Home » Market » StocksThese Small Cap On Better Valuation, May Give Better Return

रिकॉर्ड हाई से स्मालकैप में 20% गिरावट, आगे ये शेयर दे सकते हैं 77% तक रिटर्न

गिरावट में कुछ क्वालिटी स्मालकैप शेयरों में निवेश का बेहतर मौका बना है।

1 of

नई दिल्ली। लंबे समय से जारी वोलेटैलिटी के बीच ट्रेड वार के डर से पिछले हफ्ते निफ्टी 10 हजार के अहम स्तर से नीचे आ गया। सोमवार से शुरू हो रहे एक्सपायरी वीक में भी ग्लोबल निगेटिव सेंटीमेंट के चलते मार्केट में उतार-चढ़ाव बने रहने की आशंका है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि निफ्टी ने अक्टूबर 2017 के बाद पहली बार 10 हजार का साइकोलॉजिकल स्तर तोड़ दिया है। ऐसे में यहां से 200 अंकों की और गिरावट दिख रही है। फिलहाल इस गिरावट में कुछ क्वालिटी स्मालकैप शेयरों में निवेश का बेहतर मौका बना है। एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस ने डीएचएफएल, रेन इंडस्ट्रीज, सिएट, मार्कसंस फार्मा और सिएट में निवेश की सलाह दी है।  

 

आगे वोलेटाइल रहेगा मार्केट 
जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नैयर के अनुसार घरेलू स्तर पर कमजोर सेंटीमेंट के चलते मार्केट में दबाव था, वहीं दुनिया की 2 बड़ी इकोनॉमी में छिड़ी ट्रेड वार ने ग्लोबल स्तर पर सेंटीमेंट बिगाड़ दिए हैं। इसका असर न केवल एक्सपायरी वीक में बल्कि अगले कुछ और ट्रेडिंग सेशन में दिखेगा। घरेलू स्तर पर पॉलिटिकल अनसर्टेनिटी से भी निवेशक सतर्क हैं। वहीं, सैमको सिक्युरिटीज के सीईओ जिमित मोदी के अनुसार मिड टर्म के लिहाज से मार्केट में बड़ी रैली की उम्मीद कम है। घरेलू स्तर पर मामेंटम नहीं है, वहीं, दुनियाभर के बाजारों में दबाव है। इसका असर मार्केट पर जारी रहेगा। 

 

सेंसेक्स 50 अंकों से ज्यादा टूटा, निफ्टी 10 हजार के नीचे, IT-मेटल शेयर लुढ़के

 

स्मालकैप में 20 फीसदी करेक्शन 
15 जनवरी को अपने रिकॉर्ड हाई से स्मालकैप इंडेक्स में 20 फीसदी का करेक्शन आ चुका है। पिछले साल सबसे अच्छा रिटर्न देने के बाद 15 जनवरी को स्मालकैप ने 20183 का स्तर छू लिया था जो रिकॉर्ड हाई था। वहीं, 23 मार्च को निफ्टी 16801 के स्तर पर बंद हुआ। एक्सपर्ट्स का मानना है कि आगे भी निफ्टी इंडेक्स में 2 से 3 फीसदी करेक्शन दिख सकता है। लेकिन इस गिरावट में आगे के लिए बेहतर मौके भी बन रहे हैं। 

 

स्टैलियन एसेट्स डॉट कॉम के सीआईओ अमीत जेसवानी का मानना है कि हाई क्वालिटी वाली स्मालकैप कंपनियों में अभी ग्रोथ दिख रही है। कई शेयर अभी अच्छी वैल्युएशन पर भी हैं। आगे देश में रिफॉर्म तेज होंगे, इकोनॉमिक ग्रोथ भी तेज होने की उम्मीद है। इससे लंबी अवधि के लिहाज से मैक्रो इकोनॉमिक एन्वायरनमेंट बेहतर है। ऐसे में छोटी कंपनियों को फायदा मिल सकता है। छोटी कंपनियों का बेस कम होने से यह फायदा है कि ये तेजी से ग्रोथ कर सकती हैं। हालांकि निवेश के पहले कंपनी का प्रदर्शन और उनकी अर्निंग जरूर देख लेनी चाहिए। 

 

किन शेयरों में करें निवेश 
 

मनापुरम फाइनेंस
मनापुरम फाइनेंस नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी है। कंपनी की देशभर में 3700 से ज्यादा ब्रांच हैं। कंपनी का क्लाइंट बेस मजबूत है। मैनेजमेंट का टारगेट है कि आने वाले दिनों में गोल्ड लोन की ग्रोथ 10 फीसदी और ओवरऑल लोन ग्रोथ 20 फीसदी करना है। कंपनी की एसेट क्वालिटी बेहतर है और कंपनी अपना एनपीए कम कर रही है। ब्रोकरेज हाउस सेंट्रम ने मनापुरम फाइनेंस में 128 रुपए का लक्ष्‍य तय किया हे। शेयर का करंट प्राइस 105 रुपए है। शेयर में 22 फीसदी करटर्न मिल सकता है। 

आगे पढ़ें, और किन शेयरों में निवेश का मौका ............

 

रेन इंडस्ट्रीज
रेन इंडस्ट्रीज लिमिटेड कैल्सिनाइड पेट्रोलिसम कोक, कोल टार और स्पेशिएलिटी केमिकल बनाने वाली दुनिया की लीडिंग कंपनी है। कंपनी लगाता कैपेसिटी एक्सपेंशन मोड में है। कार्बन, केमिकल और सीमेंट बिजनेस पर कंपनी का फोकस है। कंपनी का पेट कोक बिजनेस स्ट्रॉन्ग है, वहीं केमिकल बिजनेस में टर्नअराउंड की स्थिति बन रही है। हालांकि सीमेंट पर प्राइसिंग प्रेशर है। लेकिन उम्मीद है कि आने वाले दिनों में सीमेंट की डिमांड मजबूत होगी। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर में 480 रुपए का लक्ष्‍य दिया है। करंट प्राइस 373 रुपए के लिहाज से 27 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

सिएट
सिएट देश की लीडिंग टायर कंपनियों में शामिल है, जिसकी कैपेसिटी 1000 उमटी प्रति दिन है। कंपनी ट्रक, बस, टू व्हीलर और थ्री व्हीलर और सभी तरह के पैसेंजर व्‍हीकल्स के लिए टायर बनाती है। कंपनी का डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क मजबूत है और देश में 4500 डीलर, 33 क्षेत्रीय कार्यालय और 500 से ज्यादा सीएंडएफ एजेंट हैं। ऑटो सेक्टर में मजबूत डिमांड और रॉ मैटेरियल की स्टेबल कीमतों का फायदा कंपनी को होगा। जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के गौरांग शाह ने सिएट पर भरोसा जताया हे। ब्रोकरेज हाउस चोलामंडलम ने शेयर के लिए 1994 का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 1428 रुपए के लिहाज से शेयर में 40 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

DHFL
दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन इनडिविजुअल को हाउसिंग फाइनेंस की सुविधा देती हे। कंपनी का फोकस लोवर-मिडिल क्लास पर होने से कंपनी के पास खासे कस्टमर हैं। ऐसे में सरकार की अफोर्डेबल हाउसिंग स्कीम का फायदा कंपनी को होगा। इसके अलावा कंपनी एसएमई को भी लेान दे रही है। बिजनेस मोमेंटम लगातार हेल्दी बना हुआ है। कंपनी का कैपेटलाइजेशन इंप्रूव हुआ है। कंपनी की एसेट क्वालिटी लगातार बेहतर हो रही है। ब्रोकरेज हाउस एंजेल ब्रोकिंग ने शेयर में 720 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 494 रुपए के लिहाज से शेयर में 46 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

मार्कसंस फार्मा
मार्कसंस फार्मा इंडियन फार्मा कंपनी है, जिसके प्रोडक्ट दुनिया के कई देशों में एक्सपोर्ट किए जाते हैं। कंपनी की मैन्युफैक्चरिंग क्वालिटी वर्ल्ड क्लास है। कंपनी के तीसरी तिमाही के नतीजे बेहतर रहे हैं। कंपनी के यूएस बिजनेस में सुधार हो रहा हे। इंडियन मार्केट पर कंपनी की पकड़ अच्छी है। कुछ नए प्रोडक्ट को भी मंजूरी मिलने वाली है, जिसका फायदा आगे होगा। ब्रोकरेज हाउस सेंट्रम ने शेयर के लिए 55 रुपए का लक्ष्‍य रखा है। करंट प्राइस 31 रुपए है, यानी शेयर में 77 फीसदी रिटर्न मिल सकता है। 

 

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट