Home » Market » StocksFortuna PR files insolvency case against Anil Ambani group company reliance communication

करोड़ों तो दूर लाखों भी नहीं चुका पा रहे अनिल अंबानी, पीछे पड़ गई यह कंपनी

45 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्ज में डूबे अनिल अंबानी की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं।

1 of

मुंबई. 45 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्ज में डूबे अनिल अंबानी की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। अभी तक अंबानी कई बैंकों के करोड़ों और अरबों के कर्ज चुकाने में नाकाम हो रहे थे, लेकिन उनके लिए लाखों रुपए चुकाना भी मुश्किल हो रहा है। ऐसे ही मामले में एक कंपनी अपने लाखों रुपए के बकाये को लेकर उनके पीछे पड़ गई है और अंबानी की प्रमुख कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन (आरकॉम) को दिवालिया घोषित करने के लिए आवेदन किया है।

 

यह भी पढ़ें-डूबने की कगार पर है कंपनी, फिर भी रातों रात बढ़ी 1200 करोड़ की दौलत
 

 

इस कंपनी के हैं 45 लाख बकाया

दरअसल यह पीआर कंपनी फॉर्च्यूना पब्लिक रिलेशंस (पीआर) से जुड़ा मामला है, जो अपने 45 लाख रुपए के बकाये को लेकर अनिल अंबानी की कंपनी आरकॉम को दिवालिया घोषित करने की मांग की है। पीआर कंपनी ने घाटे में चल रही आरकॉम को डिफॉल्टर घोषित करने की मांग की है।

फॉर्च्यूना ने सोमवार को इस संबंध में एनसीएलटी की मुंबई बेंच के सामने अपनी डिमांड रखते हुए कहा कि आरकॉम पर उसके 43 लाख रुपए बकाया है। एनसीएलटी इस मामले की सुनवाई 19 दिसंबर को करेगा।

 

 

यह भी पढ़ें-अब अंबानी की कंपनी के पीछे पड़ा चीन, अरबों का है खेल... 
 

 

चौथी कंपनी ने की Rcom को दिवालिया घोषित करने की मांग

इस प्रकार फॉर्च्यूना ऐसी चौथी कंपनी बन गई है, जिसने आरकॉम को दिवालिया घोषित करने की मांग की है। इससे पहले चीन के चाइना डेवलपमेंट बैंक, मणिपाल टेक्नोलॉजिज और इरिक्सन एबी की इंडियन यूनिट ने ऐसी डिमांड की थी। इस संबंध में आरकॉम से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।

 

आगे भी पढ़ें

 

कंपनी पर 45,000 करोड़ का कर्ज

आरकॉम पर कुल 45,000 करोड़ रुपए का कर्ज है। इसमें से 25,000 करोड़ डोमेस्टिक जबकि 20000 करोड़ का कर्ज फॉरेन लोन और बॉन्ड के रूप में है।

 

आगे भी पढ़ें

डिफॉल्‍टर की कैटेगरी में आ गई

रिलायंस कम्‍युनिकेशन डिफॉल्‍टर की कैटेगरी में आ गई है। दरअसल, कंपनी पर आरोप है कि वह 2020 तक के वास्ते डॉलर में लिए गए कर्ज की किस्त देने में नाकाम रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक इस किस्त की एक्सपायरी सोमवार को थी।

 

 

यह भी पढ़ें : पहली सैलरी से बनाएं 1 लाख का फंड, ये हैं 3 बेस्ट ऑप्शन

 

 

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट