Home » Market » StocksLong time tax planning takes a lot of profits

अप्रैल में ऐसे करें टैक्‍स प्‍लानिंग, आपके पास होंगे 4 करोड़ रुपए

सभी लोग टैक्‍स प्‍लानिंग करते हैं, लेकिन सही तरीके से न करने के चलते इसका पूरा फायदा नहीं मिल पाता है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. सभी लोग टैक्‍स प्‍लानिंग करते हैं, लेकिन सही तरीके से न करने के चलते इसका पूरा फायदा नहीं मिल पाता है। अगर सही तरीके से टैक्‍स प्‍लानिंग की जाए तो आपके पास सिर्फ टैक्‍स बचाते बचाते अंत में 4 करोड़ रुपए से ज्‍यादा होगा। देश में इनकम टैक्‍स बचाने के कई तरीके हैं, जिनमें बैंक से लेकर पोस्‍ट ऑफिस और म्‍युचुअल फंड शामिल हैं।

 

कौन सा है सही तरीका

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार इनकम टैक्‍स बचाने का एक तरीका म्‍युचुअल फंड के इक्विटी लिंक म्‍युचुअल फंड (ELSS) भी हैं। यह फंड सामान्‍य इक्विटी फंड की तरह ही होते हैं, लेकिन इनमें तीन साल का लॉकइन होता है। जो भी निवेशक इन फंड में पैसा लगाता है वह 3 साल के बाद ही इसे निकाल सकता है। यह तीन साल का लॉकइन ही फंड मैनेजर्स के लिए वरदान की तरह ही होता है। फंड मैनेजर्स को पता होता है कि निवेशक तीन साल तक पैसा वापस नहीं मांगेंगे तो वह इस पैसे को लम्‍बे समय के नजरिए से निवेश करते हैं, जिससे अक्‍सर रिटर्न थोड़ा ज्‍यादा मिल जाता है।

 

कैसे करें टैक्‍स प्‍लानिंग

इनकम टैक्‍स नियमों के अनुसार 1.5 लाख रुपए तक का निवेश 80C के तहत करके इनकम टैक्‍स की छूट पाई जा सकती है। अगर महीने के हिसाब से इसे बांटे तो 12500 रुपए होता है। अगर इस पैसे का निवेश इनकम टैक्‍स बचाने वाले म्‍युचुअल फंड में किया जाए तो 4 करोड़ रुपए का फंड तैयार किया जा सकता है।

 

कितने साल करना होगा निवेश

आमतौर पर लोगों की नौकरी 30 साल तक चलती है। इसलिए अगर यह निवेश 30 साल तक किया जाए तो 4 करोड़ रुपए का फंड तैयार हो सकता है।

 

कैसे बढ़ेगा पैसा

-12500 रुपए महीने का शुरू करें किसी अच्‍छे टैक्‍स सेविंग म्‍युचुअल फंड में

-12 फीसदी औसतन मिले रिटर्न

-30 साल तक जारी रखें यह निवेश

-4 करोड़ रुपए का तैयार हो जाएगा फंड

 

जानें अच्‍छा रिटर्न देने वाले टैक्‍स सेविंग फंड

 

म्‍युचुअल फंड स्‍कीम

1 साल का रिटर्न

3 साल का रिटर्न

मोतीलाल ओसवाल लॉग टर्म इक्विटी (G)

22.8 फीसदी

20.6 फीसदी

एलएंडटी टैक्‍स सेवर फंड (G)    

15.5 फीसदी

15.8 फीसदी

एस्‍कोर्ट्स टैक्‍स प्‍लान Direct (G)

13.5 फीसदी

15.5 फीसदी

प्रिसिपल टैक्‍स सेविंग - Direct    

18.3 फीसदी

14.9 फीसदी

एलएंडटी टैक्‍स एडवांटेज -Direct (G)

19.0 फीसदी

14.6 फीसदी

 

 

नोट : एक साल का रिटर्न वार्षिक और 3 साल का रिटर्न कंपाउंड एनुअल ग्रोथ रेट (CAGR) में।

डाटा 2 अप्रैल 2018 का।

 

 

यह भी पढ़ें : बड़े काम का है टैक्स सेविंग म्युचुअल फंड, जानें निवेश की A B C D

 

 

आगे पढ़ें : किन सावधानियों पर रखें नजर

 

 

 

निवेश में सावधानियां

शेयरखान के वाइस प्रेसीडेंट मृदुल कुमार वर्मा के अनुसार म्‍युचुअल फंड में हर माह निवेश का तरीका सबसे सुरक्षित और अच्‍छा रिटर्न देने वाला तरीका है। उनके अनुसार अगर स्‍टॉक मार्केट में इतनी गिरावट के बाद भी किसी भी टैक्‍स सेविंग म्‍युचुअल का रिटर्न आज की तारीख में निगेटिव नहीं है। ऐसे निवेश जितना दिनों तक जारी रहते हैं निवेशक को उतना ही अच्‍छा रिटर्न मिलता है। 5 साल का अगर टैक्‍स सेविंग म्‍युचुअल फंड का औसतन रिटर्न देखा जाए तो यह 13 फीसदी है। इसीलिए जब भी इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश करें तो जितना ज्‍यादा समय तक निवेश बना रहेगा फायदा उतना ही ज्‍यादा होता जाता है।

 

 

यह भी पढ़ें : 121 रु से LIC की इस स्कीम में करें शुरुआत, मिलेंगे 27 लाख

 

 

आगे पढ़ें : कैसे होता है हर माह निवेश

 

 

 

म्‍युचुअल फंड कंपनियां देती है SIP की सुविधा

सभी म्‍युचुअल फंड कंपनियां अपनी स्‍कीम्‍स में हर मा‍ह निवेश के लिए सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) की सुविधा देती हैं। इसमें निवेशक खुद ही अपनी निवेश की राशि का चुनाव कर सकता है। जो भी राशि वह तय करता है उतना पैसा हर माह उसके बैंक अकाउंट से म्‍युचुअल फंड कंपनी के पास चला जाता है। निवेशक को हर माह किस्‍त देने की चिंता नहीं करनी पड़ती है।

 

जब चाहें इसमें बदलाव भी संभव

निवेशक अगर चाहता है कि वह निवेश राशि का कम या ज्‍यादा कर लें तो यह भी संभव है। इसके लिए एक फार्म भरना होता है और आगे से तय राशि ही बैंक अकाउंट से जाती है। इसके अलावा निवेशक अगर चाहे तो यह SIP को कभी भी बंद कराया जा सकता है।

 

 

यह भी पढ़ें : LIC की ये 4 पॉलिसी देंगी डबल बेनिफिट, सिर्फ एक बार लगाना होगा पैसा


 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट