Home » Market » StocksStock Market: FPI की बिकवाली जारी, मई में बाजार से निकाले 26700 करोड़ रु

Stock Market: FPI की बिकवाली जारी, मई में बाजार से निकाले 26700 करोड़ रु

FPI ने मई महीने में अभी तक भारतीय कैपिटल मार्केट से 26,700 करोड़ रुपए निकाले चुके हैं।

1 of

नई दिल्ली.  फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPI) की घरेलू शेयर बाजार में बिकवाली का सिलसिला जारी है। FPI ने मई महीने में अभी तक भारतीय कैपिटल मार्केट से 26,700 करोड़ रुपए निकाले चुके हैं। एफपीआई की ओर से इस निकासी की अहम वजह ग्लोबल स्तर पर   क्रूड कीमतों में तेजी रही है। इससे पहले, अप्रैल महीने में एफपीआई ने कैपिटल मार्केट (इक्विटी और डेट) से 15,500 करोड़ रुपए निकाले थे, जो 16 महीने में सबसे तेज निकासी थी।

 

क्या कहते हैं आंकड़े

डिपॉजिटरी डाटा के मुताबिक, फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPI) ने 2 से 25 मई के दौरान इक्विटी से 7,819 करोड़ रुपए जबकि डेट मार्केट से 18,950 करोड़ रुपए निकाले हैं। इस तरह सिर्फ 19 ट्रेडिंग सेशन में कुल मिलाकर 26,769 करोड़ रुपए (400 करोड़ डॉलर) की निकासी हुई।

 

 

इकोनॉमिक ग्रोथ पर पड़ेगा असर

ग्रो के सीओओ हर्ष जैन का कहना है कि फॉरेन इन्वेस्टर्स द्वारा बाजार से निकासी की मुख्य वजह क्रूड की कीमतों में उछाल है। इससे भारत सहित सभी ऑयल इम्पोर्ट्स इकोनॉमी पर असर पड़ेगा और सीएडी, फिस्कल डेफिसिट, इम्पोर्टेड इंफ्लेशन पर प्रतिकूल प्रभाव डालेगा जो इकोनॉमिक ग्रोथ के लिए हेडविंड बनेगा।

इसके अलावा, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा नॉर्थ कोरिया के लीडर किम जोंग उन के साथ बैठक प्लान को रद्द करने और ऑटो इम्पोर्ट्स पर टैरिफ लगाने की धमकी से निवेशक चिंतित हुए हैं। वहीं एफपीआई ने कर्नाटक चुनाव से पहले मुनाफावसूली शुरू की, जो 2019 के बड़े चुनाव परिणामों के लिए एक महत्वपूर्ण इंडिकेटर था। इस साल अभी तक, एफपीआई ने इक्विटी में 3,600 करोड़ रुपए से ज्यादा निवेश किए हैं जबकि डेट मार्केट से करीब 24,000 करोड़ रुपए निकाले हैं।

 

यह भी पढ़ें- Stock Market: टॉप 5 कंपनियों में निवेशकों ने कमाए 53133 करोड़, SBI में सबसे ज्यादा फायदा

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss