Home » Market » StocksCavinKare gets ready for a public float next year

1 रुपए वाले शैम्पू से खड़ी की 1600 करोड़ की कंपनी, अब निवेशकों को देंगे कमाने का मौका

महज 15,000 रुपए से अपना कारोबार शुरू करने वाला यह शख्स आज करोड़पति है।

CavinKare gets ready for a public float next year

नई दिल्ली.  कहा जाता है कि पैसा बनाने के लिए पैसे की जरूरत होती है। लेकिन इस शख्स ने सिर्फ एक रुपए के सैशे शैम्पू से आज 1600 करोड़ रुपए की कंपनी खड़ी कर दी है। सुनने में ये थोड़ा अजबी सा लगता है। हालांकि ये सच्चाई है। फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (FMCG) कंपनी केविनकेयर की शुरुआत एक रुपए वाले सैशे शैम्पू बनाने से हुई थी। इस शख्स ने एक रुपए के सैशे शैम्पू लॉन्च कर एफएमसीजी सेक्टर में तहलका मचा दिया था। महज 15,000 रुपए से अपना कारोबार शुरू करने वाला यह शख्स आज करोड़पति है। यहीं नहीं, वो अब अपने साथ निवेशकों को भी कमाने का मौका देने वाला है। आइए जानते हैं कौन है ये शख्स...

 

1 रुपए वाले शैम्पू ने बदल डाला बाजार

सीके रंगनाथन केविनकेयर कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर हैं, जिन्होंने एक रुपए वाले सैशे शैम्प लॉन्च कर शैम्पू बाजार में नई क्रांति ला दी थी। उन्होंने चिक ब्रांड नेम से सैशे में शैंपू बैचने की शुरुआत की। चिक शैंपू की शुरुआती कीमत 1 रुपए थी। इस प्रोडक्ट ने शैम्पू का नया बाजार ही खोल दिया। देखते ही देखते, यह ब्रांड शैम्पू का एक बड़ा ब्रांड बन गया। शैम्पू मार्केट की सभी कंपनियों ने सैशे में भी माल बेचने का मॉडल अपना लिया। चिक शैंपू ने शैम्पू के बाजार को ही बदल डाला।  

 

1600 करोड़ रुपए है कंपनी का टर्नओवर

वित्त वर्ष 2017-18 में केविनकेयर का कुल टर्नओवर 1600 करोड़ रुपए रहा। पिछले वित्त वर्ष में कंपनी का टर्नओवर 1300 करोड़ रुपए था। वित्त वर्ष 2018-19 में कंपनी का लक्ष्य 2000 करोड़ रुपए से ज्यादा टर्नओवर प्राप्त करना है। कंपनी के बिजनेस में पर्सनल केयर बिजनेस का सबसे बड़ा योगदान है और कंपनी को इससे 60 फीसदी रेवेन्यू प्राप्त होता है।

 

ये हैं कंपनी के ब्रांड्स

केविनकेयर के शैम्पू ब्रांड्स में चिक, नाईल औऱ मीरा है, जबकि फेयरनेस क्रीम ब्रांड फेयरएवर औऱ डियोडरेंट एंड टाक में स्पिन्ज ब्रांड है। इसके साथ ही कंपनी डेयरी, बेवरेजेज औऱ स्नैक्स बिजनेस में क्रमश: केविन और गार्डन ब्रांड्स हैं।

 

ऐसे मिलेगा निवेशकों को कमाने का मौका

केविनकेयर के मालिक रंगनाथन अपने साथ अब निवेशकों को भी कमाने का मौका देंगे। केविनकेयर साल 2020 तक अपना इनिशियल पब्लिक ऑफर (IPO) लाने की सोच रही है। आईपीओ का साइज 500 करोड़ से 1000 करोड़ रुपए के बीच होगा। 2019 में होने वाले आम चुनाव के बाद रंगनाथन का आईपीओ लाने का प्लान है। आईपीओ के लिए रास्ता बनाने के लिए हाल ही में उन्होंने कंपनी अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 100 फीसदी कर ली है। कंपनी के मेजर स्टेक होल्डर प्राइवेट इक्विटी क्रियसकैपिटल फर्म से हिस्सेदारी खरीदी है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट