बिज़नेस न्यूज़ » Market » Forexरुपया 15 महीने के निचले स्तर पर लुढ़का, 27 पैसे टूटकर 67.13/$ पर बंद

रुपया 15 महीने के निचले स्तर पर लुढ़का, 27 पैसे टूटकर 67.13/$ पर बंद

डॉलर के मुकाबले रुपया 27 पैसे टूटकर 67.14 के स्तर पर बंद हुआ।

1 of

नई दिल्ली. मजबूत शुरुआत के बाद सोमवार को रुपया कमजोर होकर 15 महीने के निचले स्तर 67.13 प्रति डॉलर पर बंद हुआ। इसकी मुख्य तेल की कीमतों में बढ़ोत्तरी और इंपोर्टर्स द्वारा ज्यादा डॉलर की ज्यादा खरीद रही। डीलर्स ने कहा कि पोर्टफोलियो इन्वेस्टर भी तेजी से सरकारी बॉन्ड्स से पैसा निकल रहे हैं। इसके चलते रुपए में भारी कमजोरी देखने को मिली।

 

 

रुपए ने तोड़ा 67 का लेवल
कारोबार के शुरुआती 30 मिनट के दौरान ही रुपया प्रति डॉलर 67 के स्तर को पार कर गया और 67.13 पर बंद हुआ। यह 8 फरवरी, 2017 के बाद का सबसे निचला स्तर है। इससे पहले शुक्रवार को डॉलर की तुलना में भारतीय रुपया 66.86 के स्तर पर बंद हुआ था।

 

 

66.90 का स्तर टूटने से बढ़ी घबराहट
डीलर्स ने कहा कि ऑयल इंपोर्टर्स द्वारा भारी मात्रा में डॉलर की खरीद से अप्रैल का प्रति डॉलर 66.90 का सपोर्ट लेवल टूट गया। पिछले कुछ हफ्तों से तेल की कीमतों में लगातार दिख रही मजबूती के कारण ऑयल इंपोर्ट्स लगातार डॉलर की खरीद कर रहे हैं। 
डीलर्स ने कहा कि 66.90 प्रति डॉलर का सपोर्ट लेवल टूटने के बाद अधिकांश इंपोर्टर्स और फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स में डॉलर की खरीददारी की होड़ मच गई। 

 

 

ट्रिगर हुए अधिकांश स्टॉपलॉस
सरकार के स्वामित्व वाले बैंक के एक डीलर ने कहा, ‘66.90 एक अच्छा रेजिस्टैंस लेवल था। एक बार जैसे ही यह स्तर टूटा, अधिकांश स्टॉप लॉस ट्रिगर हो गए।’ उन्होंने कहा कि इसके बाद मार्केट में घबराहट बढ़ गई। 
शुक्रवार को रुपए में जोरदार गिरावट देखने को मिली थी। डॉलर के मुकाबले रुपया 22 पैसे की टूटकर 66.86 के स्तर पर बंद हुआ था। शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपए की शुरुआत भी सुस्ती के साथ हुई थी। डॉलर के मुकाबले रुपया 1 पैसे गिरकर 66.65 के स्तर पर खुला था। वहीं, गुरूवार के कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 66.64 पर बंद हुआ था।

 

 

4 महीने के हाई पर डॉलर इंडेक्स
वहीं डॉलर इंडेक्स में भी खासी मजबूती देखने को मिली, जिसे अमेरिका में इंटरेस्ट रेट में बढ़ोत्तरी की संभावनाओं से खासा सपोर्ट मिल रहा है। 
अमेरिका में कमजोर जॉब्स और वेजेस डाटा से अमेरिकी इकोनॉमी में कमजोरी के संकेत मिले, लेकिन डॉलर की मजबूती कायम रही। शुक्रवार को डॉलर इंडेक्स 92.57 की तुलना में 92.80 पर रहा था।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट