विज्ञापन
Home » Market » StocksADAG shares gain by 10 pc after Reliance Communications pays Ericsson dues

RCom सहित अनिल अंबानी ग्रुप के शेयर 10% तक चढ़े, इरिक्सन को 550 करोड़ के भुगतान से मिला बूस्ट

इरिक्सन (Ericsson) को 550 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने की खबर से RCOM के शेयर को तगड़ा बूस्ट मिला।

ADAG shares gain by 10 pc after Reliance Communications pays Ericsson dues

स्वीडन की टेलिकॉम इक्विपमेंट मेकर कंपनी इरिक्सन (Ericsson) को 550 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने की खबर से रिलायंस कम्युनिकेशंस यानी RCom (Reliance Communications) के शेयर को तगड़ा बूस्ट मिला।

नई दिल्ली. स्वीडन की टेलिकॉम इक्विपमेंट मेकर कंपनी इरिक्सन (Ericsson) को 550 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने की खबर से रिलायंस कम्युनिकेशंस यानी RCom (Reliance Communications) के शेयर को तगड़ा बूस्ट मिला। मंगलवार को आरकॉम के शेयर की मजबूत ओपनिंग हुई, जिसमें 10 फीसदी की मजबूती के साथ अपर सर्किट लग गया। इसके अलावा अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप (ADAG) के दूसरे शेयरों की मजबूत शुरुआत हुई।

 

एडीएजी ग्रुप के दूसरे शेयरों का हाल

 

-आरकॉम का शेयर 10 फीसदी मजबूती के साथ 4.40 रुपए पर खुला, जिसमें ट्रेडिंग के कुछ ही मिनटों में 10 करोड़ शेयरों में कारोबार हो गया।

-वहीं रिलायंस कैपिटल का शेयर लगभग 5 फीसदी की मजबूती के साथ 189 रुपए पर कारोबार कर रहा है।

-रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर का शेयर 4 फीसदी मजबूत होकर 140 रुपए के आसपास बना हुआ है।

रिलायंस पावर का शेयर भी लगभग 5 फीसदी की मजबूती के साथ कारोबार कर रहा है।

 

आरकॉम ने जारी किया था यह बयान

 

सोमवार को आरकॉम ने शेयर बाजार बंद होने के कुछ देर बाद एक प्रेस रिलीज जारी करके कहा था, ‘सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुपालन के क्रम में इरिक्सन को आज 550 करोड़ रुपए के बकाये और ब्याज का भुगतान कर दिया गया है।’ गौरतलब है इरिक्सन को भुगतान के लिए सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय डेडलाइन 19 मार्च को खत्म हो रही थी। सुप्रीम कोर्ट ने अनिल अंबानी को 19 मार्च तक बकाया चुकाने या 3 महीने की सजा के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी थी।

 

अंबानी के खिलाफ बना था अवमानना का मामला

 

सुप्रीम कोर्ट ने आरकॉम (RCom) द्वारा स्वीडन की कंपनी का बकाया नहीं चुकाए जाने को अंबानी के खिलाफ कोर्ट की अवमानना का मामला माना था और कर्ज से दबी कंपनी को चार हफ्ते के भीतर इरिक्सन को बकाया चुकाने या तीन हीने की जेल के लिए तैयार रहने के लिए कहा था।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन