Home » Market » StocksBSE Will Delist 36 Companies from today

आज डिलिस्‍ट होंगी ये 36 कंपनियां, मुश्किल से मिलेगा निवेशकों का पैसा

देश के सबसे पुराने स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई ने 36 कंपनियों को डिलिस्‍ट करने का फैसला किया है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. देश के सबसे पुराने स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई ने 36 कंपनियों को डिलिस्‍ट करने का फैसला किया है। इन कंपनियों में 5 मार्च से ट्रेडिंग बंद हो जाएगी। हालांकि इन कंपनियों के शेयरों को ट्रेडिंग के लिए बीएसई ने पहले सस्‍पेंड कर रखा था। यह कंपनियां टैक्‍सटाइल्‍स से लेकर फार्मा सेक्‍टर तक की हैं। यह जानकारी बीएसई ने अपने एक सर्कुलर में दी है। इसके बाद सेबी और स्‍टॉक एक्‍सचेंज इन कंपनियों के शेयरों की फेयर वैल्‍यू निकालेंगे, जिसके आधार पर निवेशकों को पैसा मिलेगा। लेकिन यह एक कठिन काम है।

 
 

 

शेल कंपनियों पर कार्रवाई

बीएसई ने यह कार्रवाई उस वक्‍त की है जब सराकर शेल कंपनियों पर कड़ी कार्रवाई कर रही है। इनमें लिस्‍टेड और अनलिस्‍टेड कंपनियां शामिल हैं। सरकार का आरोप है कि यह कंपनियां फंड का गैरकानूरी तरीके से लेनदेन कर रही थीं।

 

सेबी ने शेल कंपनियाें को लेकर दिया था आदेश

सेबी ने पिछले साल अगस्‍त में सभी स्‍टॉक एक्‍सचेंज को निर्देश दिया था कि वह 331 संदिग्‍ध शेल कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई करें। जबकि सरकार अभी तक 2 लाख से ज्‍यादा शेल कंपनियों पर रोक लगा चुकी है।

 

 

बीएसई ने जारी किया सर्कुलर

बीएसई ने एक सर्कुलर जारी कर बताया है कि 28 कंपनियाें में 3 साल से ट्रेडिंग सस्‍पेंड चल रही थी, इनको डिलिस्‍ट किया जा रहा है।

 

 

इसके अलावा अन्‍य कंपनियां

इसके अलावा डिलिस्‍ट होने वाली अन्‍य कंपनियों में मफतलाल डाइ एंड कैमिकल्‍स, वेरोनिका लेबोट्रीज, पोलर फार्मा इंडिया, स्‍नोक टेक्‍नॉलीज इंटरनेशनल और बैल्‍लारी स्‍टील एंड एलॉय शामिल हैं।

 

 

दूसरे सर्कुलर में शामिल कंपनियां

बीएसई के दूसरे सर्कुलर के मुताबिक 8 अन्‍य कंपनियों को भी डिलिस्‍ट किया जा रहा है। इनमें पिछले तीन साल से ट्रेडिंग सस्‍पेंड चल रही है। इन कंपनियों के नाम वोलप्‍लास्‍ट, अशोका कोस्‍टसीड्स, विजय कुमार मिल्‍स, ग्रेट वेस्‍टर्न इंडस्‍ट्रीज, अशोका कोस्‍टसीड्स, रूपल लेमिनेट्स, इनविरो क्‍लीन सिस्‍टम और गांधीधाम स्पिंनिंग एंड मैन्‍यूफैक्‍चरिंग कंपनी लिमिटेड शामिल हैं।

 

 

अब ऐसे मिलेगा शेयरधारकों को पैसा

डिलिस्‍ट होने वाली कंपनियों के शेयरधारकों को कंपनी के मालिक पैसा लौटाएंगे। स्‍टॉक एक्‍सचेंज इन कंपनियों के शेयरों की फेयरवैल्‍यू की गणना कराएगी और यह पैसा इन कंपनियों के मालिकों को लौटाना होगा।

 

 


 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट