बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksकभी जेल में काटे थे 10 साल, निकलते ही 2 साल में बना करोड़पति

कभी जेल में काटे थे 10 साल, निकलते ही 2 साल में बना करोड़पति

आइए जानते हैं इस शख्स की सफलता की कहानी।

1 of

नई दिल्ली.  शायद बहुत ही कम लोग होंगे जिनको जेल में सजा काटने के दौरान उन्हें जल्दी रिटायर होने की सीख मिली हो। लेकिन 10 साल की सजा काटने वाले इस शख्स को जेल में आर्थिक आजादी की प्रेरणा मिली और जेल से बाहर निकलने के बाद 2 साल में यह शख्स करोड़पति बन गया। आइए जानते हैं इस शख्स की सफलता की कहानी।

 

 

कैसे पहुंचा जेल

 

दरअसल, 2002 में यूनिवर्सिटी ऑफ विस्कॉनसिन-रिवर फॉल्स की पार्टी में बिली बी कॉलेज में ड्रग्स बेचे थे। ड्रग्स की ओवरडोज से उनके एक दोस्त की मौत हो गई। दोस्त की मौत की खबर के बाद बिल ने भागने की कोशिश की। लेकिन वो पुलिस की गिरफ्तार से बच नहीं सका। पुलिस को उसके पास से ड्रग्स के अलावा कई अन्य गैरकानूनी सामान भी मिले। पुलिस ने बिल पर गैर-इरादतन हत्या का केस दर्ज किया। उसे 20 साल कैद की सजा मिलने की उम्मीद थी। लेकिन अन्य ड्रग चार्जेज वापस होने की वजह से बिल को गैर-इरादतन हत्या के लिए 10 साल की जेल हुई।


आगे पढ़ें- 

 

यह भी पढ़ें- 1 लाख रु से की शुरुआत, खड़ी कर दी 10 हजार करोड़ की कंपनी

जेल से निकलने के बाद मिली दूसरी जिंदगी

 

- 10 साल बाद जेल से बाहर निकलने से पहले ही बिल ने काल-कोठरी में ही अपनी जिंदगी की दूसरी पारी की शुरुआती प्लानिंग बना ली थी। इसके लिए उसने में पढ़ाई की और अन्य अच्छे कैदियों से दोस्ती बनाई। इसके अलावा उसने दो साल वर्क रिलीज प्रोग्राम पर देकर पैसे कमाए औऱ अपने रिज्यूम अपनी स्किल को शो किया। सबसे महत्वपूर्ण बात कि बिल को लिखने की रूचि थी। उसने जेल में ही एक किताब भी लिखी।

 

3 लक्ष्यों के साथ जेल से हुआ रिहा

 

बिल जेल से रिहा हुआ। बिल जेल से तीन लक्ष्यों के साथ रिहा हुआ। पहला- एक साल में कॉलेज की डिग्री हासिल करना। दूसरा- 640 रुपए (10 डॉलर) प्रति घंटे वाली नौकरी ढूंढना औऱ तीसरा अपने पिता से अलग रहने के लिए उसके पास इतने ज्यादा पैसे हो। जेल से निकलने के बाद बिल ने तीनों लक्ष्यों को पूरा किया।

 

आगे पढ़ें- 

खुद का बिजनेस किया शुरू

 

खुद का बिजनेस शुरू करने का आइडिया रखने वाले बिल ने ब्रांडेड टी-शर्ट्स बेचने का बिजनेस शुरू किया। इसके लिए उसने अपरेल मैन्युफैक्चर्स और स्क्रीन प्रिंटर्स से संपर्क बनाया। पहले 6 महीने में उसकी बिक्री 6.4 लाख रुपए (10,000 डॉलर) रही और इसमें उसे 1.28 लाख रुपए (2 हजार डॉलर) का प्रॉफिट हुआ। 6 महीने बाद बिक्री बढ़कर 1.15 करोड़ रुपए (1.80 लाख डॉलर) हो गई।

 

कमाई के साथ बचाए पैसे

 

बिल ने कमाई के साथ पैसे बचाने पर भी जोर दिया। बचाए हुए पैसे को उसने शेयर में इन्वेस्ट किए और यहां से मिले रिटर्न से उसने फ्लैट्स खरीदे। फिर बाद में उसे किराए पर देकर यहां से पैसे बनाए। यूं ही उसका बिजनेस बढ़ता गया और अब उसकी कुल दौलत 1.60 करोड़ रुपए (2.5 लाख डॉलर) हो गई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट