Home » Market » Stocksbrokerage house favorite 4 stocks for medium to long term

इन 4 स्टॉक्स में एक से ज्यादा ब्रोकरेज हाउस ने लगाया दांव, 55% तक मिल सकता है रिटर्न

बीते एक महीने से मार्केट में उतार-चढ़ाव जारी है। एक्सपर्ट किसी खास सेक्टर के लिए सलाह देने से बच रहे हैं।

brokerage house favorite 4 stocks for medium to long term

नई दिल्ली. बीते एक महीने से मार्केट में उतार-चढ़ाव जारी है। एक्सपर्ट किसी खास सेक्टर के लिए सलाह देने से बच रहे हैं। हालांकि मार्केट में ऐसे कई स्टॉक्स हैं, जिन पर दांव लगातार अच्छा रिटर्न हासिल कर सकते हैं। ऐसे में मनीभास्कर आपको ऐसे 4 स्टॉक्स के बारे में बता रहा है, जिनके लिए 2-2 ब्रोकरेज हाउस ने बाई की रेटिंग दी हैं। इन स्टॉक्स में निवेश करके मीडियम से लॉन्ग टर्म में 55 फीसदी तक रिटर्न हासिल किया जा सकता है।

 

 

1. सिएट टायर्स

 

#ब्रोकरेज हाउस-प्रभुदास लीलाधर
टारगेट-1451 रुपए
रिटर्न-9 फीसदी

 

#ब्रोकरेज हाउस-एडलवाइज
टारगेट-1649 रुपए
रिटर्न-23 फीसदी

 

ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर के मुताबिक, कंपनी का मैनेजमेंट लॉन्ग टर्म स्ट्रैटजी पर काम कर रहा है। उसका मुख्य फोकस सीवी सेगमेंट पर है। हालांकि, मैनेजमेंट अगली तिमाही में मार्जिन में कमी लेकर सतर्क भी है। कंपनी ने माना कि मार्केट में कॉम्पिटीशन बढ़ा है, लेकिन सिएट मार्केट लीडर के तौर पर अपनी कीमतों को प्रीमियम बनाए रखने में कामयाब रही है। 
एडलवाइज के मुताबिक, कंपनी में लॉन्ग टर्म ग्रोथ की काफी संभावनाएं हैं। हालांकि सिएट को कैपेक्स में बढ़ोत्तरी करनी चाहिए। कंपनी लगातार पैसेंजर कार रेडियल्स पर फोकस कर रही है। कंपनी की अपना मार्केट शेयर 10 से बढ़ाकर 20 फीसदी तक पहुंचाने की भी योजना है। 

 


2. अहलूवालिया कॉन्ट्रैक्ट्स

 

#ब्रोकरेज हाउस-एचडीएफसी सिक्युरिटीज
टारगेट-486 रु
रिटर्न-37 फीसदी

 

#ब्रोकरेज हाउस-सेंट्रम रिसर्च
टारगेट-418 रु
रिटर्न-19 फीसदी

 

एचडीएफसी सिक्युरिटीज के मुताबिक वित्त वर्ष 18 की चौथी तिमाही में अहलूवालिया कॉन्ट्रैक्ट्स का नेट रेवेन्यू 450 करोड़ रुपए रहा, जो उसके अनुमान से कुछ ही कम रहा। कंपनी का एबिटा मार्जिन भी बढ़कर 13.3 फीसदी के स्तर पर पहुंच गया। कंपनी को बेहतर कॉस्ट कंट्रोल और लेबर मार्केट सप्लाई में सुधार का फायदा मिल रहा है। कंपनी लगातार आगे बढ़र ही है और उसकी क्षमता में भी सुधार हो रहा है। ब्रोकरेज ने भरोसा जताया कि अगले दो साल के दौरान कंपनी के मार्जिन में 0.50 से 1 फीसदी तक का सुधार दिखने की उम्मीद है। कंपनी पर मामूली कर्ज है। इससे स्टॉक में ग्रोथ की खासी संभावनाएं हैं। 

सेंट्रम रिसर्च के मुताबिक, एक्जीक्यूशन में सुस्ती और जीएसटी इंपैक्ट की वजह से चौथी तिमाही में रेवेन्यू के आंकड़े कमजोर रहे थे। हालांकि एबिटा 25 फीसदी बढ़कर 53 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। कंपनी को कर्ज घटाने में कामयाबी मिली है और बीते 6 साल में पहली बार कंपनी ने डिविडेंड का ऐलान किया किया है। 

 


3. वी-गार्ड
 

#ब्रोकरेज हाउस-जिओजित
टारगेट-225 रु
रिटर्न-6 फीसदी

 

#ब्रोकरेज हाउस-एचडीएफसी सिक्युरिटीज
टारगेट-253 रु
रिटर्न-19 फीसदी

 

एचडीएफसी सिक्युरिटीज के मुताबिक, वित्त वर्ष 18 की चौथी तिमाही में रेवेन्यू में 13 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई, जबकि एडजस्टेड  एबिटा 28 फीसदी रहा। वी गॉर्ड लगातार नए क्षेत्रों में उतर रही है। कंपनी के बिजनेस में ग्रोथ की मुख्य वजह किचन अप्लायंसेज, फैन्स, स्विचगियर, डिजिटल यूपीएस और नए लॉन्च (एसी, मॉड्युलर स्विचेस और एलईडी फैन) रहे हैं। हम वित्त वर्ष 2018-20 के बीच हम 38 फीसदी ईपीएस सीएजीआर की उम्मीद करते हैं। इसलिए वी-गॉर्ड के लिए बाई रेटिंग बरकरार रखी गई है। 

जिओजित के मुताबिक, हाल में स्टॉक में आई करेक्शन के चलते स्टॉक के लिए रेटिंग को अपग्रेड कर दिया गया है।

 

 

4.टाटा मोटर्स
 

#ब्रोकरेज हाउस-मोतीलाल ओसवाल
टारगेट-471 रु
रिटर्न-55 फीसदी

 

#ब्रोकरेज हाउस-प्रभुदास लीलाधर
टारगेट-378 रु
रिटर्न-25 फीसदी

 

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक, भले ही कंपनी की सेल्स में गिरावट दर्ज की गई है, लेकिन कस्टमर्स का ब्रांड पर भरोसा बरकरार है। इसका मतलब है कि सेल्स में गिरावट अस्थायी है और मीडियम टर्म में मजबूती आने की पूरी उम्मीद है। इसीलिए कंपनी ने स्टॉक के लिए बाई की रेटिंग बरकरार रखी है।
प्रभुदास लीलाधर की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी का फोकस रेवेन्यू बढ़ाने, प्रोसेस में सुधार, कॉस्ट मैनेजमेंट और कंपनी को भरोसेमंद बनाए रखने पर है। मैनेजमेंट फिलहाल कमर्शियल और पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट में मार्केट शेयर बढ़ाने की योजना पर काम कर रहा है। इसके अलावा 2020 तक जेएलआर की पूरी प्रोडक्ट रेंज मार्केट में आ जाएगी, जिससे कंपनी का आत्मविश्वास बढ़ेगा। ऐसे में स्टॉक में अच्छी तेजी देखने को मिल सकती है।
 

 

(नोट- निवेश सलाह मार्केट एक्सपर्ट्स के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट