Home » Market » StocksRITES IPO open toaday, brokerage seen attractive valuation

RITES का 460 Cr का IPO आज से खुला, आकर्षक वैल्युएशन पर निवेश की सलाह

रेलवे कंसल्टैंसी फर्म राइट्स (RITES) का आईपीओ बुधवार यानी 20 जून से निवेश के लिए खुल गया है।

RITES IPO open toaday, brokerage seen attractive valuation

नई दिल्ली. रेलवे कंसल्टैंसी फर्म राइट्स (RITES) का आईपीओ बुधवार यानी 20 जून से निवेश के लिए खुल गया है। मौजूदा फाइनेंशियल में यह पहली सरकारी कंपनी है, जो आईपीओ ला रही है। सरकार ने आईपीओ के जरिए 460 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्‍य रखा है। आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 180 से 185 रुपए प्रति शेयर (रिटेल शेयरधारकों और कर्मचारियों के लिए 6 रुपए का डिस्काउंट) रखा गया है। आईपीओ पर एक्सपर्ट्स और ब्रोकरेज हाउस का कहना है कि वैल्युएशन फेयर है, कंपनी का बिजनेस बेहतर है और कंपनी में प्रॉफिट में है। ऐसे में निवेशकों को आगे अच्छा रिटर्न मिल सकता है। 

 

 

ट्रांसपोर्ट और इंजीनियरिंग कंसल्टेंट कंपनी
राइट्स मिनिस्ट्री ऑफ रेलवे के तहत ट्रांसपोर्ट और इंजीनियरिंग कंसल्टैंट है, जो अपनी सर्विस विदेशों में भी देती है। कंपनी रेलवे के लिए इंजीनियरिंग, प्रॉक्योरमेंट और कंस्ट्रक्शन बेसिस पर प्रोजेक्ट लेती है। कंपनी ने एशिया, अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, दक्षिण अमेरिका और पश्चिम एशिया में 55 देशों में अपने प्रोजेक्ट चलाए हैं। कंपनी विदेशों में रॉलिंग स्टॉक मुहैया कराने के लिए इंडियन रेलवेज की एकमात्र एक्सपोर्ट कंपनी है। 

 

IPO के बारे में 
राइट्स के आईपीओ के जरिए सरकार अपनी 12 फीसदी हिस्सेदारी या 2.52 करोड़ शेयरों की बिक्री करेगी। आईपीओ 20 जून से 22 जून तक खुला रहेगा। राइट्स की पेड-अप कैपिटल 200 करोड़ रुपए है और अभी सरकार के पास कंपनी की 100 फीसदी हिस्सेदारी है। आईपीओ के लिए प्राइस बैंड 180 से 185 रुपए प्रति शेयर तय किया गया है। इसके जरिए कुल 460 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्‍य है। 

 

कंपनी की फाइनेंशियल स्थिति 
राइट्स पिछले 5 साल से मुनाफे के बिजनेस में है और शेयर होल्डर्स को रेग्युलर डिविडेंड दे रही है। फाइनेंशियल ईयर 2013 से 2017 के बीच कंपनी का रेवेन्यू औसतन  फीसदी सालाना के दर से बढ़ा है। वहीं, इस दौरान नेट प्रॉफिट 11 फीसदी कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट के हिसाब से बढ़ा है। इस दौरान एबटिडा ग्रोथ 13.3 फीसदी रही है। दिसंबर में खत्म हुए 9 महीने में कंपनी का रेवेन्यू 936 करोड़ रुपए और प्रॉफिट 243 करोड़ रुपए रहा है। कंपनी का ऑर्डरबुक पिछले 3 साल में 35.8 फीसदी सालाना के दर से बढ़ा है जो 4500 करोड़ रुपए से ज्यादा का हो चुका है। 

 

निवेश की सलाह
ब्रोकरेज हाउस कोटक सिक्युरिटीज के अनुसार कंपनी का ऑर्डरबुक मजबूत है। वहीं, आईपीओ का वैल्युएशन भी आकर्षक है। निवेशक इसमें पैसा लगा सकते हैं। वहीं, ब्रोकरेज हाउस सेंट्रम वेल्थ के अनुसार कंपनी का ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर है। कंपनी मुनाफे में है। वहीं, आईपीओ का वैल्युएशन बेहतर होने से निवेश किया जा सकता है। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने भी कहा इंफ्रास्ट्रक्चर में बड़ी अपॉर्च्युनिटी से कंपनी को फायदा होगा। कंपनी के फाइनेंशियल्स अच्छे हैं। आईपीओ अट्रैक्टिव वैल्युएशन पर खुल रहा है। 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss