Home » Market » StocksHDFC to raise up to Rs 85000 cr through debt

HDFC कर्ज के रूप में जुटाएगी 85 हजार करोड़ रुपए, बोर्ड ने दी मंजूरी

HDFC लिमिटेड कर्ज के रुप में 85 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी। HDFC लिमिटेड के बोर्ड ने सोमवार को इसकी मंजूरी दे दी।

1 of

 

नई दिल्‍ली. HDFC लिमिटेड कर्ज के रूप में 85 हजार करोड़ रुपए जुटाएगी। HDFC लिमिटेड के बोर्ड ने सोमवार को इसकी मंजूरी दे दी।  HDFC ने बीएसई को की गई फाइलिंग में बताया  कि बोर्ड ने प्राइवेट प्लेसमेंट आधार पर 85,000 करोड़ रुपए तक रिडीम करने योग्य नॉन-कॉन्‍वर्टबल डिबेंचर (सिक्‍योर्ड/ अनसिक्‍योर्ड) और हाइब्रिड इंस्‍ट्रयूमेंट के जरिए यह फंड जुटाएगा। 

 

 

केकी मिस्‍त्री दोबारा मैनेजिंग डायरेक्‍टर
बोर्ड ने इसके साथ ही केकी मिस्‍त्री को दोबारा मैनेजिंग डायरेक्‍टर पद के लिए नियुक्‍ति की भी मंजूरी दे दी है। केकी मिस्‍त्री का कार्यकाल तीन साल के लिए है।  HDFC ने अब आगामी 30 जुलाई को निर्धारित एनुअल जनरल मीटिंग में दोनों प्रपोजल के लिए मेंबर्स की मंजूरी मांगी जाएगी। 

 

 

HDFC का मुनाफा बढ़ा 
इससे पहले आज HDFC का फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही के नतीजे आए। इस दौरान HDFC लिमिटेड का मुनाफा 39 फीसदी बढ़ गया है। कंपनी को 2846 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ है। जबकि फाइनेंशियल ईयर 2017 की चौथी तिमाही में एचडीएफसी को 2044 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। वहीं, तिमाही आधार पर कंपनी का मुनाफा 50 फीसदी घट गया है। फाइनेंशियल ईयर 2018 की तीसरी तिमाही में कंपनी को 5666 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था। कंपनी ने 16.50 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड का ऐलान किया है। 

 

 

टैक्स कास्ट घटने का फायदा
कंपनी का कहना है कि टैक्स की घटी कास्ट और 2 सब्सियरी में स्टेक सेल से मुनाफा बढ़ाने में सफल रहे। चौथी तिमाही में कंपनी का टैक्स कास्ट सालाना बेसिस पर 25 फीसदी घटकर 671 करोड़ रुपए रहा। 

 

 

प्रोविजीनिंग में 90% इजाफा
चौथी तिमाही के दौरान कंपनी के प्रोविजीनिंग में करीब 90 फीसदी की इजाफा हुआ है। इस दौरान प्रोविजीनिंग 95 करोड़ रुपए से बढ़कर 180 करोड़ रुपए हो गया। कंपनी ने फाइनेंशियल ईयर 2018 के लिए 16.50 रुपए प्रति शेयर डिविडेंड देने का ऐलान किया है। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट