बिज़नेस न्यूज़ » Market » Stocksकेरल बाढ़: टायर कंपनियों के शेयर 4% तक टूटे, उत्पादन घटने से रॉ मैटेरियल कॉस्ट बढ़ने की संभावना

केरल बाढ़: टायर कंपनियों के शेयर 4% तक टूटे, उत्पादन घटने से रॉ मैटेरियल कॉस्ट बढ़ने की संभावना

टायर कंपनियों के शेयर में गिरावट केरल में बाढ़ से रबड़ का उत्पादन घटने की वजह से आई है।

tyre stocks fall up to 4 percent as rubber production decreases due to flood in Kerala

नई दिल्ली. केरल में आई भयंकर बाढ़ से सोमवार को टायर मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों के शेयरों में कमजोरी देखने को मिली। कारोबार के दौरान बीएसई पर टायर कंपनियों के शेयर 4 फीसदी तक टूट गए। टायर मेकर कंपनियों के शेयर में गिरावट केरल में बाढ़ से रबड़ का उत्पादन घटने की वजह से आई है। उत्पादन घटने से  रबड़ की कीमतें बढ़ जाएंगी जिससे टायर बनाने वाली कंपनियों का रॉ मैटेरियल कॉस्ट बढ़ेगा। कॉस्ट बढ़ने से टायर कंपनियों के फाइनेंस पर असर पड़ेगा।

 

केरल में आपदा से 20,000 करोड़ का नुकसान: एसोचैम

उद्योग संगठन एसोचैम ने कहा है कि केरल में आई भयंकर बाढ़ से न सिर्फ 15 से 20 हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ, बल्कि इसका प्रभाव अगले कुछ माह तक पर्यटन, खेती और व्यापार पर रहेगा।

 

6 लाख टन रबड़ का होता है उत्‍पादन

केरल की नेचुरल रबड़ बहुत प्रसिद्ध है और केरल को विश्‍व का छठा बड़ा रबड़ प्रोड्यूसर माना जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पिछले साल 2017-18 में केरल में लगभग 6 लाख टन रबड़ का प्रोडक्‍शन किया गया, जो देश की लगभग सभी नामी टायर कंपनियां एमआरएफ, सिएट, अपोलो, जेके टायर जैसी कंपनियों को सप्‍लाई किया जाता है।

 

गिर सकता है उत्‍पादन

कोचीन रबड़ मर्चेंट एसोसिएशन के एक बयान में कहा गया है कि वर्तमान में आई बाढ़ के कारण रबड़ का उत्‍पादन प्रभावित हुआ है और रबड़ के आउटपुट में लगभग 13 फीसदी की कमी आ चुकी है। वहीं इसके उत्पादन में 30 फीसदी तक गिरावट आने की आशंका है।

 

बढ़ेगा रॉ मैटेरियल कॉस्ट 

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक, केरल में बाढ़ की वजह से रबड़ का उत्पादन घटने की आशंका है। उत्पादन घटने की वजह से टायर मेकर कंपनियों का रॉ मैटेरियल कॉस्ट बढ़ जाएगा। पहले ही घरेलू मार्केट में रबड़ का प्रोडक्शन 6 साल के निचले स्तर पर है। वहीं उत्पादन में गिरावट से टायर कंपनियों पर इसका इम्पैक्ट ज्यादा रहने की उम्मीद है।
इसके ही उन्होंने कहा, पहले से रबड़ की शॉर्टेज बढ़ने से सप्लाई डिले हो जाएगी। वहीं घरेलू मार्केट को बचाने के लिए रबड़ पर 25 फीसदी इम्पोर्ट ड्यूटी लगे होने की वजह से रबड़ की कीमतें बढ़ेगी।

 

4 फीसदी तक टूटे टायर कंपनियों के शेयर

सोमवार के कारोबार में केरल में आई बाढ़ की वजह से टायर कंपनियों के शेयरों में 4 फीसदी तक गिरावट देखने को मिली। सबसे ज्यादा गिरावट तिरुपति टायर के शेयर में 3.61 फीसदी दर्ज की गई। इसके अलावा बालकृष्ण इंडस्ट्रीज में 1.90%, गोविंद रबड़ में 1.40%, जेके टायर में 0.69%, गुडईयर में 0.34%, मोदी रबड़ में 0.36% की गिरावट आई है।

 

यह भी पढ़ें, केरल में थमा कारोबार, टायर इंडस्‍ट्री पर पड़ सकता है बुरा असर

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट