बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksऐसे करें करेले की खेती, प्रति एकड़ होगी 60 हजार रु की इनकम

ऐसे करें करेले की खेती, प्रति एकड़ होगी 60 हजार रु की इनकम

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान ने करेले की एक ऐसी कि‍स्‍म तैयार की है, जि‍समें 15 दिन पहले फल लग जाते हैं।

1 of

नई दिल्ली.  खेतीबाड़ी से जुड़े लोगों के लिए अच्छी खबर है। भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (आईएआरआई) ने करेले की एक ऐसी कि‍स्‍म तैयार की है, जि‍समें 15 दिन पहले फल लग जाते हैं। यही नहीं, इसका उत्पादन भी 20 से 30 फीसदी अधिक है। इस करेले की नई किस्म का नाम पूसा हाईब्रिड-4 है। वैज्ञानिकों का दावा है कि एक एकड़ में इसकी खेती से 50 से 60 हजार रुपए की इनकम हो सकती है।

 

क्या खासियत है मेडिकल करेले की

 

कृषि वैज्ञानिकों ने करेले की एक ऐसी संकर किस्म का विकास किया है जो डायबिटीज  को नियंत्रित करने में और अधिक कारगर सिद्ध होगी। पूसा हाईब्रिड -4 में पारांटिन, मोमोडीसीन और सपोनीन जैसे तत्व पाए जाते हैं जो इसे मधुमेहरोधी बनाता है।

 

 

आगे पढ़ें- कितने दिन में तैयार होगा फल

 

यह भी पढ़ें- सऊदी अरब में अब इन जगहों पर काम नहीं कर पाएंगे भारतीय, ये है वजह

 

15 दिन पहले तैयार होगा फल

 

आमतौर पर करेले की फसल में 55 से 60 दिनों में फल आने शुरू होते हैं जबकि नयी किस्म में 45 दिन में फल लग जाते हैं। इसके साथ ही इसकी पैदावार भी 20 से 30 प्रतिशत अधिक है। गहरे हरे रंग का यह करेला मध्यम लम्बाई और मोटाई का है जिसका औसत वजन 60 ग्राम होता है। इसकी पैदावार प्रति हेक्टेयर 22 टन से अधिक है।

 

आगे पढ़ें- साल में कितने बार लगाएं

साल में दो बार लगाएं

 

नयी किस्म दो बार फरवरी के अंत और मार्च में और अगस्त व सितंबर के दौरान लगायी जाती है। लगभग चार माह तक इसमें फल लगते हैं। करेले की यह एक ऐसी किस्म है जिससे जमीन और मचान पर भी भरपूर पैदावार ली जा सकती है।

 

किन देशों में होता है एक्सपोर्ट

देश से जिन सब्जियों का एक्सपोर्ट किया जाता है उनमें करेला भी शामिल है। खाड़ी के देशों में भारतीय करेले की अच्छी मांग है। इसके अलावा कुछ अन्य देशों में भी इसकी मांग है। देश के सभी प्रमुख सब्जी उत्पादक राज्यों में करेले की खेती की जाती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss