Home » Market » StocksApple on Thursday announced a 20 per cent increase in quarterly sales revenue

Q3 reults: Apple का मुनाफा 32% बढ़ा, आय 20% बढ़ी

कंपनी के पास 237 अरब डॉलर कैश है।

Apple on Thursday announced a 20 per cent increase in quarterly sales revenue

नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2018 की सितंबर तिमाही में स्मार्टफोन मेकर एप्पल का मुनाफा 32 फीसदी बढ़कर 14.13 अरब डॉलर पर पहुंच गया।  इस दौरान कंपनी की आय भी 20 फीसदी बढ़कर 62.9 अरब डॉलर रहा। इसकी वजह आईफोन की औसत कीमत में 29% बढ़ोतरी है। यह 618 डॉलर से बढ़कर 793 डॉलर हो गई है। कंपनी के पास 237 अरब डॉलर कैश है।

 

रुपए में गिरावट से भारतीय बिजनेस पर दबाव

एप्पल के सीईओ टिम कुक ने कहा कि रुपए में कमजोरी की वजह से भारत में कंपनी दबाव महसूस कर रही है। यहां की करंसी में गिरावट एप्पल के भारतीय बिजनेस के लिए चुनौती है। हालांकि, कुक ने लॉन्ग टर्म में अच्छी ग्रोथ की उम्मीद जताई है। उनका कहना है कि भविष्य में भारत की बड़ी आबादी मिडिल क्लास वाली होगी। भारत सरकार आर्थिक सुधारों के लिए बड़े कदम उठा रही है।

आईफोन की औसत कीमत इसलिए बढ़ी क्योंकि एप्पल ने महंगे प्रोडक्ट लॉन्च किए। पिछले साल 999 डॉलर कीमत वाला आईफोन एक्स बाजार में उतारा। इस साल सितंबर में लॉन्च हुए आईफोन एक्सएस मैक्स की कीमत 1099 डॉलर रखी गई।

 

सितंबर तिमाही में कंपनी ने 4.68 करोड़ आईफोन बेचे

सितंबर तिमाही में कंपनी ने 4.68 करोड़ आईफोन बेचे। पिछले साल की इसी तिमाही में यह आंकड़ा 4.67 करोड़ था। एपल का मुनाफा 32% बढ़कर 14.13 अरब डॉलर रहा।
आईफोन की बिक्री को छोड़ बाकी आंकड़े विश्लेषकों के अनुमान से ज्यादा रहे। जुलाई-सितंबर में प्रति शेयर आय 2.91 डॉलर रही। एनालिस्ट को 2.78 डॉलर की उम्मीद थी। रेवेन्यू 20% बढ़कर 62.9 अरब डॉलर रहा। विश्लेषकों ने 61.57 अरब डॉलर का अनुमान जताया था।

 

आईपैड की बिक्री 97 लाख यूनिट रही
एप्पल ने जुलाई-सितंबर में 97 लाख आईपैड बेचे। इनकी बिक्री से 4.09 अरब डॉलर का रेवेन्यू मिला। इस दौरान मैक की बिक्री 53 लाख यूनिट रही। इससे 4.1 अरब डॉलर की आय हुई।

 

नतीजों के बाद शेयर में 7% गिरावट आई
तिमाही नतीजों के ऐलान के बाद एप्पल के शेयर में तेज गिरावट आई। कुछ समय के लिए कंपनी का मार्केट कैप 1 ट्रिलियन डॉलर से नीचे आ गया। हालांकि, बाद में रिकवर हो गया। एप्पल ने अगली तिमाही के लिए रेवेन्यू गाइडेंस 89 से 93 अरब डॉलर दिया है। विश्लेषक 93.02 अरब डॉलर की उम्मीद कर रहे थे।

 

प्रोडक्ट बिक्री के आंकड़े जारी करना बंद करेगी एपल
कमजोर रेवेन्यू गाइडेंस और नतीजों की घोषणा के तरीके में बदलाव की वजह से एपल के शेयर में गिरावट आई। कंपनी अगली तिमाही से आईफोन, आईपैड और मैक की बिक्री के आंकड़े जारी नहीं करेगी।

 

वित्त वर्ष 2018 में एप्पल इंडिया का रेवेन्यू 12% बढ़ा
एप्पल इंडिया ने बुधवार को वित्त वर्ष 2018 के नतीजे घोषित किए थे। भारत में कंपनी ने 13,098 करोड़ रुपए का रेवेन्यू जनरेट किया। यह वित्त वर्ष 2017 के मुकाबले करीब 1,400 करोड़ रुपए ज्यादा है। एपल इंडिया के रेवेन्यू में 12% की ग्रोथ हुई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट