Home » Market » ForexForex Market: RBI Keeps Rates Unchanged; Rupee Hits 74/$

Forex Market: RBI ने नहीं बढ़ाई दरें, रुपए ने तोड़ा 74 का स्तर, एक डॉलर का भाव 74.02 रुपए हुआ

Forex Market: रुपया पहली बार 74 प्रति डॉलर के पार हुआ।

Forex Market: RBI Keeps Rates Unchanged; Rupee Hits 74/$

नई दिल्ली।  Forex Market: मौद्रिक नीति समीक्षा में रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। RBI ने रेपो रेट 6.5 फीसदी पर बरकरार रखा है। ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं होने की वजह से कारोबार के दौरान रुपया 74 के स्तर को तोड़ते तो हुए 74.02 प्रति डॉलर के स्तर पर लुढ़क गया, जो रुपया का अब तक का सबसे निचला स्तर है। गुरुवार के बंद भाव से रुपए में 0.62  फीसदी की गिरावट आई है।

 

इससे पहले, शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 7 पैसे की कमजोरी के साथ 73.65 के स्तर पर खुला। शुरुआती गिरावट के बाद रुपए में रिकवरी देखने को मिली है। वहीं, गुरुवार के कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 24 पैसे टूटकर 73.58 के स्तर पर बंद हुआ था। 

 

रुपया पहली बार 73 प्रति डॉलर के पार

इससे पहले, बुधवार को रुपए ने पहली बार 73 के स्तर को पार किया था। सोमवार को 42 पैसे की गिरावट में 72.91 रुपए प्रति डॉलर पर बंद होने वाला रुपया बुधवार को 35 पैसे टूटकर 73.26 रुपए प्रति डॉलर पर खुला। कारोबार की शुरुआत में यह 72.90 रुपए प्रति डॉलर के उच्चतम स्तर तक पहुंचा। लेकिन, इसके बाद पूरे समय रुपए पर दबाव रहा।

 

इन वजहों से रुपए में आई कमजोरी

दुनिया की अन्य प्रमुख करंसीज के बास्केट में डॉलर की मजबूती, ऑयल इंपोर्टर्स की डॉलर लिवाली, अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों के चार साल के उच्चतम स्तर पर टिके रहने और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की पूंजी निकालने के दबाव में यह 73.42 रुपए प्रति डॉलर के निचले स्तर तक लुढ़क गया। अंतत: भारतीय मुद्रा गत दिवस की तुलना में 43 पैसे टूटकर 73.34 रुपए प्रति डॉलर पर बंद हुई।

 

इस साल करीब 15 फीसदी टूटा रुपया

इस साल रुपए में करीब 15 फीसदी तक कमजोरी आई है। क्रूड की कीमतें बढ़ने, ट्रेड वार, कैड बढ़ने की आशंका, डॉलर में मजबूती, घरेलू स्तर पर निर्यात घटने और राजनीतिक अस्थिरता जैसे फैक्टर्स की वजह से रुपए पर लगातार दबाव बना हुआ है।


75 डॉलर का स्तर छू सकता है रुपया

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट, रिसर्च (कमोडिटी एंड करंसी) अनुज गुप्ता का कहना है कि क्रूड की कीमतों में बढ़ोतरी से डॉलर कमजोर हुआ है। मंगलवार को क्रूड ने 85 डॉलर का स्तर पार किया और 85.32 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया जो 4 साल का हाई है। इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें लगातार ऊंची बनी हुई हैं। जिससे आने वाले दिनों में डॉलर के मुकाबले रुपए 75 डॉलर का स्तर छू सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट