बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksFY19 में IT सेक्टर में रहेगी ग्रोथ, लंबी अवधि के लिए बनाएं निवेश की स्ट्रैटेजी

FY19 में IT सेक्टर में रहेगी ग्रोथ, लंबी अवधि के लिए बनाएं निवेश की स्ट्रैटेजी

आईटी सेक्टर के लिए अर्निंग सीजन बेहतर रहा है और इसमें रिकवरी के संकेत मिले हैं।

1 of

नई दिल्ली। आईटी सेक्टर के लिए अर्निंग सीजन बेहतर रहा है और इसमें रिकवरी के संकेत मिले हैं। घरेलू बाजार पर फोकस करने वाली कंपनियों के अलावा लॉर्जकैप के नंबर भी बेहतर रहे हैं। इंफोसिस के नतीजे बेहतर आए हैं। टीसीएस ने भी उम्मीद के मुताबिक नतीजे दिए हैं। कंपनियों का बिजनेस बढ़ रहा है। दुनियाभर के बाजारों में तकनीकी की डिमांड तेज रहने की उम्मीद है। वहीं, कंप्यूटिंग, डिजिटाइजेशन और ऑटोमेशन जैसे नए ट्रेंड से आईटी कंपनियों के लिए नए अवसर खुले हैं। 

 

 

आईटी कंपनियों के लिए नए अवसर खुले 
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के हेड इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटजिस्ट गौरांग शाह का कहना है कि आईटी सेक्टर का आउटलुक लंबी अवधि के लिए बेहतर है। डिजिटलाइजेशन से आईटी कंपनियों के लिए नए अवसर खुले हैं। आईटी कंपनियां इसे अपना भी रही हैं। वहीं, नतीजों से साफ है कि कंपनियों का बिजनेस बढ़ा है। पिछले कुछ तिमाही में अंडरपरफॉर्मर रहे आईटी सेक्टर में अब रिकवरी शुरू हो गई है। पिछले दिनों वीजा, क्लाउड कंप्यूटिंग, डिजिटाइजेशन और ऑटोमेशन जैसे ट्रेंड बिजनेस ग्रोथ के लिए इश्‍यू रहे हैं, जिसका असर अगली तिमाही में भी दिख सकता है। लेकिन आगे के लिए सेक्टर में अच्छा आउटलुक दिख रहा है। फिलहाल आईटी शेयरों का वैल्युएशन बेहतर है। इस वजह से अच्छे शेयर पोर्टफोलियो को मजबूत कर सकते हैं। 

 

 

नई तकनीकी से मिलेगी ग्रोथ 
आईटी उद्योग के संगठन नैसकॉम के मुताबिक अगले फाइनेंशियल ईयर में आईटी सेक्टर में बेहतर ग्रोथ रहेगी। इसमें नई टेक्नोलॉजी का सपोर्ट इंडस्ट्री को मिलेगा। अगले फाइनेंशियल में घरेलू आईटी इंडस्ट्री में 9 फीसदी की ग्रोथ दिख सकती है। नैसकॉम के मुताबिक आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस और ब्लॉक चेन टेक्नोलॉजी में सबसे ज्यादा बिजनेस आने की संभावना है। जिसका फायदा आईटी सेक्टर को मिलेगा। 

 

कारोबार में अभी कुछ अनसर्टेनिटी 
फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि नतीजों से साफ है कि आईटी सेक्टर पर दबाव कम हो रहा है। यूएस और यूरोप की मार्केट भी पहले से बेहतर हुई है। फिलहाल सॉफ्टवेयर सेवाओं के कारोबार में कुछ अनिश्चितताएं हैं। इस वजह से अगली तिमाही में भी अर्निंग पर दबाव रह सकता है। लेकिन आगे सेक्टर में बे‍हतर ग्रोथ दिख रही है। ऐसे में अभी निवेशकों को स्टॉक स्पेसिफिक रहने की सलाह है। 

 

घरेलू कंपनियों का आउटलुक बेहतर   
एक्सपर्ट्स का कहना है कि क्लाउड कंप्यूटिंग, डिजिटाइजेशन और ऑटोमेशन जैसे ट्रेंड पर कंपनियां काम कर रही हैं। अगले कुछ दिनों तक ज्यादा रेवेन्यू जेनरेट होने की उम्मीद कम है। लेकिन आगे ग्रोथ स्टोरी फिर शुरू होगी। अभी मिडकैप साइज की आईटी कंपनियों का आउटलुक बेहतर दिख रहा है, जिनका एक्सपोजर अमेरिका में नहीं है। 
आगे पढ़ें क्या करें निवेशक 

 

 

किन शेयरों में करें निवेश 


साइंट लिमिटेड, इंफोसिस और एनआईआई टेक 
गौरांग शाह का कहना है कि आईटी स्टॉक्स साइंट लिमिटेड, इंफोसिस और एनआईआई टेक में करंट प्राइस से 15 से 20 फीसदी की ग्रोथ के साथ निवेश किया जा सकता है। 

 

KPIT टेक्नोलॉजी
ब्रोकरेज हाउस चोला सिक्युरिटीज ने KPIT टेकक्नोलॉजी में 247 रुपए के लक्ष्‍य के साथ निवेश की सलाह दी है। शेयर का करंट प्राइस 200 रुपए है। 

 

परसिस्टेंट सिस्टम
ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने परसिस्टेंट सिस्टम के शेयर के लिए 870 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। वहीं, ब्रोकरेज हाउस एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने शेयर के लिए 875 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। शेयर की मौजूदा कीमत 754 रुपए है।

 

(नोट- यहां दी गई सभी सलाह टॉप ब्रोकरेज हाउस के द्वारा जारी रिपोर्ट और मार्केट एक्सपर्ट्स की सलाह के आधार पर हैं। हर स्टॉक से जुड़े अपने जोखिम होते है, इसलिए सलाह है कि अपने स्तर पर जांच या अपने एक्सपर्ट की सलाह के बाद ही निवेश का फैसला लें।) 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट