बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksगीतांजलि जेम्स में लगा 5% का लोअर सर्किट, 13 दिन में 70% टूटा स्टॉक

गीतांजलि जेम्स में लगा 5% का लोअर सर्किट, 13 दिन में 70% टूटा स्टॉक

गीतांजलि जेम्स के स्टॉक में लगातार 13 दिनों से गिरावट जारी है।

1 of

नई दिल्ली.  गीतांजलि जेम्स के स्टॉक में लगातार 13 दिनों से गिरावट जारी है। अरबपति ज्वैलर्स नीरव मोदी और मेहुल चौकसी द्वारा पीएनबी को 12,636 करोड़ रुपए का चूना लगाए के आरोप में सीबीआई ने इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। सीबीआई की गिरफ्तारी की खबर से सोमवार को गीतांजलि जेम्स में 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगा। स्टॉक में गिरावट से 13 दिनों में निवेशकों के 516.57 करोड़ रुपए डूब गए हैं।

 

सीबीआई ने नीरव मोदी ग्रुप ऑफ कंपनी के 2 कर्मचारी और एक ऑडिटर को गिरफ्तार किया है, जबकि गीतांजलि ग्रुप ऑफ कंपनी के डायरेक्टर को सीबीआई ने कस्टडी में लिया है।

 

13 दिन में 70% टूटा स्टॉक

- घोटाले में शामिल कंपनियों पर सीबीआई की गिरती गाज से कारोबार में गीतांजिल जेम्स के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिली। सोमवार को बीएसई पर स्टॉक 5 फीसदी टूटकर 19.30 रुपए के निचले स्तर पर आ गया, जो 52 हफ्ते का लो लेवल है।
- 14 फरवरी को पीएनबी का घोटाला उजागर होने के बाद गीतांजलि जेम्स के स्टॉक्स में गिरावट जारी है। 13 दिनों में स्टॉक 70 फीसदी टूटा है।

निवेशकों के डूबे 500 करोड़ रु

- गीतांजलि जेम्स के स्टॉक्स में गिरावट से इसमें निवेशकों को 516.57 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

 

क्या है पीएनबी घोटाला?
- पीएनबी ने पिछले दिनों सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,421 करोड़ रुपए के घोटाले के जानकारी दी। घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। 2011 से 2018 के बीच हजारों करोड़ की रकम 297 फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई।
- पीएनबी ने हाल ही में सीबीआई को बैंक में 1,251 करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी। यह मेहुल चौकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स से जुड़ा है। इस तरह पीएनबी फ्रॉड 11,421 से बढ़कर 12,672 करोड़ हो गया है।

 

अब तक क्या कार्रवाई हुई?
- पीएनबी घोटाले में ईडी ने देशभर में गीतांजलि ज्वेलर्स के शोरूम में छापेमारी की। इस दौरान 22 करोड़ रुपए की ज्वेलरी जब्त हुई और कई हजार करोड़ की प्रॉपर्टी अटैच की गई। 
- वहीं, नीरव मोदी से जुड़ी 6,393 करोड़ से ज्यादा की प्रॉपर्टी जब्त की जा चुकी है। नीरव और चौकसी के ठिकानों से जब्त हुई ज्वेलरी और प्रॉपर्टी का वैल्यूएशन कराया जा रहा है।
- इस मामले में अब तक 14 लोगों को अरेस्ट किया गया। इनमें 6 बैंक अफसर और अन्य स्टाफ है।

 

आगे पढ़ें- नीरव के कहने पर जारी कि‍या गलत एलओयू 

सीबीआई का दावा है कि यशवंत ने नीरव मोदी के कहने पर गलत एलओयू जारी किए। जांच एजेंसी ने बताया कि घोटाले में गिरफ्तार किए गए एक और आरोपी पीएनबी के स्केल 1 ऑफिसर प्रफुल सावंत ने जानबूझ के SWIFT मैसेज को नजरअंदाज किया था। देश के दूसरे सबसे बड़े बैंक पीएनबी ने मुख्य रूप से 2 निम्न स्तर के कर्मचारियों पर LoU जारी कर नीरव को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया है। हालांकि सीबीआई ने इससे आगे बढ़ते हुए 2 आंतरिक ऑडिटर्स को भी गिरफ्तार किया है।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट