Home » Market » Stocksबीजेपी की जीत से हो सकता है म्‍युचुअल फंड निवेशकों का फायदा - after BJP victory in gujrat may advantage of mutual fund investors

गुजरात जीत के बाद बढ़ सकता है म्‍युचुअल फंड का रिटर्न, ऐसे मिलेगा फायदा

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की जीत के बाद इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश करने वालों का रिटर्न बढ़ सकता है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की जीत के बाद इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश करने वालों का रिटर्न बढ़ सकता है। मार्केट के जानकारों का कहना है कि BJP सरकार के सामने 2019 के पहले कोई बड़ी चुनौती नहीं है। इस जीत के बाद सरकार सुधार के कुछ बड़े फैसले भी ले सकती है। जिसका असर स्‍टॉक मार्केट पर पॉजिटिव असर पड़ सकता है। स्‍टॉक मार्केट जैसे ही बढ़ेगा इक्विटी म्‍युचुअल फंड का रिटर्न और अच्‍छा हो सकता है। पिछले एक साल में म्‍युचुअल फंड की कई अच्‍छी स्‍कीम्‍स ने 50 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न दिया है।

 

2019 तक बड़ी चुनौती नहीं

च्‍वॉइस ब्रोकिंग के प्रेसीडेंट अजय केजरीवाल के अनुसार 2019 तक स्‍टॉक मार्केट में ऐसा कोई निगेटिव फैक्‍टर नहीं‍ है जिसकी उसे बड़ी चिंता करनी पड़े। यह समय काफी लम्‍बा है जिसमें सरकार काफी काम कर सकती है। वैसे भी अगले साल से GST के स्‍ट्रीमलाइन हो जाने के आसार हैं, जिससे कारोबार तेजी से पटरी पर आ सकता है। इसका फायदा स्‍टॉक मार्केट को मिलेगा, जिसका पॉजिटिव असर इक्विटी म्‍युचुअल फंड पर भी पड़ेगा।

 

केजरीवाल के अनुसार म्‍युचुअल फंड को सेबी के कदम से भी फायदा मिल सकता है। सेबी ने म्‍युचुअल फंड के लिए नए नियम लागू किए हैं। इसके बाद सभी म्‍युचुअल फंड कंपनियों को अपनी स्‍कीम्‍स को नए सिरे से स्‍ट्रीमलाइन करना है। शुरुआत में हो सकता है कि एक-दो महीने की दिक्‍कत हो, लेकिन बाद में स्‍कीम्‍स का प्रदर्शन अच्‍छा रहने की उम्‍मीद है। निवेशकों को भी इसके बाद अच्‍छे फंड छांटने में दिक्‍कत नहीं होगी।

 

 

यह भी पढ़ें : म्‍युचुअल फंड की यह है A B C D, 10 स्टेप्स में समझें कमाई का तरीका

 

 

रिटर्न अच्‍छे रहने की उम्‍मीद

शेयरखान के वाइस प्रेसीडेंट मृदुल कुमार वर्मा के अनुसार अब स्‍टॉक मार्केट में लोग कम से कम 1 साल के हिसाब से अपनी राणनीति बना सकते हैं। स्‍टॉक मार्केट में 1 साल से ज्‍यादा का निवेश अच्‍छा माना जाता है और 2019 तक बाजार में कोई बड़ी दिक्‍कत नजर नहीं आ रही है। इसलिए उम्‍मीद रखी जा सकती है कि म्‍युचुअल फंड में निवेश करने वालों को अच्‍छा रिटर्न मिल सकता है।

 

हालांकि उन्‍होंने कहा कि निवेशकों को इस समय भी इन्‍वेस्‍टमेंट एक बार में करने की जगह कई बार में करना चाहिए। वैसे निवेश के लिए सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) का माध्‍यम सबसे अच्‍छा साबित हो सकता है। अगर किसी को टैक्‍स बचाने के लिए टैक्‍स सेविंग म्‍युचुअल फंड में निवेश करना चाहे तो अभी वित्‍तीय वर्ष में 4 माह बचें हैं। ऐसे में वह जितना भी निवेश करना चाहता है उसे चार हिस्‍से में बांट कर हर माह निवेश कर सकते हैं।

 

अच्‍छा रिटर्न देने वाली टॉप 5 स्‍कीम्‍स

 

म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स

1 साल का रिटर्न

एसबीआई स्‍मॉल एंड मिडकैप फंड (G)

68.8 %

एलएंडटी इमर्जिंग बिजनेस फंड RP (G)

58.5 %

आईडीएफसी स्‍टर्लिंग इक्विटी फंड RP (G)

54.0 %

रिलायंस स्‍मॉल कैप फंड (G)

53.5 %

सुंदरम सिलेक्‍ट माइक्रो कैप  Sr 5-DP (G)

52.5 %

 

नोट : डाटा 18 दिसबंर 2017 का।

 

यह भी पढ़ें : ये है SIP की A B C D, कराती है बहुत फायदा

 

 

आगे पढ़ें : अच्‍छी म्‍युचुअल फंड योजना को छांटने के टिप्‍स

 

 

अच्‍छी म्‍युचुअल फंड योजना को छांटने के टिप्‍स

 

-म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स का कम से कम 3 साल का रिटर्न जरूर देखें।

-स्‍कीम्‍स का आसेट साइज (आसेट अंडर मैनेजमेंट यानी AMU) पर भी नजर डाले। अच्‍छा आसेट साइज निवेश का अच्‍छा संकेत हो सकता है।

-5 साल से ज्‍यादा के लिए निवेश करना हो तो स्‍मॉल या मिड कैप फंड की स्‍कीम पर नजर डालें और अगर 5 साल से कम के लिए निवेश करना हो तो बैलेंस्‍ड या लार्ज कैप फंड पर नजर डालें।

 

 

यह भी पढ़ें : ये है घर बैठे म्‍यूचुअल फंड में निवेश की A B C D, आसान है तरीका

 

 

(नोट-निवेश सलाह ब्रोकरेज हाउस और मार्केट एक्सपर्ट्स के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट