बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocks7.75% ब्‍याज देने की तैयारी में सरकार, हर महीने अकाउंट में आएगा ब्‍याज

7.75% ब्‍याज देने की तैयारी में सरकार, हर महीने अकाउंट में आएगा ब्‍याज

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) 7.5 फीसदी और 7.75 ब्‍याज देने वाले बॉण्‍ड जारी करने जा रही है।

1 of
 
नई दिल्‍ली. नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) 7.5 फीसदी और 7.75 ब्‍याज देने वाले बॉण्‍ड जारी करने जा रही है। इस बात की जानकारी शुक्रवार को रोड एंड ट्रांसपोर्ट मंत्री नितिन गडकरी ने दी। उन्‍होंने बताया कि आम लोगाें को थोड़ा ज्‍यादा ब्‍याज के लालच में चिटफंड कंपनियों निवेश नहीं करना चाहिए। उन्‍होंने बताया कि यह बाॅण्‍ड 10 साल तक फिक्‍स ब्‍याज देंगे और लोगों को हर माह ब्‍याज उनके बैंक खाते में डाल दिया जाएगा।

 
 
क्‍या है योजना
गडकरी के अनुसार वह आमलोगों को गरीबों से पैसा एकत्र उन्‍हें ज्‍यादा ब्‍याज देने की तैयारी में है। यह पैसा सड़क बनाने की योजनाओं पर खर्च किया जाएगा। योजना के तहत आमलोगों को 7.5 फीसदी ब्‍याज दिया जाएगा। इसके अलावा महिलाओं, 60 साल के ज्‍यादा उम्र के लोगों को डिफेंस कर्मचारियों को 7.75 फीसदी ब्‍याज देंगे। यह बॉण्‍ड 10 साल के होंगे। इनका ब्‍याज पैसा लगाने वालों के बैंक खाते में हर माह डाल दिया जाएगा।
 
ट्रिपल AAA रेटिंग बॉण्‍ड होंगे
गडकरी ने बताया कि यह NHAI के यह बाॅण्‍ड AAA रेटिंग के होंगे। जिससे इसमें निवेश की सुरक्षा मिलेगी। उन्‍होंने कहा कि इस वक्‍त बैंकों में 6 फीसदी के आसपास ब्‍याज मिल रहा है। ऐसे में यह बॉण्‍ड आमलोगों को ज्‍यादा दिलाने में सफल होंगे। वहीं आमलोगों के पैसों से देश में सड़कों का जाल फैलाना आसान होगा। सड़क की इन योजनाआें पर करीब 7.5 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाना है।
 
 
मूडीज ने बढ़ाई है NHAI की रेटिंग
इस साल शुरुआत में मूडीज ने NHAI की रेटिंग बढ़ाई थी। बाद में मूडीज ने भारत की सॉरवेन रे‍टिंग भी बढ़ा दी थी। मूडीज का कहना था कि सरकार और अथॉरिटी में नजदीकी वित्‍तीय रिश्‍ता है। जो कंपनी को मजबूती देता है।  इससे पहले CRISIL ने अथॉरिटी की कई सड़क परियोजनाआें को रिस्‍की घोषित किया था। एक समय CRISIL के हिसाब से अथॉरिटी के 53 फीसदी प्रोजेक्‍ट रिस्‍की थे जो अब घटर कर 21 फीसदी रह गए हैं।
 
 
आगे पढ़ें : कारोबार का मौका मिल रहा
 
 
 
देश में 22 लाख ड्राइवरों की कमी
गडकरी ने बताया कि देश में इस वक्‍त 22 लाख ड्राइवरों की कमी है। उनके अनुसार देश में 1 लाख ड्राइवर ट्रेनिंग सेंटर्स की भी कमी है। उन्‍होंने बताया कि राज्‍यों के सहयोंग से वह इनको ट्रेनिंग सेंटर स्‍थापित करने का प्रयास कर रहे हैं, जिससे लाखों लोगों को काम मिल सकेगा। उन्‍होंने कहा कि उनके विभाग ने हर उस योजना में स्किल डेवलपमेंट को जरूरी बना दिया है जो 100 करोड़ रुपए से ज्‍यादा की हैं। इससे उन्‍हें उम्‍मीद है कि 2 करोड़ जॉब्‍स पैदा होंगे।

 

 

यह भी पढ़ें : पूरा होगा घर-गाड़ी का सपना, इस तरह शुरू करें सेविंग

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट