बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » Gold Silverदुनिया की इन खदानों से निकलता है सबसे ज्यादा सोना, जानिए कौन है नंबर 1

दुनिया की इन खदानों से निकलता है सबसे ज्यादा सोना, जानिए कौन है नंबर 1

फोर्ब्स ने हाल में दुनिया की दस सबसे बड़ी सोने की खदान को लेकर नई लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट में उज्बेकिस्तान की मुरुंताउ खान पहले पायदान पर है।

1 of
 
नई दिल्ली। एक समय दुनिया में ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका और अमेरिका की गोल्ड माइन्स से सबसे ज्यादा सोना निकाला जाता था, लेकिन फोर्ब्स द्वारा जारी हाल की लिस्ट में उज्बेकिस्तान का नाम सबसे ऊपर आ गया है। 2015 में उज्बेकिस्तान की मुरुंताउ खान से 61 टन सोना निकाला गया। हम यहां दुनिया की ऐसी खदानों के बारे में बता रहे हैं, जहां से बड़ी मात्रा में सोना निकलता है...
 
सोने का उत्पादन रिकॉर्ड स्तर पर
 
फोर्ब्स के मुताबिक साल 2015 में सोने का उत्पादन अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। यह 1.8 फीसदी बढ़कर 3211 टन हो गया है। सबसे ज्यादा ग्रोथ मैक्सिको, इंडोनेशिया, और कजागिस्तान खान में आई है। यह करीब 18 फीसदी बढ़कर 133 टन  रहा है। वहीं, इंडोनेशिया में उत्पादन 20 फीसदी और कजागिस्तान में 29 फीसदी बढ़ा है। हालांकि सोने की कीमतों में गिरावट से कंपनियों के मुनाफे पर दबाव आ रहा है। 
 
 
खान का नाममुरुंताउ
देशउज्बेकिस्तान
रैंक-1
कुल सोने का उत्पादन: 61 टन सालाना
 
मुरुंताउ की खदानों की बात करें तो दुनिया में सबसे अधिक सोने का उत्पादन उज्बेकिस्तान स्थित इसी खदान में होता है। इस खदान से 2014 और 2015 में कुल 61 टन सोने का उत्पादन हुआ था। यह पूरी तरह से ओपन पिट माइन है। इस खदान की लंबाई 3.35 किमी, चौड़ाई 2.5 किमी और 560 मीटर गहराई है। एक अनुमान के मुताबिक, अभी भी इस खदान में 1700 लाख औंस सोना निकाला जा सकता है।
 
 
 
 
आगे जानिए कहां है दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा सोना उत्पादन करने वाली खान....
 
खान का नामग्रासबर्ग
देशइंडोनेशिया
रैंक-2
कुल सोने का उत्पादन: 42.3 टन सालाना
 
 
इंडोनेशिया में स्थित यह खदान ओपन पिट माइन है। सोने के उत्पादन के आधार पर यह दुनिया में दूसरे नंबर पर है। बीते साल इस खदान से 42.3 टन सोना निकाला गया था। इस खदान में बड़े पैमाने पर खुदाई जारी है, जिसके लिए यहां की अथॉरिटी ने 2021 तक खनन की इजाजत दी है। इस खदान में 18 हजार लोग रोजाना काम करते हैं। ​
 
 
 
आगे जानिए दुनिया की तीसरे नंबर की यह खदान कितना करती है सोने का उत्पादन....
 
खान का नामगोल्डस्ट्राइक
देशयूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका
रैंक-3
कुल सोने का उत्पादन32.8 टन सालाना
 
अमेरिका की यह खान 1987 में मिली थी। इस खान में दो कंपनियां बैर्रिक और गोल्‍ड कॉर्प सयुंक्त रूप से खुदाई का काम कर रही हैं। इसमें बैर्रिक की हिस्‍सेदारी 60 फीसदी और गोल्ड कॉर्प की हिस्‍सेदारी 40 फीसदी है। इस खदान की शुरुआत डोमिनिकन रिपब्लिक में 2012 में हुई थी। 2015 में इस खदान से 32.8 टन सोने का उत्पादन हुआ था।
 
 
अगली स्लाइड में जानिए चौथे पायदान पर कौन सी खान है....
 
खान का नामकोर्ट्ज
देशयूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका
रैंक-4
कुल सोने का उत्पादन31.1 टन सालाना
 
 
अमेरिका की यह खान दुनिया में चौथी सबसे बड़ी सोने सोने का उत्पादन करती है। इस खदान को बैरिक नाम की कंपनी चलाती है। इसमें कुल 4 हजार लोग काम करते है। कंपनी ने खदान में विस्तार के लिए 15.3 करोड़ डॉलर के निवेश की योजना बनाई है। इससे कंपनी की कुल उत्पादन क्षमता 3 लाख औंस सालाना हो जाएगी।
 
 
आगे जानिए यह छोटा सा देश कैसे करता है 29 टन सोने का उत्पादन...
 
खान का नामप्यूबेलो वेजो
देशडोमेनिकन रिपब्लिक
रैंक-5
कुल सोने का उत्पादन: 29.7 टन सालाना
 
कैरेबियन राष्ट्र डोमेनिकन रिपब्लिक की इस खदान का मालिकाना हक दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड उत्पादक कंपनी बैरिक और गोल्ड कॉर्प के पास है। इस खदान में बैरिक गोल्ड की 60 फीसदी और गोल्डकॉर्प की 40 फीसदी  हिस्सेदारी है। कनाडा की ये कंपनी 2012 से इन खान से उत्पादन कर रही है। कैरेबियन राष्ट्र के साथ हुई डील में कुल उत्पादन का 7.5 फीसदी देश को देना होता है।
 
 
छठे नंबर पर हैं यह लेटिन अमेरिकी देश....
 
खान का नामयानकोचा
देशपेरू
रैंक-6
कुल सोने का उत्पादन: 28.6  टन सालाना
साउथ अमेरिका स्थित इस खदान पर न्यूमोंट, मिनास ब्यूनावेंचरा और इंटरनेशनल फाइनेंशियल कॉर्प की हिस्सेदारी है। ये तीनों कंपनियां ही मिलकर इसे चलाती हैं। यहां लैटिन अमेरिका की सबसे बड़ी सोने की खान है। यह खान नॉर्थ-ईस्ट लीमा से 800 किलोमीटर की दूरी पर है। यह समुद्र तल से 3500-4100 मीटर की ऊंचाई पर है। इस खदान से 2014 में 30.2 और 2015 में 28.6 टन सोना निकाला गया था।
 
 
अगली स्लाइड में जानिए दुनिया के सातवीं सबसे बड़ी खान के बारे में...
 
खान का नामकार्लिन ट्रेंड
देशअमेरिका
रैंक-7
कुल सोने का उत्पादन: 27.6  टन सालाना
 
न्यूमोंट कार्लिन ट्रेंड माइन कॉम्प्लेक्स अमेरिका के नेवाडा में स्थित है। इस खदान का मालिकाना हक न्यूमोंट के पास है। यह खदान भूमिगत होने के साथ-साथ ओपन पिट माइन भी है। सोने के उत्पादन के लिहाज से यह दुनिया में पांचवें स्थान पर आती है। बीते साल इस माइन का उत्पादन दो फीसदी घटकर 27.6 टन रह गया है। जबकि 2014 में 28.2 टन सोने का उत्पादन हुआ था। न्यूमोंट इस साल गोल्डन जुबली मना रही है।
 
 
आगे जानिए आठवें नंबर है मैक्सिको की यह बड़ी खान....
 
 
खान का नामपेनासक्विंटो
देशमेक्सिको
रैंक-8
कुल सोने का उत्पादन: 26.8  टन सालाना
मेक्सिको में स्थित इस खान को कनाडा की सबसे बड़ी कंपनी गोल्डकॉर्प चलाती है। यह खान कनाडा के जेकाटेस राज्य में स्थिति है। यह दुनिया की बड़ी पिट माइन है और यहां पर बड़ी मात्रा में चांदी का भी उत्पादन किया जाता है। इसके अलावा इस खान से जिंक और लेड का उत्पादन भी किया जा रहा है।
 
 
अगली स्लाइड में जानिए नौंवे नंबर पर आती है इस देश की यह खान...
 
खान का नामलिहिर
देशपापुआ न्यू गिनी
रैंक-9
कुल सोने का उत्पादन: 25  टन सालाना
 
पापुआ न्यू गिनी के एनिओलम आइलैंड में 1982 में सोने की माइंस का पता चला था। इसके बाद 1997 में लिहिर खान से न्यूक्रस्ट कंपनी ने सोने का उत्पादन शुरु किया। कंपनी ने हाल में घोषणा की है कि वह विस्तार पर ज्यादा खर्च कर उत्पादन बढ़ाने की योजना पर काम कर रही है। कंपनी ने सोने का उत्पादन 23 फीसदी बढ़ा दिया है। 2015 में यह 20.3 टन से बढ़कर 25 टन हो गया है।
 
 
अगली स्लाइड में पढ़िए कौन है इस लिस्ट में दसवें पायदान पर...
खान का नामबोडिंगटन
देशऑस्ट्रेलिया
रैंक-10
कुल सोने का उत्पादन: 24.7 टन सालाना
 
ऑस्ट्रेलिया की बोडिंगटन खान में सोना और कॉपर का बड़ा भंडार है। यह खान ऑस्ट्रेलिया के पर्थ के साउथ-ईस्ट 75 मील दूर स्थित है। सन 2009 में इस खान से पहली बार सोना निकाला गया था। इस कंपनी का मालिकाना हक बोडिंगटन के पास है। अनुमान लगाया है कि इस खान में 1.95 करोड़ औंस सोने का भंडार है।
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट