बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksPNB फ्रॉड: गीतांजलि जेम्स में लगातार चौथे दिन गिरावट, स्टॉक 10% टूटा

PNB फ्रॉड: गीतांजलि जेम्स में लगातार चौथे दिन गिरावट, स्टॉक 10% टूटा

सोमवार के कारोबार में बीएसई पर स्टॉक 10 फीसदी गिरकर 33.80 रुपए के भाव पर आ गया।

गीतांजलि जेम्स में लगातार चौथे दिन गिरावट, स्टॉक 10% टूटा

नई दिल्ली.  पीएनबी में हुए 11,400 करोड़ रुपए के फ्रॉड गीतांजलि जेम्स के प्रमोटर मेहुल चौकसी भी शामिल है। पीएनबी फ्रॉड में गीतांजलि जेम्स का नाम आने से लगातार चार दिनों से कंपनी के स्टॉक्स में गिरावट जारी है। सोमवार के कारोबार में बीएसई पर स्टॉक 10 फीसदी गिरकर 33.80 रुपए के भाव पर आ गया।

 

4 दिन में निवेशकों के डूबे 344 करोड़

गीतांजलि जेम्स लिमिटेड का स्टॉक 46% टूट चुका है। स्टॉक्स में गिरावट से तीन चार में निवेशकों के 344 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

 

यह भी पढ़ें- पीएनबी से बड़ा झटका लोगों को दे गए ये मामा-भांजा, 4 लाख करोड़ डुबाए

 

अन्य ज्वैलरी स्टॉक्स भी गिरे

गीतांजलि जेम्स के अलावा अन्य ज्वैलरी शेयरों में भी कमजोरी दिख रही है। टीबीजेड में 3.80 फीसदी, थांमलेई ज्वैलरी में 1.84 फीसदी और पीसी ज्वेलर में 1.42 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

 

कैसे सामने आया PNB फ्रॉड?

- पंजाब नेशनल बैंक ने बुधवार को स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई को बताया कि उसने 1.8 अरब डॉलर (करीब 11,356 करोड़ रुपए) का संदिग्‍ध ट्रांजैक्‍शन पकड़ा है।
- इस घोटाले की शुरुआत 2011 से हुई। 7 साल में हजारों करोड़ की रकम फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई।
- बैंक के अनुसार, ऐसा लगता है कि इन ट्रांजैक्‍शन के आधार पर विदेश में कुछ बैंकों ने उन्हें (चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को) कर्ज दिया है। ये अकाउंट्स कितने थे, कितने लोगों को फायदा हुआ? इस बारे में अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। 
- इस पूरे फ्रॉड को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) के जरिए अंजाम दिया गया। यह एक तरह की गारंटी होती है, जिसके आधार पर दूसरे बैंक अकाउंटहोल्डर को पैसा मुहैया करा देते हैं। अब यदि अकाउंटहोल्डर डिफॉल्ट कर जाता है तो एलओयू मुहैया कराने वाले बैंक की यह जिम्मेदारी होती है कि वह संबंधित बैंक को बकाये का भुगतान करे।

 

घोटाले में कौन-कौन हैं आरोपी ?

- हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि ग्रुप्स के मालिक मेहुल चौकसी इस घोटाले के मुख्‍य आरोपी हैं। इन दोनों ने गोकुलनाथ शेट्टी के साथ मिलकर इस घोटाले को अंजाम दिया।
- 280 करोड़ के फ्रॉड केस में ED ने नीरव मोदी की पत्नी आमी, भाई निशाल, मेहुल चीनूभाई चौकसी, डायमंड कंपनी के सभी पार्टनर्स, सोलर एक्सपर्ट्स, स्टेलर डायमंड और बैंक के दो अफसरों गोकुलनाथ शेट्टी (अब रिटायर्ड) और मनोज खरात के खिलाफ केस दर्ज किया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट