बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksFPI ने 6 ट्रेडिंग सेशन में इक्विटी से निकाले 6000 करोड़, इमर्जिंग मार्केट में अवसर का असर

FPI ने 6 ट्रेडिंग सेशन में इक्विटी से निकाले 6000 करोड़, इमर्जिंग मार्केट में अवसर का असर

मार्च महीने के सिर्फ 6 ट्रेडिंग सेशन में फॉरेन इन्वेस्टर्स ने भारतीय शेयर बाजार से 6,000 करोड़ रुपए निकाले हैं।

1 of

नई दिल्ली.  भारतीय शेयर बाजार से फॉरेन इन्वेस्टर्स की निकासी का सिलसिला जारी है। मार्च महीने के सिर्फ 6 ट्रेडिंग सेशन में फॉरेन इन्वेस्टर्स ने भारतीय शेयर बाजार से 6,000 करोड़ रुपए निकाले हैं। इमर्जिंग मार्केट में बेहतर अवसर मिलने से फॉरेन इन्वेस्टर्स पैसे निकाल रहे है। 

 

 

इक्विटी से निकाले 2410 करोड़ रु

डिपॉजिटरी डाटा के मुताबिक, फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (एफपीआई) ने 1 से 9 मार्च के बीच इक्विटी से 2410 करोड़ रुपए, जबकि डेट मार्केट से 3473 करोड़ रुपए निकाले हैं। पिछले महीने एफपीआई ने घरेलू मार्केट से 11,000 रुपए की निकासी की थी।

 


एक्सपर्ट्स की राय

- ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट प्लेटफॉर्म ग्रो के को-फाउंड और सीओओ हर्ष जैन का कहना है कि फेडरल रिजर्व द्वारा रेट में बढ़ोतरी की आशंका से यूएस डॉलर की डिमांग में बढ़ोतरी इंडियन मार्केट से एफपीआई आउटफ्लो की एक वजह है। इसके अलावा इमर्जिंग मार्केट में बेहतर अवसर मिलने से फॉरेन इन्वेस्टर्स भारतीय मार्केट से निकल रहे हैं।

- मॉनर्निंगस्टार इन्वेस्टमेंट एडवाइजर इंडिया के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट के मुताबिक, फरवरी महीने एफपीआई के लिए न ही ग्लोबल औऱ न ही डोमेस्टिक मार्केट बेहतर रहा। एक फरवरी को पेश हुए बजट में इक्विटी इन्वेस्टमेंट पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स (एलटीसीजी) लगाया जाना मार्केट के लिए पहला घातक फैसला रहा। दूसरी वजह ग्लोबल सेल ऑफ रहा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट