Home » Market » StocksHow you can easily pay your loan without trouble, follow these 6 steps

बड़ा से बड़ा कर्ज है न हों परेशान, 6 तरीकों से आसान हो जाएगा चुकाना

बैंक या फाइनेंशियल संस्‍थानों से आसानी से लोन मिलने से बहुत से लोग थोड़ी जरूरत पर भी लोन ले लेते हैं।

1 of

नई दिल्ली। बैंक से लोन लेना आज के दौर में बहुत से लोगों की जरूरत बन गई है। चाहे वह जरूरत अपना बिजनेस खड़ा करने की हो या घर लेने की या गाड़ी लेने की। बैंक या फाइनेंशियल संस्‍थान अब आसानी से लोन दे देते हैं। इस वजह से भी बहुत से लोग इसे प्राथमिकता देते हैं। लेकिन, कई बार ऐसा होता है कि ऐसी परिस्थितियां बन जाती हैं कि लोन लेने वाला इसे लेकर बड़ी मुसीबत में फंस जाता है। असल में भारत में बहुत से लोग निवेश की बजाए महज उपभोग के लिए लोन लेने की आम गलती कर बैठते हैं और एक दिन यह कर्ज देनदारी बढ़ते-बढ़ते इतना ज्यादा हो जाता है कि वे मुसीबत में आ जाते हैं। हम इस रिपोर्ट में यह बता रहे हैं कि अपने रोजमर्रा के बजट को बिना बदले कैसे आसानी से लोन चुकाया जा सकता है। 

 

 

लोन लेने से पहले ध्‍यान रहे ये बात 
ई-सिल्वरबक्स कंसल्टेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के फाउंडर और चीफ कंसल्टेंट ऑफिसर अमित मित्तल का कहना है कि सबसे पहले प्लानिंग कर लें कि लोन को किस तरह से चुकाना है। जब आपको लगे कि लोन चुकाने में किसी तरह की परेशानी नहीं आने वाली है, उसके बाद ही इसकी प्रक्रिया आगे बढ़ाएं। आगे यह भी सुनिश्चित कर लें कि उसे आप समय पर चुका देंगे। आगे भी पढ़ें, कौन से 6 उपाय आएंगे काम.......

 

1. ऊंची ब्याज दर से पा सकते हैं छुटकारा
अमित मित्तल का कहना है कि अगर आपके क्रेडिट कार्ड का स्कोर अच्छा है तो ऊंची ब्याज दर वाले लोन को चुकाने के लिए कम ब्याज दर वाला लोन लेना भी एक बेहतर विकल्प है। इससे आप पॉकेट फ्रेंडली फर्मों से जुड़ कर ऊंची ब्याज दरों वाली फर्मों से छुटकारा पा सकते हैं। 


2. छोटी-छोटी किस्‍तों में बांट दें
अगर आपने लोन लिया है तो बड़ी किस्‍त चुकाने से आपका मंथली बजट प्रभावित हो सकता है। ऐसे में अपने लोन को छोटी और अफोर्डेबल किस्‍तों में बांट दें। किस्‍त चुकाने के लिए कैलेंडर में एक खास डेट तय कर लें। इसका रिमाइंडर भी लगा सकते हैं। आगे भी पढ़ें, और क्या करें उपाय.....

3. वित्तीय रूप से स्वतंत्र बने
लोन का उपयोग अधिक पैसे कमाने के लिए करें,  उससे लोन चुकाएं और बची रकम से अपना प्रारंभिक निवेश शुरू करें। आज के दौर में निवेश के कई बेहतर विकल्प भी हैं, जहां अच्छा मुनाफा मिल सकता है। एक्स्‍ट्रा मुनाफे का इस्तेमाल ब्याज चुकाने में कर सकते हैं। 


4. बैंकों के साथ करें खास इंतजाम 
बैंक के साथ ऐसी व्यवस्था करें, जिससे लोन की किस्‍त सीधे आपकी सैलरी से जमा हो जाए। इससे बिना देरी के समय पर लोन की किस्‍तें जमा हो जाएंगी। आगे भी पढ़ें, और क्या करें उपाय..........

5. रोज का खर्च न बढ़ाएं 
अगर आपने लोन लिया है तो यह तय करें कि रोज का बजट न बढ़े। मसलन महंगे होटलों की बजाए सस्ते होटलों में जाएं। इस तरह से रोज की सेविंग का इस्तेमाल लोन चुकाने में करें। 
किसी महीने अगर अतिरिक्त मुनाफा कमाते हैं तो खर्च को बढ़ाने की बजाए उसे लोन चुकाने में जमा कर दें। इससे भविष्य में आप पर बोझ हल्का होगा, बल्कि मूलधन पर ब्याज की देनदारी भी घटेगी। 

 

6. वित्तीय सलाहकार की सलाह लें
लगातार बढ़ती आय के सही मैनेजमेंट के लिए एक वित्तीय सलाहकार की मदद लें। वह आपको न केवल टैक्स छूट का पूरा लाभ उठाने में मदद करेगा, बल्कि निवेश के लिए सही विकल्प का चयन करने में भी मदद करेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट