बिज़नेस न्यूज़ » Market » Forexरुपया 16 महीने के निचले स्तर पर, 7 पैसे गिरकर 68.14 प्रति डॉलर पर खुला

रुपया 16 महीने के निचले स्तर पर, 7 पैसे गिरकर 68.14 प्रति डॉलर पर खुला

डॉलर के मुकाबले रुपया 16 महीने के निचले स्तर पर खुला।

rupee open 7 paisa down against dollar

नई दिल्ली.  रुपए में गिरावट का सिलसिला बुधवार को जारी है। डॉलर के मुकाबले रुपया 16 महीने के निचले स्तर पर खुला। रुपया 7 पैसे की कमजोरी के साथ 68.14 के स्तर पर खुला। मंगलवार को रुपए में 68 के स्तर को तोड़ा था। डॉलर की तुलना में रुपए 56 पैसे की कमजोरी के साथ 68.07 के स्तर पर बंद हुआ था। कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस और जनता दल (सेक्युलर) के मिलकर सरकार बनाने के संकेतों से रुपए में गिरावट देखने को मिली थी।

 

रुपए में कमजोरी की अन्य वजह
- इसके अलावा  तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी और इंपोर्टर्स द्वारा ज्यादा डॉलर की ज्यादा खरीददारी भी एक वजह रही।
- पोर्टफोलियो इन्वेस्टर भी तेजी से सरकारी बॉन्ड्स से पैसा निकल रहे हैं। इसका भी रुपए पर असर हुआ है।
- वहीं अमेरिका में बैंकों द्वारा डॉलर खरीदने से डॉलर इंडेक्स में मजबूती देखने को मिल रही है, जिसका असर भी रुपए दिखा।

 

रुपए की ट्रेडिंग रेंज

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक, डॉलर के मुकाबले रुपया आज 67.31-68.69 की रेंज में ट्रेड कर सकता है।

 

यह भी पढ़ें- 56 पैसे की कमजोरी के साथ तोड़ा 68 का लेवल

 

रुपए की गिरावट का क्या होगा असर

रुपए की गिरावट से महंगाई बढ़ने का डर हो जाता हे। इससे एक्सपोर्ट महंगा होता है, जिससे कीमतें बढ़ सकती हैं। रुपए में कमजोरी से देश के सरकारी घाटे पर दबाव बढ़ने का डर रहता है जिसके चलते सरकार को खर्च कंट्रोल करना पड़ सकता है, इसका सीधा असर देश की विकास दर पर हो सकता है।
भारत के इंपोर्ट का बहुत बड़ा हिस्सा पेट्रोलियम उत्पादों के इंपोर्ट में जाता है और ये डॉलर में भुगतान किया जाता है। ऐसे में रुपए में गिरावट की वजह से क्रूड का इंपोर्ट बिल बढ़ेगा। इससे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा हो सकता है।

 

यह भी पढ़ें- आज इन शेयरों में कमाई का मौका, ऐसे उठाएं फायदा

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट