Home » Market » StocksExperts Not Seen Big Correction in Market and Hope for Recovery Soon, पीएनबी शॉक के बाद मार्केट में रिकवरी की उम्मीद

PNB शॉक के बाद मार्केट में रिकवरी की उम्मीद, इन फैक्टर्स से मिल रहे हैं संकेत

एक्सपर्ट्स के अनुसार बाजार को अर्निंग का सपोर्ट मिला है, ग्लोबल सेंटीमेंट सुधरे हैं, जिससे बड़ी गिरावट का डर नहीं है।

1 of

नई दिल्ली। 29 जनवरी के बाद से मार्केट अपने हाई से 6 फीसदी तक टूट चुका है। पीएनबी फ्रॉड के बाद डोमेस्टिक स्तर पर सेंटीमेंट और कमजोर होने से मार्केट में दबाव बना हुआ है। हालांकि, दूसरी और ग्लोबल स्तर पर बिकवाली के बाद अब दुनियाभर के बाजारों में रिकवरी देखी जा रही है। इंडिया में भी इस सीजन कॉरपोरेट अर्निंग बेहतर रही है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि बाजार को अर्निंग का सपोर्ट मिला है, वहीं ग्लोबल सेंटीमेंट भी सुधरे हैं, जिससे बड़ी गिरावट का डर नहीं है।उम्मीद है कि जल्द मार्केट में रिकवरी लौटेगी। ऐसे में निवेशकों को डरने की जरूरत नहीं है। 

 

 

फंडामेंटल स्तर पर बदलाव नहीं 
फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि जनवरी के अंतिम हफ्ते में हाई बनाने के बाद से मार्केट लगातार वोलेटाइल रहा है, लेकिन फंडामेंटल स्तर पर ज्यादा अंतर नहीं आया है। दुनियाभर के बाजारों में बिकवाली का दबाव इंडियन मार्केट पर भी हावी रहा। वहीं, LTCG और पीएनबी मामले ने भी सेंटीमेंट कमजोर किया है। अभी डोमेस्टिक  स्तर पर कोई पॉजिटिव सेंटीमेंट भी नहीं है, इस वजह से मार्केट में अभी कम से कम मार्च तक दबाव रहेगा। 1 अप्रैल से LTCG टैक्स भी प्रभावी हो रहा है। 

 

मार्केट को कॉरपोरेट अर्निंग का सपोर्ट 
तीसरी तिमाही में लॉर्जकैप कंपनियों की अर्निंग डबल डिजिट में रही है। ओवरऑल भी कॉरपोरेट अर्निंग में रिकवरी है। ऐसे में मार्केट को अर्निंग का सपोर्ट मिल रहा है। वहीं, गिरावट के बाद खरीददारी का भी मौका बना है। जिसकी वजह से मार्केट को डीआईआई का सपोर्ट भी मिल रहा है। इन वजहों से फिलहाल बड़ी गिरावट का डर नहीं है। अगर डोमेस्टिक स्तर पर कोई बड़ा पॉजिटिव ट्रिगर मिला, मार्केट की स्थिति फिर सही हो जाएगी। 

 

अर्निंग सुधरने से डीआईआई का बढ़ा भरोसा  
पिछले 9 दिन की बात करें तो 5 फरवरी से 18 फरवरी के बीच डोमेस्टिक इन्वेस्टर्स ने मार्केट में 8600 करोड़ रुपए का नेट इन्वेस्टमेंट किया। एक्सपर्ट्स का मानना है कि कॉरपोरेट अर्निंग सुधरने से लंबी अवधि को लेकर निवेशकों में पॉजिटिव सेंटीमेंट बन रहा है, जिससे वे मार्केट में बने हुए हैं। हालांकि इस दौरान बॉन्ड यील्ड में आई तेजी की वजह से मार्केट को विदेशी निवेशकों का सपोर्ट नहीं मिल रहा है। 

आगे पढ़ें, मार्केट में है बेहतर रिटर्न

 

 

 

निवेश के लिए बन रहे हैं मौके 

 

एक्सपर्ट्स मान रहे हैं कि अभी मार्केट में अगले कुछ ट्रेडिंग सेशन के दौरान उतार-चढ़ाव रहेगा, हल्का करेक्शन भी दिख सकता है। लेकिन गिरावट निवेश के लिए बेहतर मौके भी बना रहा है। स्टैलियन एसेट्स डॉट कॉम के सीआईओ अमीत जेसवानी का कहना है कि मार्केट अपने हाई लेवल से 6 फीसदी तक करेक्ट हो चुका है। ऐसे में कई अच्छे शेयरों का वैल्युएशन बेहतर हुआ है। वहीं, फार्मा और आईटी सेक्टर का वैलयुएशन पहले से ही अच्छा दिख रहा है। ऐसे में मार्केट स्टेबल होने के बाद निवेशकों के पास बेहतर अवसर बनेगा। 

 

उनका कहना है कि दुनियाभर के कई बाजारों में बिकवाली का प्रेशर कम हुआ है। यूएस और यूरोपीय मार्केट में कुछ सुधार दिख रहा है। वहीं, एशियन मार्केट में अच्छी रिकवरी दिख रही है। यानी निवेशक फिर इक्विटी मार्केट की ओर लौट रहे हैं। यह इकिवटी मार्केट के लिए अच्छा संकेत है। फिलहाल एफआईआई को फिर अट्रैक्ट करने के लिए मार्केट को डोमेस्टिक स्तर पर बड़े ट्रिगर की तलाश है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट