Home » Market » Stocks86 percent retail investors first choice is Equity MF रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की पहली पसंद बने इक्विटी MF, 86 फीसदी हुई हिस्‍सेदारी

रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की पहली पसंद बने इक्विटी MF, 86 फीसदी हुई हिस्‍सेदारी

इक्विटी म्‍युचुअल फंड में रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की भागीदारी बढ़कर 86 फीसदी हो गई है।

86 percent retail investors first choice is Equity MF  रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की पहली पसंद बने इक्विटी MF, 86 फीसदी हुई हिस्‍सेदारी

नई दिल्‍ली. इक्विटी म्‍युचुअल फंड में रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की भागीदारी बढ़कर 86 फीसदी हो गई है। एक साल में इसमें करीब 36 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। देश में अप्रैल के अंत तक म्‍युचुअल फंड की आसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 23.20 लाख करोड़ रुपए थी, जिसका 41.3% निवेशक इक्विटी स्‍कीम का था। 

 

 

संस्‍थागत से ज्‍यादा हुआ रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स का निवेश 

म्‍युचुअल फंड में अभी तक संस्‍थागत निवेशक सबसे बड़े निवेशक माने जाते थे, लेकिन अब स्थिति बदल गई है। अप्रैल के अंत में म्‍युचुअल फंड में कुल निवेश 23.20 लाख करोड़ रुपए था। इसमें से रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की हिस्‍सेदारी 12.07 लाख करोड़ रुपए की और संस्‍थागत निवेशकों की हिस्‍सेदारी 11.13 लाख करोड़ रुपए थी। म्‍युचुअल फंड की कुल आसेट अंडर मैनेजमेट में इक्विटी स्‍कीम की हिस्‍सेदारी अप्रैल 2018 में बढ़कर 41.3% फीसदी हो गई, जो पिछले साल अप्रैल में 33.7% फीसदी थी। 

 

 

अप्रैल में AUM में हिस्‍सेदारी 

-इक्विटी  41.3 फीसदी 

-डेट स्‍कीम 34.9 फीसदी

-लिक्विड फंड 20.3 फीसदी  

-ईटीएफ  3.5 फीसदी 

 

 

रिटेल और संस्‍थागत निवेश एक नजर में 


रिटेल इन्‍वेस्‍टर 

अप्रैल 2017 को 8.88 लाख करोड़ रुपए

अप्रैल 2018 में 12.07 लाख करोड़ रुपए 

बढ़त दर्ज की गई 35.8 फीसदी 


संस्‍थागत निवेशक 

अप्रैल 2017 को 10.22 लाख करोड़ रुपए 

अप्रैल 2018 में    11.13 लाख करोड़ रुपए 

बढ़त दर्ज की गई 8.90 फीसदी 

 

 

ETF संस्‍थागत निवेशकों की पहली पसंद 

इक्विटी म्‍युचुअल फंड को छोड़ कर सभी जगह संस्‍थागत निवेशक की हिस्‍सेदारी काफी ज्‍यादा है। एक्‍सचेंज ट्रेडिड फंड (ETF) में संस्‍थागत निवेशकों की हिस्‍सेदारी 92 फीसदी है, जबकि रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की हिस्‍सेदारी 8 फीसदी के आसपास है। 

इसी तरह लिक्विड और मनी मार्केट कैटेगरी में संस्‍थागत निवेशकों की हिस्‍सेदारी 90 फीसदी है। हालांकि डेट फंड कैटेगरी में स्थिति लगभग आधी-आधी है। इस कैटेगरी में संस्‍थागत निवेशकों की हिस्‍सेदारी 59 फीसदी और रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की हिस्‍सेदारी 41 फीसदी है। 

 

रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की भागीदारी बढ़ना अच्‍छा संकेत 

अंश फाइनेंशियल एंड इन्‍वेस्‍टमेंट के डायरेक्‍टर दिलीप कुमार गुप्‍ता के अनुसार म्‍युचुअल फंड में रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स की भागीदारी बढ़ना अच्‍छा संकेत है। उनके अनुसार संस्‍थागत निवेश स्‍मॉर्ट इन्‍वेस्‍टमेंट माना जाता है, जो तेजी से आता है और तेजी से निकल भी जाता है। वहीं रिटेल इन्‍वेस्‍टर्स थोड़ा-थोड़ा पैसा लगाते रहते हैं, जिससे बाजार में स्‍थायित्‍व आता है। 


 

इक्विटी कैटेगरी में रिटर्न भी बढि़या मिला 

शेयरखान के वाइस प्रेसीडेंट मृदुल कुमार वर्मा के अनुसार पिछले काफी समय से स्‍टॉक मार्केट का रिटर्न अच्‍छा बना हुआ है। इससे लोगों को अपने निवेश पर अच्‍छा रिटर्न मिला है। यही कारण है जहां पुराने निवेशकों ने अपना निवेश बढ़ाया है, वहीं हर माह लाखों नए निवेशक भी जुड़ रहे हैं। उनके अनुसार म्‍युचुअल फंड में सिस्‍टेमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) से निवेश का बढ़ना अच्‍छा संकेत है। 


 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट