Home » Market » StocksBankrupt Videocon Group sells general insurance arm

जनरल इन्श्योरेंस बिजनेस बेचेगा वीडियोकॉन ग्रुप, डीपी जिंदल ग्रुप और इनाम सिक्युरिटीज के साथ डील

कैश की तंगी से जूझ रही वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज ने जनरल इन्श्योरेंस बिजनेस से बाहर निकलने की घोषणा की है।

1 of

 

मुंबई. कैश की तंगी से जूझ रही वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज ने जनरल इन्श्योरेंस बिजनेस से बाहर निकलने की घोषणा की है। कंपनी ने अपने इस बिजनेस की पूरी हिस्सेदारी डीपी जिंदल ग्रुप और इनाम सिक्युरिटीज को बेचने का फैसला लिया है। हालांकि इस डील में मिलने वाली रकम का खुलासा नहीं किया गया है। वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज को एनसीएलटी में बैंकरप्सी केस का सामना भी करना पड़ रहा है।

 

तीन कंपनियां खरीदेंगी बिजनेस

इस कंपनी का नाम लिबर्टी जनरल इन्श्योरेंस कंपनी है, जिसमें डीपी जिंदल ग्रुप की 26 फीसदी और इनाम सिक्युरिटीज की 25 फीसदी हिस्सेदारी होगी। वहीं बाकी 49 फीसदी हिस्सेदारी फॉरेन पार्टनर लिबर्टी म्युचुअल इन्श्योरेंस ग्रुप के पास होगी, जो एक अमेरिकी कंपनी है।

अमेरिका की इन्श्योरेंस कंपनी ने बीते साल दिसंबर में इस ज्वाइंट वेचंर में अपनी हिस्सेदारी 26 फीसदी से बढ़ाकर 49 फीसदी कर ली थी। कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव और व्होल टाइम डायरेक्टर रूपम अस्थाना ने कहा कि कंपनी ने रिब्रांडिंग के लिए जरूरी रेग्युलेटरी मंजूरियां हासिल कर ली हैं और जल्द ही इसका नाम बदलकर लिबर्टी जनरल इन्श्योरेंस करने के लिए रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज में अप्लाई करेगी।

 

इन्श्योरेंस मार्केट में पोजिशन मजबूत करेगी कंपनी

बोस्टन-मासाच्युएट्स बेस्ड कंपनी लिबर्टी म्युचुअल ने एक बयान में कहा, ‘नई पार्टनरशिप के साथ हम अपना विस्तार करेंगे और जनरल इन्श्योरेंस कैटेगरी में अच्छी क्वालिटी के प्रोडक्ट्स व सर्विसेस देने की अपनी क्षमताओं के साथ  भारत की तेजी से उभरती जनरल इन्श्योरेंस कंपनियों में अपनी पोजिशन मजबूत करेंगे। हम भारतीय बाजार के लिए प्रतिबद्ध हैं।’

 

अच्छी सेवाएं देने के लिए प्रतिबद्ध

इस पार्टनरशिप पर टिप्पणी करते हुए लिबर्टी म्युचुअल के प्रेसिडेंट और सीओओ (ईस्टर्न रीजंस) मैट निकरसन ने कहा, ‘हम बेहतर सेवाएं देने और कंज्यूमर्स की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत में अपने इन्श्योरेंस ज्वाइंट वेंचर को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमें भरोसा है कि वित्तीय तौर पर मजबूत दो लोकल प्रमोटर्स के होने से भारत में कस्टमर्स और डिस्ट्रीब्यूशन पार्टनर्स को ज्यादा तेजी से सर्विसेस देने में मदद मिलेगी। ’

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट