Home » Market » StocksFPIs selling spree continues, withdraw Rs 1200 crore from debt markets

FPI ने बॉन्ड मार्केट से निकाले 1200 करोड़, इक्विटी में निवेश किए 592 करोड़

ताजा बिकवाली से पहले FPI ने 5 महीनों (फरवरी से जुलाई) में बॉन्ड मार्केट से करीब 50 हजार करोड़ रुपए निकाले हैं।

FPIs selling spree continues, withdraw Rs 1200 crore from debt markets

नई दिल्ली.  फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPI) ने जुलाई महीने के पहले दो हफ्ते में घरेलू Debt Market से 1,200 करोड़ रुपए की निकासी की है। हायर फ्यूल प्राइस और यूएस फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी की संभावनाओं इसकी मुख्य वजह रही। ताजा बिकवाली से पहले FPI ने पांच महीनों (फरवरी से जुलाई) में बॉन्ड मार्केट से करीब 50 हजार करोड़ रुपए निकाले हैं। इससे पहले जनवरी में उन्होंने 8,500 करोड़ रुपए निवेश किये थे। डिपॉजिटरी डाटा के मुताबिक, 2 जुलाई से 23 जुलाई तक FPI ने बॉन्ड मार्केट से 1,190 करोड़ रुपए की निकासी की है।

 

तेल की अधिक कीमतें निकासी की मुख्य वजह

मॉर्निंगस्टार के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट, मैनेजर रिसर्च हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, घरेलू डेट मार्केट में एफपीआई की बिकवाली की मुख्य वजह तेल की अधिक कीमतें हैं जिससे निवेशकों में इंफ्लेशन के और बढ़ने की आशंका है। इससे देश का करंट अकांउट डेफिसिट बढ़ सकता है और रुपए पर दबाव बढ़ सकता है। रुपया इस साल जनवरी के अंत से अब तक करीब 8 फीसदी गिर चुका है।

 

इक्विटी में निवेश किए 592 करोड़ रु

इसके उटल, इस दौरान फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स ने इक्विटी में 592 करोड़ रुपए निवेश किए हैं। पिछले तीन महीने से लगातार बिकवाली के दौरान एफपीआई ने इक्विटी मार्केट से 20,000 करोड़ रुपए निकाले हैं। हालांकि जुलाई में इक्विटी मार्केट में 592 करोड़ रुपए के निवेश से थोड़ी राहत मिली है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट