बिज़नेस न्यूज़ » Market » StocksRBI की पाबंदी से देना बैंक 13% टूटा, 15 साल के लो लेवल पर स्टॉक

RBI की पाबंदी से देना बैंक 13% टूटा, 15 साल के लो लेवल पर स्टॉक

इस गिरावट से बैंक की मार्केट कैप 500 करोड़ रुपए से ज्यादा घट गई।

1 of

नई दिल्ली.  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा देना बैंक पर पाबंदी लगाए जाने से सोमवार को स्टॉक 13 फीसदी टूटकर 15 साल के लो लेवल पर आ गया। दरअसल, फाइनेंशियल ईयर 2014 की चौथी तिमाही में देना बैंक का घाटा दोगुना से ज्यादा बढ़कर 1225 करोड़ रुपए हो गया। चौथी तिमाही में घाटा बढ़ने के बाद आरबीआई ने एनपीए के चलते देना बैंक के खिलाफ एक्‍शन लेते हुए नए कर्ज नहीं पर रोक लगा दी है। इस खबर से स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिली और इस गिरावट से बैंक की मार्केट कैप 500 करोड़ रुपए से ज्यादा घट गई।


नई नियुक्ति पर भी लगाई रोक

इसके अलावा आरबीआई ने बैंक पर नई नौकरियां देने पर भी रोक लगा दी है। बीएसई को दी गई जानकारी में देना बैंक ने बताया था कि रिजर्व बैंक ने हाई नेट एनपीए और कर्ज पर मिलने वाले नि‍गेटिव रिटर्न (आरओए) के कारण बैंक के खिलाफ 'प्रोम्‍पट करेक्‍टि‍व एक्‍शन' (पीसीए) शुरू कि‍या है और उस पर कुछ प्रतिबंध लगा दिए हैं। 

 

लॉस बढ़कर 1,225 करोड़ रुपए 
फाइनेंशियल ईयर 2018 की चौथी तिमाही में देना बैंक का घाटा और बढ़ गया है। इस दौरान बैंक को 1225.4 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। जबकि एक‍ साल पहले की समान अवधि में देना बैंक को करीब 575 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था। बैंक की प्रोविजनिंग बढ़ने से नतीजों पर असर हुआ है।
तिमाही आधार पर चौथी तिमाही में देना बैंक की प्रोविजनिंग 1099 करोड़ रुपए से बढ़कर 1991.3 करोड़ रुपए रही है। फाइनेंशियल ईयर 2017 की चौथी तिमाही में देना बैंक की प्रोविजनिंग 972 करोड़ रुपए रही थी।

 

स्टॉक 13 फीसदी तक टूटा

सोमवार के कारोबार में बीएसई पर देना बैंक का 12.46 फीसदी टूटकर 16.15 रुपए के भाव पर आ गया जो करीब 15 साल का ले लेवल पर है। स्टॉक 0.81 फीसदी की गिरावट के साथ 18.30 रुपए के भाव पर खुला था।

 

500 करोड़ रु से ज्यादा घटी मार्केट कैप

स्टॉक्स में गिरावट से देना बैंक की मार्केट कैप 500 करोड़ रुपए से ज्यादा घट गई। शुक्रवार के बंद भाव पर मार्केट वैल्युएशन 4,167.94 करोड़ रुपए था जो आज 519.58 करोड़ रुपए घटकर 3,648.36 करोड़ रुपए हो गया।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट