Home » Market » StocksFPIs remain in sell-off mode; pull out Rs 9,300-cr in just 4 sessions

FPI की निकासी जारी, सिर्फ 4 दिन में 9300 करोड़ रुपए निकाले

FPI की ओर से निकासी की अहम वजह क्रूड की कीमतों में तेजी और रुपए में गिरावट रही।

FPIs remain in sell-off mode; pull out Rs 9,300-cr in just 4 sessions

नई दिल्ली।  फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPIs) ने पिछले चार ट्रेडिंग सेशन में इंडियन कैपिटल मार्केट से 9,300 करोड़ रुपए (130 करोड़ डॉलर) निकाले। FPI की ओर से निकासी की अहम वजह क्रूड की कीमतों में तेजी और रुपए में गिरावट रही। इससे पहले पिछले महीने विदेशी निवेशकों ने शेयर और डेट मार्केट से 21,000 करोड़ रुपए से अधिक की निकासी की। इससे पहले जुलाई-अगस्त के दौरान निवेशकों ने 7,400 करोड़ रुपए का निवेश किया था। 

 

विदेशी निवेशकों की बिकवाली जारी

डिपॉजिटरी आंकड़ों के मुताबिक, फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPIs) ने 1 से 5 अक्टूबर के दौरान शेयर बाजार से 7,094 करोड़ रुपए की निकासी की और डेट मार्केट से 2,261 करोड़ रुपए रुपए निकाले। इस प्रकार, निवेशकों ने कुल 9,355 करोड़ रुपए की निकासी की।

 

निकासी की वजह-

 

क्रूड की कीमतों और अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड्स में बढ़ोतरी

 

बजाज कैपिटल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट एंड हेड इन्वेस्टमेंट एनालिस्ट अलोक अग्रवाल ने कहा, क्रू़ड ऑयल की कीमतों और अमेरिकी ट्रेजरी यील्ड्स में बढ़ोतरी और ग्लोबल स्तर पर डॉलर लिक्विडिटी की तंग स्थिति FPI निकासी की प्रमुख वजह रही। इसके चलते करेंसी, बॉन्ड और शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखा गया।

अग्रवाल ने कहा, हालांकि, यह बात ध्यान रखने वाली है कि सभी उभरते हुए बाजारों में इसी तरह की स्थिति है। यह सिर्फ भारत तक सीमित नहीं है। वास्तव में भारत पर इसका ज्यादा असर पड़ा क्योंकि वह अपने पेट्रोलियम जरूरतों के लिए इम्पोर्ट पर निर्भर है। IL&FS द्वारा कर्ज चूक ने गिरावट पर और दबाव डाला।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट