बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksबैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 56% घटकर 112 करोड़ रहा, ग्रॉस NPA बढ़कर 48 हजार करोड़

बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 56% घटकर 112 करोड़ रहा, ग्रॉस NPA बढ़कर 48 हजार करोड़

फाइनेंशियल ईयर 2018 की तीसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 55.8 फीसदी घट गया है।

बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 56% घटकर 112 करोड़ रहा, ग्रॉस NPA भी बढ़ी - Bank Of Baroda profit down by 56 per cent to 112 cr rs in Q3 2018

नई दिल्ली। फाइनेंशियल ईयर 2018 की तीसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 55.8 फीसदी घट गया है। इस दौरान बैंक को 111.7 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। जबकि पिछले फाइनेंशियल की तीसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 252.6 करोड़ रुपए रहा था। इस दौरान बैंक का बैड लोन बढ़ गया है। 

 

 

ग्रॉस एनपीए बढ़कर 11.31%
तिमाही आधार पर बैंक ऑफ बड़ौदा का ग्रॉस एनपीए 11.16 फीसदी से बढ़कर 11.31 फीसदी रहा है। वहीं, बैंक का नेट एनपीए 5.05 फीसदी से घटकर 4.97 फीसदी रहा है। 
रुपए में बैंक ऑफ बड़ौदा का ग्रॉस एनपीए 46,306.8 करोड़ रुपए से बढ़कर 48480.4 करोड़ रुपए रहा है। वहीं, नेट एनपीए 19572 करोड़ रुपए से बढ़कर 19852 करोड़ रुपए रहा है।

 

SBI को Q3 में 2416 करोड़ का घाटा, ग्रॉस NPA बढ़कर पहुंचा 2 लाख करोड़

 

प्रोविजनिंग बढ़ी 
सालाना आधार पर बैंक ऑफ बड़ौदा की प्रोविजनिंग 2080 करोड़ रुपए से बढ़कर 3426.5 करोड़ रुपए रही है। वहीं, तीसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा की ब्याज आय 40.2 फीसदी बढ़कर 4394 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है। फाइनेंशियल ईयर 2017 की तीसरी तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा की ब्याज आय 3134.5 करोड़ रुपए रही थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट