Home » Market » StocksBanking fund did not affected due to market fall

बैंकिंग फंड ने दिया FD से तीन गुना तक रिटर्न, मार्केट की गिरावट का नहीं पड़ा असर

बैंकिंग म्‍युचुअल फंड ने दिया FD से तीन गुना तक रिटर्न।

1 of

 

 

नई दिल्‍ली. बैंकों की FD का ब्‍याज काफी कम हो चुका है। बीच में बढ़ा भी तो अमीरों (बल्‍क डिपॉजिट) की FD का रेट बढ़ाया गया। इस बीच पहले बजट फिर PNB फ्रॉड के चलते स्‍टॉक मार्केट नीचे चला गया। लेकिन फिर भी बैंकिंग सेक्‍टर में निवेश करने वाले म्‍युचुअल फंड का रिटर्न बैंक FD की तुलना में तीन गुना तक बना हुआ है। यही नहीं अगर बैंकिंग सेक्‍टर के फंड्स का औसत रिटर्न देखेंगे तो यह पिछले एक साल का 11.7 फीसदी है, जो किसी भी बैंक की FD से ज्‍यादा है। इस कैटेगरी के म्‍युचुअल फंड बैंक और वित्‍तीय क्षेत्र में काम करने वाली कंपनियों में ही निवेश करते हैं।

 

 

दो दर्जन फंड्स इस कैटेगरी में

बैंकिंग सेक्‍टर फंड में करीब दो दर्जन स्‍कीम्‍स हैं। इनमें कई स्‍कीम की आसेट अंडर मैनेजमैंट (AMU) 1000 करोड़ रुपए से ज्‍यादा है। वहीं कई स्‍कीम्‍स की AMU 100 करोड़ रुपए से ऊपर है। अंश फायनेंशियल एंड इन्‍वेस्‍टमेंट के डायरेक्‍टर दिलीप कुमार गुप्‍ता के अनुसार देश में अगर आर्थिक विकास होगा तो उसका फायदा बैंकों और वित्‍तीय क्षेत्र में काम करने वाली कंपनियों को मिलेगा ही। इनके अनुसार कोई भी आर्थिक गतिविधि बिना बैंकों के संभव नहीं है। इसीलिए NPA होने के बाद भी सरकार बैंकों में 2 लाख करोड़ रुपए से ज्‍यादा का पूंजी निवेश कर रही है। इससे बैंकों का कारोबार और बढ़ेगा, जिससे आगे भी बैंकों में निवेश फायदेमंद बना रहेगा।

 

 

MF और सीधे शेयर बाजार में निवेश का अंतर

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार म्‍युचुअल फंड में निवेश सीधा शेयर बाजार से निवेश से ज्‍यादा सुरक्षित होता है। इसका उदाहरण PNB फ्रॉड के समय पर देखने को मिला है। अगर किसी ने 1 साल पहले PNB के शेयर में सीधे निवेश किया होगा तो उसको नुकसान हो रहा होगा। लेकिन अगर किसी ने इन फंड्स में निवेश एक साल पहले निवेश किया है तो उनको पॉजिटिव ज्‍यादा का रिटर्न मिल रहा है। यह अलग बात है कि इन फंड्स में PNB का शेयर भी है, फिर भी अच्‍छा रिटर्न दे रहे हैं।

 

 

यही है निवेश का सही समय

च्‍वॉइस ब्रोकिंग के प्रेसीडेंट अजय केजरीवाल के अनुसार यह समय निवेश के लिए अच्‍छा है। स्‍टॉक मार्केट की गिरावट के चलते ज्‍यादातर अच्‍छे शेयर कम रेट पर आ गए हैं। अगर किसी की स्‍टॉक मार्केट की अच्‍छी समझ हैं तो वह सीधे निवेश शुरू कर सकते हैं, लेकिन अगर ऐसी समझ नहीं है तो इक्विटी म्‍युचुअल फंड के रास्‍ते निवेश शुरू किया जा सकता है। स्‍टॉक मार्केट की गिरावट के चलते इक्विटी म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स की नेट आसेट वैल्‍यू (NAV) में कमी आई है। ऐसे में किसी भी अच्‍छे इक्विटी फंड में सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) के माध्‍यम से निवेश शुरू किया जा सकता है। यह निवेश जितने ज्‍यादा लम्‍बे समय के लिए किया जाएगा रिटर्न उतना ही बेहतर हो सकता है।

 

 

अच्‍छा रिटर्न देने वाले बैंकिंग म्‍युचुअल फंड

 

म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स

1 साल का रिटर्न

एसबीआई बैंकिंग एंड फाइनेंस सर्विस -DP (G)

21.5 फीसदी

इनवेस्‍को इंडिया बैंकिंग - Dir (G)

21.0 फीसदी

बिड़ला बैंक एंड फाइनेंस सर्विस -DP (G)

16.4 फीसदी

यूटीआई बैंकिंग सेक्‍टर - Direct (G)

15.8 फीसदी

रिलायंस बैंकिंग फंड - Direct (G)

15.2 फीसदी

 

 

नोट : डाटा 11 अप्रैल 2018 का।

 

 

(नोट-निवेश सलाह ब्रोकरेज हाउस और मार्केट एक्सपर्ट्स के द्वारा दी गई हैं। कृपया इनकी अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम होते हैं।)

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss