बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocks2018 में PSU बैंकों में नई तेजी की उम्मीद, Recap प्लान के बाद FII की बने पसंद

2018 में PSU बैंकों में नई तेजी की उम्मीद, Recap प्लान के बाद FII की बने पसंद

बैंक रीकैपिटलाइजेशन प्लान को मंजूरी मिलने के बाद से विदेशी निवेशकों के लिए पीएसयू बैंक फिर से पसंदीदा शेयर बन गए हैं।

1 of

नई दिल्ली। बैंक रीकैपिटलाइजेशन प्लान को मंजूरी मिलने के बाद से विदेशी निवेशकों के लिए पीएसयू बैंक फिर से पसंदीदा शेयर बन गए हैं। दिसंबर तिमाही के दौरान  टॉप पीएसयू बैंकों में विदेशी निवेशकों की होल्डिंग 217 बेसिस प्वॉइंट तक बढ़ी है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि बैंकों को कैपिटल मिलने से न सिर्फ एनपीए का दबाव कम होगा, बैलेंसशीट भी मजबूत होगी। इसी उम्मीद में विदेशी निवेशकों की भी दिलचस्पी बढ़ी है। फिलहाल रीकैप प्लान सही से लागू होता है तो 2018 में पीएसयू बैंक वैल्यू पिक साबित होंगे। 

 

 

बढ़ी विदेशी निवेशकों की होल्डिंग 
ब्रोकरेज हाउस सिस्टेमैटिक्स स्टॉक्स एंड शेयर की रिपोर्ट के मुताबिक देश के सबसे बड़े कमर्शियल बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया में दिसंबर तिमाही के दौरान एफआईआई की होल्डिंग में 147 बेसिस प्वॉइंट की बढ़ोतरी हुई है और यह 2.5 साल के हाई पर है। बैंक ऑफ बड़ौदा में एफआईआई की होल्उिंग में 217 बेसिस प्वॉइंट की बढ़ोत्तरी हुई है। वहीं, पीएनबी में भी मिड दिसंबर तक विदेशी निवेशकों की होल्डिंग 12.89 फीसदी थी जो सिंतबर तिमाही में 10 फीसदी थी। एनालिस्ट का कहना है कि बैंकों के लिए 2.11 लाख करोड़ रुपए के रीकैप प्लान को मंजूरी मिलने के बाद से विदेशी निवेशकों का इंटरेस्ट बढ़ा है, जो लंबे समय से इस सेक्टर के लिए बेल आउट पैकेज के इंतजार में थे। 

 

रिटेल-SME लेंडिंग में बढ़ेगा मार्केट शेयर 
ब्रोकरेज हाउस सिस्टेमैटिक्स स्टॉक्स एंड शेयर के मुताबिक सरकारी बैंकों की कैपिटल की जरूरतें पूरी होने से उन्हें रिटेल लेंडिंग के साथ स्माल एंड मीडियम इंटरप्राइजेज लेंडिंग सेग्मेंट में मार्केट शेयर बढ़ाने में मदद मिलेगी। ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि  रीकैप प्लान सेक्टर के लिए कैटलिस्ट साबित हो सकता है, जो बैड लोन के दबाव को कम करने के साथ ही ग्रोथ मजबूत करने में असरदायक होगा। ब्रोकरेज हाउस के मुताबिक इस प्लान का सबसे ज्यादा फायदा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा और पंजाब नेशनल बैंक जैसे बड़े लेंडर्स को होगा। 

 

बैलेंसशीट मजबूत  करने में मदद 
कैपिटल सिंडिकेट के मैनेजिंग पार्टनर पशुपति सुब्रमण्‍यम का कहना है कि सरकार के पास पीएसयू बैंकों के लिए 2.11 करोड़ के रीकैपिटलाइजेशन का बड़ा प्लान है। बैंकों को उनकी परफॉर्मेंस के हिसाब से पैसा मिलेगा, जिससे उनकी बैलेंसशीट तो मजबूत होगी ही, लोन देने के लिए भी उनके पास पैसा आएगा। क्रेउिट ग्रोथ बए़ने से पीएसयू बैंकों में नई ग्रोथ स्टोरी शुरू होगी। 

 

ब्याज दरें घटाने का मिल सकता है मौका 
कॉरपोरेट स्कैन डॉट कॉम के सीईओ विवेक मित्तल का कहना है कि फिलहाल किस बैंक को सरकार कितना पैसा देगी, किस बैंक का किस बैंक में मर्जर होना है, यह पीएसयू बैंकों के लिए अहम है। लेकिन, बैकों में कैपिटल इनफ्यूज होने से बैलेंसशीट क्लीयर होनी शुरू होगी। वहीं, कैपिटल मिलने पर आगे बैंकों को ब्यादज दरें घटाने में भी आसानी होगी। जिसका फायदा बैंक शेयरों को मिलेगा। मित्तल का कहना है कि साल 2018 पीएसयू बैंकों के लिहाज से बेहतर दिख रा है। हालांकि निवेशकों को लंबी अवधि का नजरिया रखना चाहिए। 

 

 

आगे पढ़ें, सस्ता है शेयरों का वैल्युएशन 

 

 

सस्ता है शेयरों का वैल्युएशन 
एक्सपर्ट्स का कहना है कि रीकैप प्लान को मंजूरी मिलने के बाद से पीएसयू बैंक शेयरों में जोरदार तेजी आई थी। लेकिन, अक्टूबर से अबतक शेयरों का वैल्युएशन फिर सस्ता हो चुका है। ज्यादातर शेयर रीकैप प्लान को मंजरी मिलने के पहले वाले स्तर या उससे भी नीचे आ चुके हैं। पिछले 30 दिनों में ओबीसी, आईडीबीआई और पीएनबी के अलावा सभी पीएसयू बेंक शेयरों में गिरावट री है। ऐसे में अच्छे शेयरों में लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न मिल सकता है। 

 

इन शेयरों में मिल सकता है अच्छा रिटर्न 
एक्सपर्ट्स ने SBI, PNB, OBC, जम्मू एंड कश्‍मीर बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा में निवेश की सलाह दी है। विवेक मित्तल ने पीएनबी में लंबी अवधि के लिए 220 का लक्ष्‍य दिया है तो ओबीसी में लंबी अवधि के लिए 17 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। पशुपति सुब्रमण्‍यम ने भी एसबीआई और पीएनबी में निवेश की सलाह दी है। ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने एसबीआई में 390 रुपए का लक्ष्‍य रखा है तो ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने पीएनबी के लिए 250 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट