मोदी के गुजरात में बैंकों से बहुत परेशान हैं कस्टमर, चेक करें अपना स्टेट

बैंकिंग लोकपाल में बढ़ रही कस्‍टमर्स की शिकायतें बैंकिंग लोकपाल में बढ़ रही कस्‍टमर्स की शिकायतें
पिछले साल बैंकों से ज्‍यादा लोग हुए परेशान पिछले साल बैंकों से ज्‍यादा लोग हुए परेशान

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से जारी एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि बैंकों से सबसे ज्‍यादा परेशान लोग पंजाब, गुजरात और पश्चिम बंगाल में हैं। RBI ने कुछ ही दिन पहले बैंकिंग सेक्‍टर पर वार्षिक रिपोर्ट जारी की है। इसमें बैंकिंग लोकपाल में शिकायतों के हवाले से जानकारी दी गई है। इस रिपोर्ट में वर्ष 2015-16 के मुकाबले 2016-17 दर्ज शिकायतों में बढ़त का आंकड़ा जारी किया गया है। ऑल इंडिया लेवल पर देखा जाए तो वर्ष 2015-16 के दौरान बैंकिंग लोकपाल में 102,894 शिकायतें दर्ज हुईं थी वहीं 2016-17 के दौरान 130,987 शिकायतें दर्ज हुईं। इस प्रकार बैंकिंग लोकपाल में बैंकों से करीब 27.3 फीसदी शिकायतें बढ़ी हैं।

moneybhaskar

Dec 24,2017 07:35:00 PM IST

नई दिल्‍ली. भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से जारी एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि बैंकों से सबसे ज्‍यादा परेशान लोग पंजाब, गुजरात और पश्चिम बंगाल में हैं। RBI ने कुछ ही दिन पहले बैंकिंग सेक्‍टर पर वार्षिक रिपोर्ट जारी की है। इसमें बैंकिंग लोकपाल में शिकायतों के हवाले से जानकारी दी गई है। इस रिपोर्ट में वर्ष 2015-16 के मुकाबले 2016-17 दर्ज शिकायतों में बढ़त का आंकड़ा जारी किया गया है। ऑल इंडिया लेवल पर देखा जाए तो वर्ष 2015-16 के दौरान बैंकिंग लोकपाल में 102,894 शिकायतें दर्ज हुईं थी वहीं 2016-17 के दौरान 130,987 शिकायतें दर्ज हुईं। इस प्रकार बैंकिंग लोकपाल में बैंकों से करीब 27.3 फीसदी शिकायतें बढ़ी हैं।

बैंकिंग लोकपाल में अंत में आती हैं शिकायतें

बैंकों से परेशान लोग सबसे पहले अपने बैंक की ब्रांच में शिकायत करते हैं। अगर उनकी शिकायत पर सुनवाई नहीं होती है तो बैंकों के अधिकारियों से शिकायत करते हैं। लेकिन अगर यहां भी सुनवाई न हो तो कस्‍टमर बैंकिंग लोकपाल के पास जाते हैं।

यह भी पढ़ें : पोस्‍ट आफिस में बैंक से जल्‍द डबल होता है पैसा, ये है तरीका

सबसे ज्‍यादा बढ़ी शिकायतें

RBI की रिपोर्ट में दी गई जानकारी के अनुसार जहां बैंकिंग पंजाब में 79.2 फीसदी शिकायतें बढ़ी हैं वहीं मोदी के गुजरात और ममता बनर्जी के पश्चिम बंगाल में 61.7 फीसदी शिकायतें बढ़ी हैं।

3 राज्‍यों में घटी हैं शिकायतें

3 राज्‍यों में बैंकिंग लोकपाल से शिकायतों में कमी दर्ज की गई है। शिकायतों में सबसे ज्‍यादा कमी उत्‍तर प्रदेश के कानपुर और उड़ीसा के भुवनेश्‍वर सर्किल में दर्ज की गई हैं। इन सर्किलों में 2015-16 के मुकाबले 2016-17 में शिकायतों में 15.3 फीसदी की कमी दर्ज की गई है, वहीं मध्‍य प्रदेश के भोपाल सर्किल में शिकायतों में 1.3 फीसदी की कमी दर्ज की गई है। रिपोर्ट के अनुसार बैंकिंग लोकपाल की स्‍थापना बाद में होने के कारण देहरादून, रांची और जम्‍मू के पिछले साल से तुलना के लिए आंकड़े उपलब्‍ध नहीं हैं।

यह भी पढ़ें : बिना लोन के भी ले सकते हैं कार, 2 लाख रुपए पड़ेगी सस्ती

आगे पढ़ें : बैंकिंग लोकपाल सर्किल के हिसाब से शिकायतें

 

रिजर्व बैंक ने जारी की बैंकिंग सेक्‍टर पर रिपोर्ट

रिजर्व बैंक हर साल बैंकिंग सेक्‍टर पर रिपोर्ट जारी करता है। इस रिपोर्ट में देशभर में बैंकिंग सेक्‍टर के बारे में आंकड़े जारी किए जाते हैं। इन आंकड़ों को RBI विभिन्‍न स्रोतों से जुटाता है। RBI ने इन आंकड़ों को देशभर में स्थित बैंकिंग लोकपाल के ऑफिसों से एकत्र किया है।

 

बैंकिंग सर्किल

वर्ष 2015-16

वर्ष 2016-17

बढ़ी शिकायतें

अहमदाबाद

5,909

9,552

61.7 %

बंगलुरू

5,119

7,042

37.6 %

भुवनेश्‍वर

3,050

2,582

-15.3 %

भोपाल

5,748

5,671

-1.3 %

कोलकाता

4,846

7,834

61.7 %

चेन्‍नई

8,645

9,007  

4.2 %

चंडीगढ़

4,571

8,189  

79.2 %

गुवाहटी

1,328

1,569

18.1 %

हैदराबाद

5,910  

6,570

11.2 %

जयपुर

4,664

6,740

44.5 %

कानपुर

9,621

8,150

-15.3 %

पटना

5,003

6,225

24.4 %

मुम्‍बई

12,333

16,299

32.2 %

नई दिल्‍ली

22,554

24,837

10.1 %

त्रिअनंतपुरम

3,593

3,855

7.3 %

 

 

यह भी पढ़ें : डीमैट दिला सकता है जल्द लोन, यह है तरीका

 

 

X
बैंकिंग लोकपाल में बढ़ रही कस्‍टमर्स की शिकायतेंबैंकिंग लोकपाल में बढ़ रही कस्‍टमर्स की शिकायतें
पिछले साल बैंकों से ज्‍यादा लोग हुए परेशानपिछले साल बैंकों से ज्‍यादा लोग हुए परेशान
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.