बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksबैंक ऑफ महाराष्‍ट्र का शेयर रिकॉर्ड लो पर, DSK ग्रुप घोटाले में CMD की गिरफ्तारी का असर

बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र का शेयर रिकॉर्ड लो पर, DSK ग्रुप घोटाले में CMD की गिरफ्तारी का असर

डीएसके ग्रुप स्कैम में गिरफ्तारी के बाद गुरुवार को बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र का शेयर अपने रिकॉर्ड लो पर पहुंच गया।

Bank Of Maharashtra stocks down up to 7% at thursday trading

नई दिल्ली. बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र का शेयर गुरुवार को अपने रिकॉर्ड लो पर आ गया। कारोबार के दौरान बैंक का शेयर बीएसई पर 7 फीसदी तक टूटकर 12.50 रुपए प्रति शेयर के भाव पर आ गया। यह शेयर के लिए अबतक का सबसे निचला स्तर है। बुधवार को डीएसके ग्रुप घोटाले में बैंक के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर की गिरफ्तारी हुई थी, जिसके बाद आज शेयर को लेकर सेंटीमेंट निगेटिव बन गए।  

 

 

बुधवार को बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र का शेयर 13.47 रुपए के भाव पर बंद हुआ था। वहीं, गुरूवार को शेयर 12.75 रुपए के भाव पर खुला। कारोबार के दौरान 7 फीसदी तक टूटकर शेयर 12.50 रुपए के भाव पर पहुंच गया। गुरूवार को शेयर के लिए 13.16 रुपए का भाव हाई रहा है। पिछले एक साल में शेयर के भाव में 54 फीसदी की कमी आ चुकी है। 21 जून 2017 को शेयर 29.2 रुपए के भाव पर था जो 20 जून 2018 को 13.47 रुपए के भाव पर बंद हुआ। 

 

3000 करोड़ के फ्रॉड का मामला
3000 करोड़ के DSK ग्रुप लोन डिफॉल्ट मामले में पुणे पुलिस के इकोनॉमिक ऑफेंस विंग ने बुधवार को बड़ा एक्शन किया था। इस मामले में बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के सीईओ एंड एमडी रविंद्र मराठे को अरेस्ट किया गया है। मराठे के अलावा बैंक के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आरके गुप्ता सहित कुछ अन्य अधिकारियों को भी अरेस्ट किया गया है। जिसमें बैंक के पूर्व सीएमडी सुशील मुहनोत भी शामिल हैं। आरोप है कि इन लोगों ने दिवालिया हो चुके डीएसके ग्रुप को गलत तरीके से लोन दिलवाने में मदद की।  

 

इन मामलों में केस दर्ज हुआ
पुणे पुलिस के इकोनॉमिक ऑफेंस विंग ने अरेस्ट किए गए लोगों पर चीटिंग, फोर्जरी, क्रिमिनल कॉन्सिपिरेंसी और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। बैंक के पूर्व सीएमडी सुशील मुहनोत को जयपुर से अरेस्ट किया गया है। पुलिस ने जांच में पाया है कि बैंक ऑफ महाराष्ट्र के सीईओ रविंद्र मराठे समेत बैंक के कई अधिकारियों ने दिवालिया हो चुके बिल्डर डीएस कुलकर्णी को लोन दिलाने में मदद की। रिपोर्ट्स के अनुसार बैंक अधिकारियों को उनके दिवालिए होने की जानकारी थी। 

 

फरवरी में अरेस्ट हुए थे डीएस कुलकर्णी
डीएसके ग्रुप के प्रमुख डीएस कुलकर्णी पुणे बेस्ड बल्डिर हैं, जिन पर 4000 निवेशकों को धोखा देने का आरोप है। डीके और उनकी वाइफ हेमन्ती को इसी साल फरवरी में क्राइम ब्रांच ने अरेस्ट किया था। कुलकर्णी पर बैंक का पैसा न चुकाने और सही समय पर फ्लैट न देने के आरोप थे। कुलकर्णी पर निवेशकों के 230 करोड़ रुपए भी नहीं लौटाने का आरोप है।

 

124 प्रॉपर्टीज अटैच करने के लिए जारी हुआ था नोटिफिकेशन
बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के 2 ऑफिशियल के अलावा जो लोग अरेस्ट हुए हैं, उनमें इनमें डीएसके ग्रुप के सीए सुनील घाटपांडे, इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट के वाइस प्रेसिडेंट राजीव नेवासकर और बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के जोनल मैनेजर नित्यानंद देशपांडे शामिल हैं। पिछले महीने महाराष्‍ट्र सरकार ने कुलकर्णी, उनकी वाइफ और डीएसके ग्रुप के अधिाकारियों से जुड़ी 124 प्रॉपर्टीज, 276 बैंक अकाउंट और 46 व्हीकल्स अटैच करने के लिए नोटिफिकेशन जारी किया था। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट