Home » Market » StocksHindustan Unilever Board approves merger of HUL and GlaxoSmithKline Consumer Healthcare

HUL का हुआ हॉर्लिक्स, GSK के भारतीय बिजनेस को 31 हजार Cr. में खरीदने का ऐलान

जीएसके सीएच इंडिया के एक शेयर के बदले मिलेंगे एचयूएल के 4.39 शेयर

Hindustan Unilever Board approves merger of HUL and GlaxoSmithKline Consumer Healthcare

 

नई दिल्ली. हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) के बोर्ड ने सोमवार को कंपनी और ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन कंज्यूमर (GlaxoSmithKline Consumer) हेल्थकेयर लिमिटेड यानी जीएसके के भारतीय बिजनेस के मर्जर को मंजूरी दे दी। हालांकि इसके लिए कंपनी स्टैच्युरी अथॉरिटीज और शेयरहोल्डर्स की मंजूरी लेनी होगी। यह डील लगभग 31700 करोड़ रुपए की हुई है। इस डील में जीएसके के भारतीय बिजनेस का आकलन लगभग 31700 करोड़ रुपए किया गया है।

 

    

जीएसके और एचयूएल का हुआ समझौता

एचयूएल ने इस संबंध में जीएसके सीएच इंडिया के साथ एक डेफनिट एग्रीमेंट किया है। यह डील पूरी तरह इक्विटी मर्जर है, जिसमें जीएसके सीएच इंडिया के एक शेयर के लिए एचयूएल के 4.39 शेयर आवंटित किए जाएंगे।

यह अधिग्रहण हिंदुस्तान यूनिलीवर की हैल्थ और वेलनेस के व्यापक ट्रेंड को भुनाने के लिए भारत में टिकाऊ और प्रॉफिटेबिल फूड्स और रिफ्रेशमेंट (एफएंडआर) बिजनेस तैयार करने की रणनीति के अनुरूप ही है।

 

नई कैटेगरी एचयूएल की बढ़ेगी पैठ

इस मर्जर पर एचयूएल के सीएमडी संजीव मेहता ने कहा, ‘जीएसके सीएच के साथ प्रस्तावित स्ट्रैटजिक मर्जर से हम अपने कंज्यूमर्स की पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए बेहतरीन ब्रांड्स के साथ नई कैटेगरी में अपना विस्तार कर सकेंगे।’

उन्होंने कहा कि अधिग्रहण के बाद कंपनी के एफएंडआर बिजनेस का टर्नओवर बढ़कर 10,000 करोड़ रुपए से ज्यादा हो जाएगा। मेहता ने कहा, ‘हम देश में सबसे बड़े एफएंडआर बिजनेस हो जाएंगे।’

 

एचयूएल में घटेगी यूनिलीवर की हिस्सेदारी

बयान में कहा गया कि जीएसकेसीएच इंडिया का मार्च, 2018 में समाप्त वर्ष के दौरान कुल टर्नओवर 4200 करोड़ रुपए रहा था, जो मुख्य रूप से हॉर्लिक्स और बूस्ट ब्रांड के दम पर संभव हुआ था।

इस मर्जर के बाद एचयूएल के नए शेयर जारी होने से एचयूएल में यूनिलीवर की होल्डिंग 67.2 फीसदी से घटकर 61.90 फीसदी रह जाएगी। इस खबर से बीएसई में एचयूएल का शेयर 4 फीसदी मजबूत होकर 455 रुपए के स्तर पर पहुंच गया।


हॉर्लिक्स और बूस्ट के साथ मार्केट लीडर है जीएसके

जीएसके सीएच इंडिया अपने आइकॉनिक ब्रांड्स हॉर्लिक्स और बूस्ट के साथ एचएफडी कैटेगरी में मार्केट लीडर है। उसके पोर्टफोलियो में शामिल प्रोडक्ट्स में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रीशन होने का दावा किया जाता है। हॉर्लिक्स के साथ इस पोर्टफोलियो का भारत में लंबा इतिहास रहा है और इसे मूल रूप से 1930 के दशक में पेश किया गया था। हॉर्लिक्स कई पीढ़ियों से भारत के घर-घर में अपनी पैठ बनाए हुए हैं।

 

    

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट