Home » Market » Forexबजट से पहले 63 के स्तर पर पहुंचेगा रुपया, साल 2017 में 6.2% मजबूत हुआ

बजट से पहले 63 के स्तर पर पहुंच सकता है रुपया, इन वजहों से मिला सपोर्ट

कमोडिटी एक्सपर्ट्स का कहना है रुपए में मजूबती का सिलसिला जारी रहेगा और आगामी बजट तक रुपया 63 के स्तर तक पहुंच सकता है।

1 of
नई दिल्ली. इस साल अबतक रुपए में 6 फीसदी से ज्यादा की मजबूती आ चुकी है। वहीं, पिछले कुछ महीनों से रुपए में लगातार स्टेबिलिटी बनी हुई है। वहीं, जीडीपी में ग्रोथ आने और भारत की रेटिंग सुारने से भी रुपए को सपोर्ट मिलता दिख रहा है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि रुपए में मजूबती का सिलसिला जारी रहेगा और आगामी बजट तक रुपया 63 के स्तर तक पहुंच सकता है।

 
 
एक महीने में 1.44 फीसदी की तेजी
डॉलर के मुकाबले रुपया पिछले एक महीने में 1.44 फीसदी मजबूत हुआ है। फाइनेंशियल ईयर 2018 की दूसरी तिमाही में जीडीपी ग्रोथ में बढ़ोतरी और ग्लोबल रेटिंग एजेंसी द्वारा भारत की रेटिंग में सुधार जैसे कुछ फैक्टर रहे हैं, जिसका असर रुपए पर हुआ। बता दें कि दूसरी तिमाही में देश की जीडीपी ग्रोथ 63 फीसदी रही है। जबकि पहली तिमाही में यह 3 साल के लो 5.7 फीसदी पर आ गई थी। वहीं, रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की रेटिंग में सुधार किया था और इकोनॉमी को बेहतर आउटलुक बताया था। 
 
इन फैक्टर्स से रुपए को सपोर्ट
गुजरात चुनाव में बीजेपी की जीत से पॉलिटिकल अनिश्चितता खत्म होने से रुपए को सपोर्ट मिला है। जिससे एक हफ्ते में रुपया 0.76 फीसदी मजबूत हुआ है। केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक, शेयर बाजार में तेजी, जीएसटी के नंबर अच्छे आने की उम्मीद और क्रूड प्राइस में स्टेबलिटी से रुपए को सपोर्ट मिलेगा। वहीं, एंजेल ब्रोकिंग कमोडिटी के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने कहा कि घरेलू स्तर पर जीडीपी ग्रोथ में बढ़ोतरी का सपोर्ट मिल रहा है, जिससे रुपए में तेजी है।
 
63 के स्तर पर पहुंचेगा रुपया
अनुज गुप्ता के मुताबिक, फेडरल रिजर्व ने अमेरिका इंफ्लेशन को लेकर सवाल उठाए हैं। वहीं अमेरिकी जीडीपी ग्रोथ रेट में कमी की है, जिसका असर डॉलर पर देखने को मिलेगा। आने वाले दिनों में डॉलर के मुकाबले रुपए में स्थिरता बनी रहेगी। शॉर्ट टर्म में रुपए में तेजी रहेगी। डॉलर में कमजोरी से बजट के पहले रुपया 63 के स्तर पर पहुंच सकता है। वहीं, आगे भी बात करें तो  रुपया 65 के स्तर से कमजोर होता नहीं दिख रहा है। डॉलर के मुकाबले रुपया अगले कुछ महीनों में 63 से 65 के दायरे में ट्रेड करता दिखेगा।
 
इस साल 6.2% मजबूत हुआ रुपया
केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि एफआईआई का डेट सिक्युरिटीज में बढ़ता निवेश, स्टॉक मार्केट में तेजी और सरकार के द्वारा जारी रिफॉर्म से रुपए को सपोर्ट मिला। डॉलर में नरमी से भी रुपए को सहारा मिला है। जिसकी वजह से रुपया इस साल 6.2 फीसदी मजबूत हुआ है। बता दें कि इस साल की शुरूआत में डॉलर के मुकाबले रुपया 68.06 के स्तर पर था, जो अब 6.2 फीसदी मजबूत होकर 64.06 के स्तर पर पहुंच गया है। वहीं, पिछले क महीने से रुपए में स्‍टैबिलिटी देखी जा रही है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट