Home » Market » Stocksइंडिगो को 762 करोड़ रुपए का प्रॉफिट-IndiGo Q3 net jumps 56 per cent

इंडिगो को 762 करोड़ रुपए का प्रॉफिट, बेहतर मैनेजमेंट का मिला फायदा

इंटरग्लोब एविएशन ने दिसंबर, 2017 में समाप्त तिमाही के दौरान प्रॉफिट में 56 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की।

1 of

मुंबई. बजट कैरियर इंडिगो की पैरेंट कंपनी इंटरग्लोब एविएशन ने दिसंबर, 2017 में समाप्त तिमाही के दौरान 56 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 762.03 करोड़ रुपए का प्रॉफिट दर्ज किया। कंपनी रेवेन्यू के बेहतर प्रबंधन और मैन्युफैक्चर्स से मिले क्रेडिट अच्छा रिजल्ट देने में कामयाब रही। एविएशन कंपनी ने बीते साल यानी 2016-17 के दिसंबर में समाप्त तिमाही के दौरान 487.25 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ था। अच्छे नतीजों के बाद कंपनी के स्टॉक में अच्छी तेजी दर्ज की गई। बुधवार को इंटरग्लोब एविएशन का स्टॉक लगभग 3.70 फीसदी चढ़कर 1,237.90 रुपए पर बंद हुआ।

 

 

24 फीसदी बढ़ा एविएशन कंपनी का रेवेन्यू

कंपनी ने बुधवार को एक रेग्युलेटरी फाइलिंग में कहा कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही के दौरान उसे 23.94 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 6,177.82 करोड़ रुपए का रेवेन्यू हासिल हुआ, जबकि बीते साल की समान तिमाही में यह आंकड़ा 4,986.49 करोड़ रुपए रहा था।

 

समय से शुरू किया रीजनल ऑपरेशन

इंडिगो के प्रेसिडेंट और व्होल टाइम डायरेक्टर आदित्य घोष ने नतीजों के संबंध में कहा, 'तिमाही के दौरान 760 करोड़ रुपए के प्रॉफिट पर मैं काफी खुश हूं। साथ ही मुझे यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि हमने अपने एटीआर एयरक्राफ्ट के साथ अपने रीजनल ऑपरेशन को शुरू करने का वादा पूरा किया है, जिससे हमारी भारत के कई अन्य शहरों में कनेक्टिविटी सुनिश्चित होगी।

उन्होंने कहा, 'बीती तिमाही हमारे लिए इसलिए भी खास रही थी, क्योंकि हमने 20 करोड़ कस्टमर्स को सफर कराया था और अब हम रोजाना 1 हजार से ज्यादा फ्लाइट्स का परिचालन करते हैं।'

 

कुल खर्च बढ़ा 18 फीसदी

कंपनी ने कहा कि दिसंबर, 2017 में समाप्त क्वार्टर के दौरान हमें 21.8 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 5,332.46 करोड़ रुपए का पैसेंजर टिकट रेवेन्यू हुआ, वहीं एंसिलरी रेवेन्यू 20 फीसदी बढ़कर 700.12 करोड़ रुपए हो गया। हालांकि इस अवधि में कुल खर्च 18 फीसदी बढ़कर 5,378.19 करोड़ रुपए हो गया।

 

फ्यूल व्यय में 20 फीसदी की बढ़ोत्तरी

एयरलाइन का फ्यूल व्यय 20.6 फीसदी बढ़कर 2,016 करोड़ रुपए हो गया, जबकि बीते साल समान तिमाही के दौरान यह आंकड़ा 1,671 करोड़ रुपए रहा था।

चालू वित्त वर्ष के दौरान अक्टूबर और दिसंबर के बीच इंडिगो ने अपने फ्लीट में 12 नए एयरक्राफ्ट जोड़े, जिसे उसके कुल प्लेन्स की संख्या 153 हो गई। इनमें तीन एटीआर भी शामिल हैं।

 

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट