बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksकेन्‍द्र MF पर लगाए टैक्‍स को हटाने पर करे विचार, AMFI ने मांगी लेवल प्‍लेइंग फील्‍ड

केन्‍द्र MF पर लगाए टैक्‍स को हटाने पर करे विचार, AMFI ने मांगी लेवल प्‍लेइंग फील्‍ड

बजट 2018 में प्रस्‍तावित किए गए टैक्‍स के बाद भी म्‍युचुअल फंड में निवेश नहीं घटेगा।

1 of
कोलकाता. बजट 2018 में प्रस्‍तावित किए गए टैक्‍स के बाद भी म्‍युचुअल फंड में निवेश नहीं घटेगा। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स ऑफ इंडिया (AMFI) का कहना है कि लॉन्‍ग टर्म कैपिटल गेन (LTCG)और डिविडेंड डिस्‍ट्रीब्‍यूशन टैक्‍स (DDT) से म्‍युचुअल फंड पर निवेश से कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। AMFI के अनुसार उसने सरकार से टैक्‍स प्रस्‍तावों पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है। एसोसिएशन का मानना है कि इस टैक्‍स के बाद लेवल प्‍लेइंग फील्‍ड नहीं रह गई है। 
 

AMFI ने लेवल प्‍लेइंग फील्‍ड मांगी

AMFI के मुख्‍य कार्यकारी वेंकटेश का कहना है कि LTCG और DDT लागू होने के बाद म्‍युचुअल फंड और यूनिट लिंक प्‍लान (ULIP) के बीच लेवल प्‍लेइंग फील्‍ड नहीं रह गई है। हालांकि इसके बाद भी हमें इस वक्‍त म्‍युचुअल फंड में आने वाले निवेश में कमी आने की आशंका नहीं है। हालांकि हमारा मानना है कि अगर लॉन्‍ग टर्म कैपिटल गेन नहीं तो अच्‍छा था। उन्‍होंने कहा कि सभी वित्‍तीय प्रॉडक्‍ट पर टैक्‍स के समान नियम लागू होने चाहिए। इसके लिए हम प्रयास करते रहेंगे।
 
SIP से निवेश में नहीं आई कमी
उन्‍होंने कहा कि नए टैक्‍स लागू होने के बाद भी सिस्‍टेमेटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) के तहत अभी तक निवेश में कमी दर्ज नहीं की गई है। यह टैक्‍स वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने 1 फरवरी को पेश बजट प्रस्‍तावों में लगाए हैं। इनके तहत 10 फीसदी डिविडेंड डिस्‍ट्रीब्‍यूशन टैक्‍स लगाया गया है। वहीं लॉन्‍ग टर्म कैपिटल गेन पर भी 10 फीसदी का टैक्‍स लगाया गया है। अगर किसी निवेशक को एक साल में 1 लाख रुपए से ज्‍यादा का कैपिटल गेन का लाभ होगा तो उसे यह टैक्‍स देना होगा।
 

 

आगे पढ़ें : 50 लाख करोड़ की हो जाएगी इंडस्‍ट्री

 

इंडस्‍ट्री चार साल में हो जाएगी 50 लाख करोड़ रुपए की

एसोसिएशन ने अनुमान जताते हुए कहा है कि अगले चार साल में म्‍युचुअल फंड इंइस्‍ट्री का आकार 50 लाख करोड़ रुपए का हो जाएगा। इस वक्‍त यह आकार 22.48 लाख करोड़ रुपए का है।
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट