका

एक ही निवेश पर 2 तरह से मिलेगा मुनाफा, रेग्युलर इनकम का ये है तरीका

क्या ऐसा हो सकता है कि आप एक जगह निवेश करें और उस पर 2 तरह से आपको मुनाफा हो।

1 of

नई दिल्ली। क्या ऐसा हो सकता है कि आप एक जगह निवेश करें और उस पर 2 तरह से आपको मुनाफा हो। अगर आप बैंक, पोस्ट ऑफिस या इस तरह की किसी स्कीम में अपने पैसे निवेश करते हैं तो उस पर तय ब्याज के हिसाब से आपको रिटर्न मिलेगा। इसी तरह से कैपिटल मार्केट में किए जाने वाले निवेश पर भी आपको उसमें मिलने वाले रिटर्न पर एक ही तरह से मुनाफा होता है। लेकिन क्या आप सोच सकते हैं कि निवेश का एक तरीका ऐसा भी है, कि आपको निवेश तो एक ही बार करना होगा, लेकिन उस पर मुनाफा 2 तरह से होगा। हम आपको यहां उसी तरीके बारे में बता रहे हैं, जहां डबल मुनाफा कमाया जा सकता है। 


आगे जानें, कैसे करें डबल कमाई.....

 

हम यहां बात कर रहे हैं उन कंपनियों के शेयर के बारे में, जहां कंपनियां डिविडेंड देती हैं। 


क्या है डिविडेंड?
कुछ कंपनियां अपने शेयरधारकों को समय-समय पर अपने मुनाफे का कुछ हिस्सा देती हैं। मुनाफे का यह हिस्सा वे शेयरधारकों को डिविडेंड के रूप में देती हैं। यानी अगर इन कंपनियों के शेयर खरीदते हैं तो इसमें 2 तरह से फायदा होगा।
-एक तो फायदा यह होगा कि कंपनी होने वाले मुनाफे का कुछ हिस्सा आपको देगी। 
-दूसरी ओर शेयर की कीमत चढ़ने पर भी आपको मुनाफा होगा। मसलन किसी कंपनी के शेयर में आपने 25 हजार रुपए निवेश किए हैं और एक साल में शेयर की कीमत 15 फीसदी चढ़ती है तो आपका निवेश एक साल में बढ़कर 31 हजार से ज्यादा हो जाएगा। 

 

रेग्युलर इनकम का है जरिया
ज्यादा डिविडेंड देने वाली कंपनियों में निवेश का एक फायदा यह है कि आप अपने शेयर बेचे बिना भी इनकम कर सकते हैं।  डिविडेंड ऐसी आय है, जो घर बैठे आपको अपने शेयर पर मिलती रहती है। ऊंचे डिविडेंड देने वाले शेयरों में निवेशकों के लिए डबल बेनिफिट है।

 
आगे पढ़ें, कौन सी कंपनियां देती हैं ऊंचे डिविडेंड ........

 

ये कंपनियां देती है डिविडेंड 
देश में ऐसी कंपनियों की कमी नहीं हैं, जो अपने शेयरधारकों को समय-समय पर डिविडेंड देती हैं। ज्यादा डिविडेंड देने वाली कंपनियों की सूची में कोल इंडिया, वेदांता लिमिटेड, बीपीसीएल, आईओसी, आरईसी, NMDC, NTPC और सोनाटा सॉफ्टवेयर जैसी कंपनियां शामिल हैं। 


आमतौर पर पीएसयू कंपनियां डिविडेंड के लिहाज से अच्छी मानी जाती हैं।  जानकारों का कहना है कि अगर कोई कंपनी डिविडेंड दे रही है तो इसका मतलब साफ है कि उस कंपनी को अच्छा मुनाफा हो रहा है। कंपनी के पास कैश की कमी नहीं है। ऐसे में कंपनी के शेयर की कीमत भी बढ़ने की पूरी उम्मीद रहती है।

 

अमूमन मजबूत कंपनियां ही डिविडेंड देती हैं जिससे इनमें निवेशकों का पैसा भी सुरक्षित माना जाता है। हालांकि ऐसे शेयर चुनते समय यह ध्‍यान रखना चाहिए कि निवेश उसी कंपनी में करें जिनका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर ग्रोथ के साथ रेग्युलर डिविडेंड देने का हो। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट