Home » Market » StocksChina attacked on america by support of India

भारत के दम पर अमेरिका से भिड़ गया चीन, यह है प्लान

अमेरिका को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए चीन को भारत का सहारा लेना पड़ा।

1 of

नई दिल्ली.  अमेरिका और चीन में ट्रेड वार की शुरुआत हो चुकी है। पहले अमेरिका ने चीन से एल्युमीनियम औऱ स्टील के इम्पोर्ट ड्यूटी लगाई थी। अब चीन ने उसी की भाषा में जबाव देते हुए अमेरिका से इम्पोर्ट होने वाले 128 प्रोडक्ट्स पर टैरिफ लगा दिया है। दरअसल, अमेरिका को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए चीन को भारत का सहारा लेना पड़ा। चीन ने एक खास प्लान के तहत अमेरिका को करारा जवाब दिया है। आइए जानते हैं चीन का क्या है प्लान...

 

 

इन भारतीय प्रोडक्ट्स की चीन में होगी एंट्री

चीन ने अमेरिकी प्रोडक्ट्स पर टैक्स लगाने से पहले भारतीय प्रोडक्ट्स को अपने यहां एंट्री देने पर रजामंद हो गया है। चीन ने जिन अमेरिकी एग्रीकल्चरल इम्पोर्ट्स पर टैक्स लगाया है उसकी भरपाई के लिए अब वह भारत से उस प्रोडक्ट्स का इम्पोर्ट करेगा। ट्रेड वार के बीच भारत और चीन अपने व्यापारिक रिश्तों को और मजबूत कर रहे हैं। चीन ने अमेरि‍का से आने वाले फल और इसी तरह के 120 प्रोडक्‍ट पर 15 फीसदी का टैक्‍स लगाया है। इसके उलट, चीन के बाजारों को भारत के सोयाबीन, चीनी, चावल और सरसों के लिए खोला जाएगा।

 

चीन-अमेरिका में ट्रेड वार से भारत को होगा फायदा

पिछले महीने भारतीय ट्रेड मिनिस्टर सुरेश प्रभु और चीन के वाणिज्य मंत्री जॉन्ग शैन की मुलाकात हुई थी। दोनों देशों 5000 करोड़ डॉलर ट्रेड डेफिसिट को कम करने पर सहमत हुए थे। भारत चीन से जितना इम्पोर्ट करता है, उस मुकाबले एक्सपोर्ट बहुत कम है। इसे देखते हुए चीन अपने बाजारों को भारत के लिए खोलेगा। इससे भारत का एक्सपोर्ट बढ़ेगा।

 

 

आगे पढ़ें- नि‍यमों के खि‍लाफ था अमेरि‍का का कदम 

 

आपको बता दें कि कई देशों के वि‍रोध करने के बावजूद अमेरि‍का ने स्‍टील के आयात पर 25 फीसदी और एल्‍युमीनि‍यम के आयात पर 10 फीसदी टैक्‍स लगा दि‍या था। चीन बड़े पैमाने पर अमेरिका को ये प्रोडक्‍ट नि‍र्यात करता है। उस वक्‍त चीन ने भी इसका काफी वि‍रोध कि‍या था और ये भी कहा था कि वह इसका जवाब देगा।  वैसे तो अमेरि‍का ने जो टैरि‍फ लगाया वह वि‍श्‍व व्‍यापार संगठन के नि‍यमों के खि‍लाफ है, मगर फि‍र भी 23 मार्च से यह लागू हो गया। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट