बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksभारतीयों के 1.50 लाख के मुकाबले 30 लाख कमाते हैं फ्रांसीसी, फिर क्‍यों भारत से पिछड़ गया फ्रांस

भारतीयों के 1.50 लाख के मुकाबले 30 लाख कमाते हैं फ्रांसीसी, फिर क्‍यों भारत से पिछड़ गया फ्रांस

10 वर्षों में भारत की Gross Domestic Product 116.3 फीसदी बढ़ी है।

India becomes 6th largest economy but still low in per capita income against France

नई दिल्ली.  हाल ही में फ्रांस को सातवें पायदान पर धकेल भारत दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया। फ्रांस की अर्थव्यवस्था 2017 में 2.58 ट्रिलियन डॉलर थी। वर्ष 2017 के अंत तक भारत का Gross Domestic Product (GDP) 2.597 लाख करोड़ डॉलर रहा। वही फ्रांस की जीडीपी 2.582 लाख करोड़ डॉलर थी। भारत से आगे अब ब्रिटेन, जर्मनी, जापान, चीन और अमेरिका है। भारतीयों के मुकाबले 20 गुना ज्यादा कमाने के बावजूद फ्रांस आर्थिक तौर पर भारत से पिछड़ गया।


भारत से 20 गुना ज्यादा फ्रांस में प्रति व्यक्ति आय

भारत की आबादी इस समय 134 करोड़ है और यह दुनिया की सबसे ज्‍यादा आबादी वाला देश बनने की दिशा में अग्रसर है। फ्रांस की आबादी 6.7 करोड़ है। हालांकि आंकड़ों के अनुसार प्रति व्यक्ति आय के मामले में भारत फ्रांस से कई गुना पीछे है। वर्ल्ड बैंक के मुताबिक, भारत के मुकाबले फ्रांस में प्रति व्यक्ति आमदनी 20 गुना ज्यादा है। भारत में जहां प्रति व्यक्ति आय 1.50 लाख रुपए (2135 डॉलर) है। वहीं फ्रांस में प्रति व्यक्ति आय 30 लाख रुपए (44,934 डॉलर) है। यानी भारतीयों से 20 गुना ज्यादा है फ्रांस के लोगों की इनकम।

 

10 वर्षों में भारत से ऐसे पिछड़ा फ्रांस

आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक के आंकड़े बताते हैं कि एक दशक पहले तक भारत की जीडीपी फ्रांस की तकरीबन आधी थी। पिछले एक दशक में, भारत ने फ्रांस की अर्थव्यवस्था की तुलना में अपने अर्थव्यवस्था के आकार को दोगुना कर दिया है। एक दशक के मुकाबले भारत का सकल घरेलू उत्पाद (GDP) औसत 8.3 फीसदी बढ़ा है। वहीं फ्रांस की जीडीपी में 0.01 फीसदी गिरावट आई है। पिछले 10 वर्षों में भारत की जीडीपी 116.3 फीसदी (2007 में 1.201 ट्रिलियन डॉलर से 2017 में 2.597 ट्रिलियन डॉलर) बढ़ी है। हालांकि फ्रांस की जीडीपी में 2.8 फीसदी (2007 में 2.657 ट्रिलियन डॉलर से 2017 में 2.583 ट्रिलियन डॉलर) की कमी देखी गई है।

 

2032 तक तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है भारत

वर्ल्ड बैंक की ग्लोबल इकोनॉमिक्स प्रॉस्पेक्टस रिपोर्ट के मुताबिक, नोटबंदी और फिर जीएसटी के बाद आई मंदी से भारत की अर्थव्यवस्था उबर रही है। भारत 2032 तक दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है। 2018 में भारत की अर्थव्यवस्था 7.3 फीसदी और 2019 में 7.5 फीसदी की वृद्धि दर से बढ़ सकती है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट