बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksआज का खास स्टॉक: दिलीप बिल्डकॉन में 17% तक गिरावट, कमजोर Q4 नतीजों का असर

आज का खास स्टॉक: दिलीप बिल्डकॉन में 17% तक गिरावट, कमजोर Q4 नतीजों का असर

धवार के कारोबार में इंफ्रा कंपनी दिलीप बिल्डकॉन के शेयरों में 17 फीसदी की गिरावट रही है।

1 of

नई दिल्ली। बुधवार के कारोबार में इंफ्रा कंपनी दिलीप बिल्डकॉन के शेयरों में बड़ी गिरावट रही है। कारोबार के दौरान शेयर 17 फीसदी की गिरावट के साथ 901 रुपए के भाव पर आ गया। दिलीप बिल्डकॉन ने फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही के नतीजे पेश किए हैं, जो पिछले 6 तिमाही में सबसे कमजोर रहे हैं। कमजोर नतीजे के चलते शेयरों में गिरावट देखी जा रही है। 

 

कंपनी का मुनाफा 11% बढ़ा

फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही में दिलीप बिल्डकॉन का मुनाफा सालाना आधार पर 11 फीसदी बढ़ा है जो अनुमान से कमजोर है। कंपनी को इस दौरान 218 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। मुनाफे में ग्रोथ पिछले 6 तिमाही में सबसे कमजोर है। वहीं, चौथी तिमाही में कंपनी का रेवेन्यू सालाना आधार पर 46 फीसदी बढ़कर 2562 करोड़ रुपए रहा है। एबटिडा 33.2 फीसदी ग्रोथ के साथ 477 करोड़ रुपए रहा और एबिटडा मार्जिन 18.6 फीसदी रहा। कंपनी को चौथी तिमाही में कुल 14114 करोड़ रुपए का ऑर्डर मिला। वहीं, 31 मार्च 2018 तक कंपनी का कुल ऑर्डर बुक बढ़कर 23888 करोड़ रुपए रहा है। कंपनी ने अपने 5 प्रोजेक्ट समय से पहले पूरा कर दिए हैं। 

 

ऐसी रही शेयर की चाल
कंपनी का शेयर मंगलवार को 1053 रुपए के भाव पर बंद हुआ था। वहीं, बुधवार को यह 1036.90 रुपए के भाव पर खुला। कारोबार के दौरान करीब 17 फीसदी गिरकर यह 901 रुपए के भाव पर पहुंच गया। यही आज के कारोबार में शेयर का लो रहा है। बुधवार को शेयर का हाई 1036 रुपए का भाव रहा है। वहीं, कारोबार के अंत में शेयर 13 फीसदी कमजोर होकर 917 रुपए के भाव पर बंद हुआ। पिछले एक साल की बात करें तो दिलीप बिल्डकॉन के शेयरों में 140 फीसदी तेजी रही है। शेयर 439 रुपए के भाव से 1053 रुपए के भाव पर पहुंच गया। 15 मई को शेयर ने 1248 रुपए का ऑल टाइम हाई भी टच किया। 

 

जानें कंपनी के बारे में
दिलीप बिल्डकॉन लिमिटेड इंडिया बेस्ड इंफ्रा कंपनी है जो इंजीनियरिंग प्रॉक्योरमेंट और कंस्ट्रक्शन बिजनेस में है। कंपनी सरकार और प्राइवट पार्टीज से ऑर्डर लेती है। सरकार के कई अहम प्रोजेक्ट कंपनी के पास है। कंपनी की खासियत है कि यह अपने 90 फीसदी प्रोजेक्ट समय से पहले पूरे कर देती है। समय से पहले प्रोजेक्ट पूरे कर लेने से नए प्रोजेक्ट हासिल करने में आसानी होती है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट