Advertisement
Home » मार्केट » स्टॉक्सDiwali 2018: shriyantra benefits

दीपावली पर सिर्फ 300 रुपए के इस यंत्र को घर लाने से हो सकते हैं मालामाल

श्रीयंत्र सिद्धि व लक्ष्मी प्राप्ति के लिए रखा जाता है।

1 of

नई दिल्ली। दीपावाली पर लक्ष्मी पूजा में श्रीयंत्र रखने की परंपरा है। श्रीयंत्र को महामेरु श्रीयंत्र भी कहा जाता है। श्रीयंत्र महालक्ष्मी का साक्षात स्वरूप है। ऐसा माना जाता है कि श्रीयंत्र की स्थापना घर में करने से धन से संबंधित हरेक समस्या का स्वतः समाधान हो जाता है। अगर आप भी मां लक्ष्मी की कृपा पाकर मालामाल बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सिर्फ 300 रुपए खर्च करने होंगे। ई-कॉमर्स कंपनियों पर यह यंत्र 300 रुपए में मिल रहे हैं।

 

कैसा होता है श्रीयंत्र

जिस प्रकार मंत्रों की शक्ति उनके शब्दों में होती है, ठीक उसी प्रकार श्रीयंत्र की शक्ति इसकी रेखाओं और बिंदुओं में होती है। श्रीयंत्र में 9 त्रिभुज होते हैं। इन 9 त्रिभूजों से मिलकर 45 नए त्रिभुज बनते हैं। श्रीयंत्र के बीच में सबसे छोटे त्रिभुज के बीच एक बिंदू होता है। श्रीयंत्र में कुल 9 चक्र होते हैं जो कि 9 देवियों का प्रतीक होते हैं।

Advertisement


आगे पढ़ें,  कहां से खरीदें श्रीयंत्र

 

यह भी पढ़ें, Diwali बंपर: 200 रुपए लगाकर 1.5 करोड़ जीतने का मौका

यहां से खरीदें श्रीयंत्र

 

यह यंत्र ई-कॉमर्स वेबसाइट्स पर कम दाम में मिल रहा है। अमेजन पर श्रीयंत्र की कीमत सिर्फ 325 रुपए है। वहीं स्नैपडील पर श्रीयंत्र के दाम 543 रुपए है। इसके अलावा आप अपने नजदीकी मार्केट से भी इस यंत्र को खरीद सकते हैं। 

 

श्रीयंत्र के प्रकार- 

 

पारद श्रीयंत्र- सिद्धि व लक्ष्मी प्राप्ति के लिए रखा जाता है।

 

मेरु पृष्ठ अष्टधातु श्रीयंत्र- परिवार, सुख और धन पाने के लिए शुभ माना गया है।

 

स्फटिक श्रीयंत्र- शांति, विद्या व समृद्धि के लिए रखते हैं।

 

स्वर्ण श्रीयंत्र- व्यवसाय के लिए रखा जाता है।

 

पिरामिड श्रीयंत्र- धन, ध्यान व स्वास्थ्य के लिए।

 

तांबे का श्रीयंत्र- धन और समृद्धि के लिए रखते हैं।

 

रजत पत्र पर बना श्रीयंत्र- धन, सुख और दान करने के लिए शुभ होता है।

 

आगे भी पढ़ें, श्रीयंत्र रखने के क्या हैं फायदे

ये हैं फायदे

 

श्रीयंत्र को श्रद्धा और आस्था के साथ अपने घर, ऑफिस या किसी अन्य व्यवसायिक स्थल पर स्थापित करने और प्रतिदिन इसकी पूजा करने से देवी प्रसन्न होती हैं और उनकी आराधना करने वाले व्यक्ति पर सौभाग्य, धन, वैभव की वर्षा करती हैं।

 
* इस यंत्र की पूजा से मनुष्य को धन, समृद्घि, यश, कीर्ति की प्राप्ति होती है।
 
* रुके कार्य बनने लगते हैं। व्यापार की रुकावट खत्म होती है।
 
* जन्मकुंडली में मौजूद विभिन्न कुयोग श्रीयंत्र की नियमित पूजा से दूर हो जाते हैं।
 
* इसकी कृपा से मनुष्य को अष्टसिद्घियां और नौ निधियों की प्राप्ति होती है।
 
* प्रतिदिन कमल गट्टे की माला पर श्रीसूक्त के 12 पाठ के जाप करने से लक्ष्मी प्रसन्न रहती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement